ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : प्रदेश में आज 125 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि, 3 ने गवाई जान, देखिए जिलेवार आंकड़ें…CG BREAKING : करंट की चपेट में आने से एक किसान समेत दो बैलों की हुई दर्दनाक मौत, इलाके में मचा हड़कंप, जांच में जुटी पुलिस16 माह बाद मल्टिप्लेक्स में फिर लौटी रौनक, 50 फीसदी दर्शकों के साथ गुलजार हुआ सिनेमा हॉल, वैक्सीनेटेड लोगों के लिए खास ऑफर, देखें VIDEO…1 अगस्त से बदल जाएंगे नियम, जानिए LPG के दामों को लेकर क्या है अपडेट, बैंक की कई सेवाएं भी हो जाएगी महंगी, पढ़िए पूरी खबर….जब सोनू सूद मुंबई पहुंचे तो उनके पास केवल इतने रुपये थे, फिर उन्हें इस बात का लगने लगा था डर, लोकल ट्रेन के धक्के खाते हुए…. ,ऐसे बने रियल लाइफ हीरो…Tiger Shroff से सेट पर भिड़ गया शख्स, फिर एक्टर ने दिया करारा जवाब, जानिए फिर क्या हुआ…जो विधायिका अपने छेत्र में विकास नहीं कर सकती उनसे प्रदेश के विकास के लिए आशा रखना मतलब मन में लड्डू खाना – पंकज जैनरायपुर से गोवा की राह हुई आसानः तीन अगस्त से उड़ान भरेगी फ्लाइट, इन दो जगहों के लिए भी शुरू होगी विमान सेवा, जानिए पूरा शेड्यूलविधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत और मुख्यमंत्री बघेल ने ‘चंदैनी गोंदा-एक सांस्कृतिक यात्रा‘ पुस्तक का किया विमोचनCRIME : प्रेम विवाह से नाराज पिता ने बेटी को उतारा मौत के घाट, पहले जन्मदिन मनाने के बहाने अपने पास बुलाया, फिर हत्या कर नहर में फेंक दी लाश

TCP24 की खबर का असरः कलेक्टर ने जिला अस्पताल का किया औचक निरीक्षण, अव्यवस्था को लेकर अस्पताल प्रबंधन को लगाई फटकार

Deepak SahuJuly 20, 20211min


 

हेमलाल साहू/धमतरी. जिले में एक बार फिर टीपीसी 24 की खबर का बड़ा असर हुआ है. जिला अस्पताल में अव्यवस्था को लेकर खबर प्रकाशन के बाद कलेक्टर पीएस एल्मा ने संज्ञान लिया. कलेक्टर पीएस एल्मा ने जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया उन्होंने अव्यवस्था को लेकर अस्पताल प्रबंधन को जमकर फटकार लगाई. उन्होंने स्पष्ट कहा है कि मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने में कोई कमी नहीं होनी चाहिए इसके लिए चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित भी किया.

 

READ MORE : बड़ी खबरः जीपी सिंह के मामले पर 5 घंटे तक हुई तीखी बहस, हाईकोर्ट ने सुरक्षित रखा अपना फैसला

 

उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए शासन ने जिला अस्पताल में मरीजों को बेहतर इलाज की सुविधा प्रदान करने का स्पष्ट निर्देश जारी किया है इसके बाद भी जिला अस्पताल में अव्यवस्था हावी है अस्पताल के पैथोलॉजी लैब में कई प्रकार की जांच नहीं हो पा रही है वही इस स्टाफ की कमी के चलते मरीजों को ओपीडी की पर्ची बनवाने के लिए भी भारी परेशानी हो रही है मरीज और उनके परिजनों को हो रही परेशानी तथा जिला अस्पताल की अव्यवस्था को लेकर टीपीसी-24 न्यूज़ की टीम ने अस्पताल का जायजा लेकर प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किया. जिसे जिला प्रशासन ने गंभीरता से लिया है.

 

इसी कड़ी में मंगलवार की देर शाम 7:00 बजे कलेक्टर पीएसएल ने जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होंने सम्पूर्ण अस्पताल परिसर का मुआयना करने हुए आईपीडी एवं ओपीडी वार्ड, ब्लड बैंक, ड्रेसिंग रूम, वेटिंग हाल, लैब, हेल्प डेस्क, प्रसूति कक्ष, पोषण पुनर्वास केन्द्र, एसएनसीयू, स्टाफ एवं चिकित्साधिकारी कक्ष, औषधि वितरण कक्ष सहित महिला व पुरूष वार्डों का निरीक्षण कर भर्ती किए गए मरीजों से चर्चा कर अस्पताल प्रबंधन की टीम को आवश्यक समझाइश दी.

 

READ MORE : गोधन न्याय योजना के एक साल पूरेः गो पालकों को एक साल में 97.55 करोड़ रूपए का भुगतान, सीएम ने कहा- जैविक राज्य के रूप में स्थापित होगा छत्तीसगढ़

 

 अव्यवस्था को लेकर जताई नाराजगी

अस्पताल में मौजूदा व्यवस्था पर कलेक्टर ने नाराजगी जाहिर करते हुए सभी व्यवस्थाओं को फौरी तौर पर व्यवस्थित करने के सख्त निर्देश चिकित्साधिकारी को दिया. साथ ही यह भी कहा कि वे सप्ताह में दो दिन दौरा करके दिए गए निर्देशों पर अमल का प्रतिपरीक्षण करेंगे.

 मूलभूत सुविधा को अपडेट करने दिया निर्देश

कलेक्टर एल्मा ने जिला अस्पताल का निरीक्षण करने के बाद अस्पताल प्रबंधन को अस्पताल में उपयोग में नहीं आने वाली सामग्री का जल्द से जल्द अपलेखन करें. उन्होंने स्वच्छता पर विशेष जोर देते हुए बिजली, पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं की जानकारी ली. साथ ही जिला अस्पताल में आने वाले औसतन मरीजों व उपलब्ध चिकित्सा सेवाओं के बारे में भी पूछा. इस दौरान उन्होंने कहा कि अस्पताल जैसी अत्यावश्यक सेवाओं के मामले में सदैव गम्भीरता बरतें. उन्होंने ऑक्सीजन प्लांट एवं आपातकालीन सेवाओं के बारे में भी जानकारी लेकर जरूरी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने की समझाइश चिकित्सकों की टीम को दी.

 

 ऑक्सीजन प्लांट के बारे में ली जानकारी

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ डीके तुर्रे ने बताया कि जिला अस्पताल में वर्तमान में उपलब्ध 200 बिस्तर में से 85 बिस्तरों में ऑक्सीजनयुक्त बेड हैं, जिनमें से 40 बिस्तर कोविड हॉस्पीटल तथा शेष ऑक्सीजनयुक्त बिस्तर महिला, पुरूष एवं शिशु वार्ड में उपलब्ध हैं. इस दौरान उन्होंने कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर को लेकर सतर्क व मुस्तैद रहने स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देशित किया.

 

 

XCheck Digital Badge

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें







lower banner