ताज़ा ख़बर
चिंता न करें, पुराने सोने पर भी मिलेंगे अच्छे दाम, ज्वेलरी दुकान जाकर बस करना होगा ये कामBIG BREAKING : बदले गए कई जिलों के आबकारी अधिकारी, सहायक आयुक्त और उपायुक्त सहित 17 अधिकारियों का ट्रांसफर, देखे सूचीबड़ी खबर : पंडो जनजाति पर फूटा दबंगों का गुस्सा, लगाया मछली चोरी का आरोप, जनचौपाल लगाकर बेरहमी से की पिटाई, 35 हजार जुर्माने का जारी किया फरमानजब पीछे से बजा म्यूजिक तो जाग उठा पंजाबी, बीच मैदान में भांगड़ा करते दिखें कप्तान विराट कोहली, सोशल मीडिया में वायरल हुआ वीडियोRAIPUR: महंगाई को लेकर विरोध: बैलगाड़ी में सवार होकर निगम मुख्यालय निकले महापौर ढेबर, तेल के दामो में लगातार बढ़ोत्तरी को लेकर किया प्रदर्शन, मोदी सरकार को लेकर कही ये बड़ी बातCG CRIME: युवक और युवती ने एक ही फंदे में फांसी लगाकर की खुदकुशी, दोनों एक दिन पहले घर से निकले थे, जांच में जुटी पुलिसअब 60 रुपये में भरवा सकेंगे पेट्रोल! मोदी सरकार करने जा रही है ये बड़ा ऐलान, कंट्रोल होगा महंगाईInternational yoga Day : रायपुर में ट्रांसजेंडर के समुदाय ने मनाया Health अंतरराष्ट्रीय विश्व योग दिवस, कहा दवा हमारे शरीर के अंदर है..इस खिलाड़ी ने खेली तूफानी पारी, 52 चौकों और 5 छक्‍कों से जड़ दिया तिहरा शतकबड़ी खबर : पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 880 ग्राम गांजा के साथ 2 आरोपी गिरफ्तार

शासकीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर : डीए बहाली के बाद क्या पड़ेगा सैलरी पर असर, जानें यहां…

Mahendra Kumar SahuJune 11, 20211min


नई दिल्ली।
  केन्द्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर सामने आ रही है। लंबे समय से अटके भत्ते पर से अब संकट के बादल छटते नजर आ रहे हैं। केन्द्र सरकार डीए देने का प्लान बना रही रही है। अगले माह कर्मचारियों के खाते में भत्ता ट्रांसफर कर दिया जाएगा। खबर है कि ये भत्ता सावतें वेतन आयोग के तहत दिया जाना है। कर्मचारियों की सैलरी फिक्सेशन में फिटमेंट फैक्टर का अहम रोल हो सकता है। फिटमेंट फैक्टर लगने की वजह से ही केंद्रीय कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी सीधे 6000 रुपए से 18000 रुपये पहुंच गई थी।

 

आपको बता दें केंद्रीय कर्मचारियों के सातवें वेतन आयोग के वेतन मैट्रिक्स और सातवें सीपीस सैलरी का निर्धारण इस तरह से किया जाएगा किसी कर्मचारी के ऊअ और सातवें सीपीस बेसिक वेतन का भी अहम योगदान होगा।

 

 

केंद्र सरकार के पास कर्मचारियों के डीए की तीन किस्तें लंबित हैं, जिसका भुगतान सरकार द्वारा किया जाना है। कर्मचारियों और पेंशनर्स का 1 जनवरी 2020, 1 जुलाई 2020 और 1 जनवरी 2021 का डीए और डीआर लंबित है। केंद्रीय कर्मचारियों का 1 जून 2020 से तीन ऊअ की किस्तों का भुगतान होना है, जिसे केंद्र सरकार ने 30 जून 2021 तक फ्रीज कर दिया था।

 

 

7वें वेतन आयोग फिटमेंट फैक्टर लागू होने से कर्मचारियों की सैलरी में इजाफा होगा. शिव गोपाल मिश्रा ने एक उदाहरण के जरिए समझाते हुए कहा कि अगर किसी केंद्रीय कर्मचारी का मासिक वेतन 20,000 रुपये है तो नए नियमों के लागू होने पर उसका मासिक वेतन 51,400 (200072.57) रुपये होगा।

 

 

उन्होंने आगे कहा कि बेसिक सैलरी किसी कर्मचारी के कुल मासिक सैलरी का करीब 50 फीसदी होता है। इस तरह अगर कोई केंद्रीय कर्मचारी की बेसिक सैलरी अगर 20 हजार रुपये है तो उसकी ग्रॉस मंथली सैलरी करीब 1,02,800 (51,40072) रुपये होगी।

 

 

इसके बाद इस सैलरी पर मंथली ढऋ कंट्रीब्यूशन, सोर्स पर इनकम टैक्स आदि कटौती की जाएगी। उसके बाद कर्मचारी के हर महीने हाथ में आने वाली सैलरी का निर्धारण होगा।

 

 

7वें वेतन आयोग की सिफारिशों के मुताबिक, फिटमेंट फैक्टर 2.57 है. केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी तय करते समय, भत्तों के अलावा जैसे महंगाई भत्ता, यात्रा भत्ता, हाउस रेंट अलाउंट कर्मचारी की बेसिक सैलरी को 7वें वेतन आयोग के फिटमेंट फैक्टर 2.57 से गुणा करके निकाला जाता है।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें