ताज़ा ख़बर
चिंता न करें, पुराने सोने पर भी मिलेंगे अच्छे दाम, ज्वेलरी दुकान जाकर बस करना होगा ये कामBIG BREAKING : बदले गए कई जिलों के आबकारी अधिकारी, सहायक आयुक्त और उपायुक्त सहित 17 अधिकारियों का ट्रांसफर, देखे सूचीबड़ी खबर : पंडो जनजाति पर फूटा दबंगों का गुस्सा, लगाया मछली चोरी का आरोप, जनचौपाल लगाकर बेरहमी से की पिटाई, 35 हजार जुर्माने का जारी किया फरमानजब पीछे से बजा म्यूजिक तो जाग उठा पंजाबी, बीच मैदान में भांगड़ा करते दिखें कप्तान विराट कोहली, सोशल मीडिया में वायरल हुआ वीडियोRAIPUR: महंगाई को लेकर विरोध: बैलगाड़ी में सवार होकर निगम मुख्यालय निकले महापौर ढेबर, तेल के दामो में लगातार बढ़ोत्तरी को लेकर किया प्रदर्शन, मोदी सरकार को लेकर कही ये बड़ी बातCG CRIME: युवक और युवती ने एक ही फंदे में फांसी लगाकर की खुदकुशी, दोनों एक दिन पहले घर से निकले थे, जांच में जुटी पुलिसअब 60 रुपये में भरवा सकेंगे पेट्रोल! मोदी सरकार करने जा रही है ये बड़ा ऐलान, कंट्रोल होगा महंगाईInternational yoga Day : रायपुर में ट्रांसजेंडर के समुदाय ने मनाया Health अंतरराष्ट्रीय विश्व योग दिवस, कहा दवा हमारे शरीर के अंदर है..इस खिलाड़ी ने खेली तूफानी पारी, 52 चौकों और 5 छक्‍कों से जड़ दिया तिहरा शतकबड़ी खबर : पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 880 ग्राम गांजा के साथ 2 आरोपी गिरफ्तार

सरकार का बड़ा दावा, ‘जहां वोट, वहां वैक्सीनेशन’ अभियान पूरे देश में चले तो 2-3 महीने में सबको लग जाएगा टीका

Mahendra Kumar SahuJune 9, 20211min


 

नईदिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी के दिल्ली सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. उन्होंने जहां वोट वहां वैक्सीनेशन अभियान की शुरूआत की है. इस दौरान सीएम केजरीवाल ने कहा कि ये एक नए तरह का प्रयोग है जिससे करीब 30 लाख लोगों को सीधा फायदा होगा. सीएम केजरीवाल ने कहा कि 45 से ऊपर की उम्र के लगभग 57 लाख लोग हैं. जिनमें 50 फीसदी से ज्यादा लोगों को टीका लग चुका है.

 

 

इस उम्र के 27 से 28 लाख लोगों को लग गया है और 30 लाख के करीब लोग बचे हैं। अब लोग ज्यादा संख्या में नहीं आ रहे हैं इसलिए इस अभियान से वैक्सीनेशन अभियान में काफी फायदा मिलेगा। स्पुतनिक के दिल्ली आने पर केजरीवाल ने कहा कि अब इसकी जरूरत नहीं है अब तो केंद्र सरकार सारी वैक्सीन देने वाली है.

 

 

केजरीवाल ने कहा कि अब लोगों को घर-घर जाकर बुलाना पड़ेगा और जागरूक करना पड़ेगा। जहां वोट वहीं वैक्सीनेशन अभियान के तहत हर विधानसभा के अंदर जहां पर जिस पोलिंग स्टेशन पर वोट डालने जाते हैं, वहीं पर उनको टीका लगाए जाएगा. उसी पोलिंग स्टेशन को टीकाकरण सेंटर बना दिया गया है. चुनाव के समय जिस तरीके से बूथ लेवल ऑफिसर घर घर जाते हैं और घर घर पर पर्ची देकर आते हैं, वैसे ही इस अभियान में BLO घर-घर पर्ची देकर आ रहा है.इस पर्ची से पता चलेगा कि इस केंद्र में इतने बजे वैक्सीन ले सकते हैं वैक्सीन का स्लॉट देकर आ रहा है.

 

‘लोग काफी खुश हैं’


 

केजरीवाल ने आगे कहा कि मैंने कई लोगों से बात कि लोग खुश हैं, लोगों के आने-जाने का भी इंतजाम किया गया है लोगों को घर से लाने के लिए ई रिक्शे लगा रखे हैं. BLO घर जाकर लोगों को जागरूक भी कर रहे हैं, अगर किसी के मन में वैक्सीन को लेकर डर है तो वह दूर कर रहे है. 2 दिन बीएलओ जाएंगे और लोगों से बात करेंगे, जागरूक करेंगे और फिर अगले 2 दिन टीके लगाए जाएंगे. जो लोग पहली बार में नहीं आएंगे उनके लिए बीएलओ सेकंड राउंड में फिर से जाएंगे कि आपको स्लॉट दिया था आप नहीं आए, उनकी जो शंकाएं होंगी वह दूर की जाएंगी.

 

 

दिल्ली में 272 वार्ड है 2 विधानसभाओं में वार्ड नहीं हैं तो करीब 280 वार्ड हो गए। एक हफ्ते में 70 वार्ड कवर किए जाएंगे. अगर हमारे पास 18 से 44 साल के टीके होते तो वो भी इसी में खत्म हो जाते. मुझे लगता है कि चुनाव का ढांचा काफी अच्छा है अगर पूरे देश भर में इस ढांचे के हिसाब से टीका लगाएं तो 2 से 3 महीने में सबको टीका लगा सकते हैं.

 

 

अफवाहों पर ध्यान न दें


 

उन्होंने आगे कहा कि इस अभियान को लेकर कई तरह की अफवाहें सामने आ रही हैं. यह पूरे समाज की जिम्मेदारी है मीडिया की जिम्मेदारी है मेरी जिम्मेदारी है यह लोगों को जागरुक करना पड़ेगा तरह तरह की अफवाह फैल रही हैं.

 

18 से 44 को मुफ्त वैक्सीनेशन पर केजरीवाल ने कहा कि ये बहुत अच्छी बात है 21 जून से सेंटर की तरफ से सारी वैक्सीन आना शुरू होंगी, अगर हमें सबसे लिए वैक्सीन मिलेंगी तो हम इस अभियान के जरिए सभी को वैक्सीन लगाना शुरु करेंगे. दिल्ली में तो वैक्सीन पहले से मुफ्त ही थी, कमी तो वैक्सीन की थी? मैं पूरी उम्मीद करता हूं कि केंद्र ने इसके बारे में भी कुछ ना कुछ प्लान बनाया होगा.

 

वैक्सीन कैपिंग को लेकर सुप्रीम कोर्ट को कहा शुक्रिया


 

हम सुप्रीम कोर्ट का बहुत शुक्रिया अदा करते हैं सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि ऐसा क्यों है कि 18 से 44 साल के लोगों पैसे लिए जा रहे हैं और बाकी लोगों को फ्री दी जा रही है. ऐसा क्यों है कि प्राइवेट अस्पताल वाले इतना ज्यादा पैसा ले रहे हैं? तो मुझे लगता है कि सुप्रीम कोर्ट के दबाव के चलते यह फैसला लिया लेकिन देर आए दुरुस्त आए देश के लिए अच्छा हुआ है मुझे लगता है कि अब टीकाकरण अच्छा चलना चाहिए लेकिन असली समस्या है टीकाकरण डीके की अवेलेबिलिटी की अगर टीका उपलब्ध होता है तो 2 से 4 महीने में पूरे देश को टीका लग सकता है.


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें