ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : प्रदेश में आज 125 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि, 3 ने गवाई जान, देखिए जिलेवार आंकड़ें…CG BREAKING : करंट की चपेट में आने से एक किसान समेत दो बैलों की हुई दर्दनाक मौत, इलाके में मचा हड़कंप, जांच में जुटी पुलिस16 माह बाद मल्टिप्लेक्स में फिर लौटी रौनक, 50 फीसदी दर्शकों के साथ गुलजार हुआ सिनेमा हॉल, वैक्सीनेटेड लोगों के लिए खास ऑफर, देखें VIDEO…1 अगस्त से बदल जाएंगे नियम, जानिए LPG के दामों को लेकर क्या है अपडेट, बैंक की कई सेवाएं भी हो जाएगी महंगी, पढ़िए पूरी खबर….जब सोनू सूद मुंबई पहुंचे तो उनके पास केवल इतने रुपये थे, फिर उन्हें इस बात का लगने लगा था डर, लोकल ट्रेन के धक्के खाते हुए…. ,ऐसे बने रियल लाइफ हीरो…Tiger Shroff से सेट पर भिड़ गया शख्स, फिर एक्टर ने दिया करारा जवाब, जानिए फिर क्या हुआ…जो विधायिका अपने छेत्र में विकास नहीं कर सकती उनसे प्रदेश के विकास के लिए आशा रखना मतलब मन में लड्डू खाना – पंकज जैनरायपुर से गोवा की राह हुई आसानः तीन अगस्त से उड़ान भरेगी फ्लाइट, इन दो जगहों के लिए भी शुरू होगी विमान सेवा, जानिए पूरा शेड्यूलविधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत और मुख्यमंत्री बघेल ने ‘चंदैनी गोंदा-एक सांस्कृतिक यात्रा‘ पुस्तक का किया विमोचनCRIME : प्रेम विवाह से नाराज पिता ने बेटी को उतारा मौत के घाट, पहले जन्मदिन मनाने के बहाने अपने पास बुलाया, फिर हत्या कर नहर में फेंक दी लाश

चिंता न करें, पुराने सोने पर भी मिलेंगे अच्छे दाम, ज्वेलरी दुकान जाकर बस करना होगा ये काम

Som dewanganJune 21, 20211min


 

नई दिल्ली : सोना खरीदते समय एक बात हमेशा दिमाग में रहती है कि मुसीबत में अगर हम इस सोने को बेचेंगे तो क्या हमें भी वहीं कीमत मिल पाएगी, जिस पर हमने खरीदा है. इसी सवाल के कारण हम भरोसेमंद और विश्वासी सुनार से गहने खरीदने की भी बात करते हैं. हमें बिना हॉलमार्क के सोना खरीदते वक्त इस बात का भी डर होता है कि कहीं इसमें मिलावट न हो…. क्योंकि बिना हॉलमार्क के ज्वेलरी की कोई गारंटी नहीं होती. डर इस बात का भी होता है कि अगर मिलावट हुई तो मुसीबत में भी फंस सकते हैं. लेकिन अगर आपके पास बिना हॉलमार्क के ज्वेलरी है तो आपको किसी प्रकार से चिंतित होने की जरूरत नहीं है. ऐसी ज्वेलरी को बेचने में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी.

 

दरअसल, सोने की कीमत उसकी शुद्धता के आधार पर तय की जाती है. ऐसे में आप जब सोना बेचने के लिए जाएंगे तो उसकी शुद्धता के आधार पर कीमत को आंका जाएगा. सारे सुनार पुराने गहनों को पिघलाकर ही नए गहने बनाते हैं. ऐसे में उनके लिए पुराना सोना कच्चा माल ही होता है. इसलिए नए नियम लागू होने के बाद भी आपको आपके सोने की कीमत मिल जाएगी. इस दौरान आप पुराना सोना देकर नया सोना भी ले सकते हैं और चाहें तो पुरानी ज्वेलरी पर हॉलमार्किंग करवा सकते हैं.

READ MORE : पीएम ने दिया विवादित बयान, रेप के लिए महिलाओं के कपड़ों को बताया जिम्मेदार, खूब हो रही आलोचना, सोशल मीडिया पर आक्रोश

 

कैसे होगी पुरानी ज्वेलरी पर हॉलमार्किंग?

पुरानी ज्वेलरी पर हॉलमार्किंग के लिए आपको 35 रुपये की फीस देनी होगी और इस पर जीएसटी अलग से चुकाना होगा. साथ ही आप न्यूनतम 200 रुपये देकर अपनी पुरानी ज्वेलरी की शुद्धता की जांच करवा सकते हैं, इस पर आपको अलग से जीएसटी देना होगा. इस जांच के लिए देशभर में सेंटर बनाए गए हैं, जिसकी जानकारी आप अपने सुनार से भी ले सकते हैं.

 

READ MORE : BIG BREAKING : बदले गए कई जिलों के आबकारी अधिकारी, सहायक आयुक्त और उपायुक्त सहित 17 अधिकारियों का ट्रांसफर, देखे सूची

 

हॉलमार्किंग से क्या होगा फायदा?

हॉलमार्किंग से ग्राहक को फायदा ही फायदा है. इसके लागू होने के बाद सुनार आपसे धोखा नहीं कर सकता है और वो सोने में तांबा या पीतल मिलाकर नहीं बेच सकता. दरअसल, सोना खरीदते समय लोगों से 22 कैरेट सोने की कीमत वसूली जाती है. लेकिन जब ग्राहक किसी परेशानी में उसी सोने को बेचने जाता है तो उसे इस बात की जानकारी मिलती है कि उसके सोने में बड़ी मात्रा में मिलावट की गई है, जिसकी वजह से उसे उतना पैसा नहीं मिल पाता जितने में उसने खरीदा था. ऐसे में सरकार ने लोगों को इसी ठगी से बचाने के लिए हॉलमार्किंग को अनिवार्य करने का फैसला लिया है. इसकी मार्किंग से आपको पता चल जाएगा कि आपका सोना कितने कैरेट का है, क्योंकि ये सोने पर अंकित होगा.

 

नए कानून में सजा का प्रावधान

नए कानून के मुताबिक अगर सुनार हॉलमार्किंग के नियमों को तोड़ता है तो उस पर कम से कम एक लाख रुपये और ज्वेलरी की कीमत का 5 गुना ज्यादा तक जुर्माना देना पड़ सकता है. इसके साथ ही सजा का भी प्रावधान है. उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर बताया कि, स्वर्ण आभूषणों पर हॉलमार्क की अनिवार्यता, उपभोक्ताओं और ज्वेलर्स के हित में है. इससे ग्राहकों को शुद्धता की गारंटी मिलेगी, नकली और अशुद्ध सोने द्वारा ठगे जाने की आशंका समाप्त होगी और ज्वेलर्स की विश्वसनीयता में वृद्धि होगी.

256 जिलों में हॉलमार्किंग अनिवार्य

सरकार ने 2019 में स्वर्ण आभूषणों और कलाकृतियों पर 15 जनवरी, 2021 से हॉलमार्किंग अनिवार्य किए जाने की घोषणा की थी. लेकिन बाद में समयसीमा 4 महीने के लिए 1 जून तक बढ़ा दी गई. इसके बाद सुनारों की मांग पर एक बार फिर समयसीमा को 15 जून कर दिया गया था. हालांकि, 16 जून, 2021 में 256 जिलों में हॉलमार्किंग अनिवार्य रूप से लागू कर दिया गया और अगस्त 2021 तक इस मामले में कोई जुर्माना नहीं लगाया जाएगा.

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें







lower banner