ताज़ा ख़बर
CG NEWS : नदी में बहकर आया महिला का शव, इलाके में फैली सनसनी, पुलिस ने जताई हत्या की आशंकाBIG BREAKING : छत्तीसगढ़ के इस जिले में भी बैंड व धूमाल बजाने की मिली अनुमति, कलेक्टर ने जारी किया आदेशEXCLUSIVE : कभी जार्ज पंचम फिर महात्मा गांधी और अब राजीव गांधी के नाम से जाना जाता है राजधानी का यह चौक, जाने इसके पीछे की पूरी कहानीBIG BREAKING: अब रविवार को इतने समय तक खुल सकेगा व्यापार, कलेक्टर ने ज़ारी किए आदेशEXCLUSIVE : अंतरराज्यीय बस स्टैंड बना नशेड़ियों का ठिकाना, खाली पड़े बस स्टैंड में युवा कर रहे नशा, अश्लील कामों को दे रहे अंजाम, पुलिस अधिकारियों भी नहीं ले रहे एक्शन… देखे VIDEOबढ़ती महंगाई को लेकर महिला कांग्रेस का मोदी सरकार पर हमला, सांसद ने कसा तंज कहा- पहला शाह तो दूसरा शहंशाह….CG BIG BREAKING : कोविड सेंटर से भागे पांच आरोपी गिरफ्तार, सभी के सभी संक्रमित, टीआई की कर दी धुनाई, वाहनों में तोड़फोड़RAIPUR: अनलॉक में बड़ी राहत दे सकता है जिला प्रशासन, दोपहर बाद जारी हो सकती है नई गाइडलाइन, रविवार को भी खुल सकती है दुकानेंBIG BREAKING : दर्दनाक सड़क हादसा: कार और ट्रक की जबरदस्त टक्कर, एक ही परिवार के 10 लोगों की मौतRAIPUR : बारवीं की आंसरशीट मूल्यांकन के लिए शिक्षकों को नहीं आना होगा केंद्र, घर में ही करेंगे कॉपी चेक, माशिमं ने की व्यवस्था.

ग्रामीणों ने दिखाई ताकत, खुद के लिए बनाया पुल, देखता रह गया प्रशासन, प्रशासन ने नही सुनी गुहार, ग्रामीणों ने खुद ही बना दिया पुल-

Sanjay sahuJune 8, 20211min

 

 

रामकुमार भारद्वाज/ कोण्डागांव :– बार-बार सरकारी नुमाइंदों और प्रशासनिक अधिकारियों से गुहार लगाने के बाद जब किसी ने नहीं सुनी तो ग्रामीण खुद ही अपनी किस्मत बदलने में जुट गए। वर्षों से आश्वासन के सहारे आवागमन कर रहे क्षेत्र के लोगों ने नई मिसाल कायम की। इन लोगों ने आपस में मिलकर नाले में लकड़ी का पुल बनाकर प्रशासन को आइना दिखा दिया।

सरकार के दावों की पोल खोल रहे हैं लकड़ी के बने छोटे पुल। ये पुल ग्रामीणों ने अपनी मेहनत से बनाए हैं। क्योंकि वे पुल नहीं बनाते तो उनका अपने गांव से दूसरे गांव जाने में काफी दूरी तय करना पड़ रहा था। ऐसे में ग्रामीणों ने खुद होकर लकड़ी का पुल बना दिया।

पुल नहीं होने से आवागमन में हो रही थी परेशानी

 

यह आलम विकास खंड फरसगांव के सुदूर गांव बड़ेडोंगर क्षेत्र के ग्राम पंचायत आमगांव नाले का है। ग्राम पंचायत उरंदाबेड़ा से ग्राम मरकड़ा पहूंच मार्ग चार किमी में न सड़क निर्माण हुआ और न ही आमगांव नाले पर पुलिया निर्माण हुआ जिससे ग्रामीणों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। इस राह में रास्ते के नाम पर पंचायत द्वारा मिट्टी डालकर तैयार की गई पगडंडी नुमा सड़क तो है परन्तु आमगांव नाले पर पुलिया निर्माण नहीं होने से एक गांव से दूसरे गांव आवागमन में भारी परेशानी हो रही थी । इधर सरकार द्वारा अंदरूनी दुरस्त क्षेत्र में सड़क का जाल बिछाने का दावा भी खोखला साबित हो रहा है।

सरकार के हर व्यवस्था तक पहुंचकर आवेदन निवेदन कर चुके हैं ग्रामीण

 

उरंदाबेड़ा के निवासी सोमनाथ पोटाई, आमगांव निवासी ललित सलाम, प्रेम मंडावी ने बताया कि गांव की सबसे बड़ी समस्या सड़क तथा पुल-पुलिया का नहीं होना है। ग्रामीणों ने सरकार की हर व्यवस्था तक पहुंचकर आवेदन निवेदन कर चुके हैं लेकिन कोई उनके गांव के दर्द को समझ ही नहीं रहा था। इसलिए गांव वालों ने रास्ता निकाला और लकड़ी से लगभग 15 मीटर का पुलिया निर्माण कर ग्रामीणों के लिए कुछ हद तक आवागमन सुलभ करवाने की कोशिश की।

 

थक-हार कर ग्रामीणों ने श्रमदान कर बनाया लकड़ी का पुल

 

 

समस्या से ग्रामीण इतने त्रस्त हो गए थे की सहर्ष तैयार हो गए तथा दूसरे ही दिन से पुलिया बनाने में जुट गए। लकड़ी की पुलिया बनाने का फायदा ये हुआ की अब साईकिल तथा पैदल आने जाने में सुविधा हुईं। ग्रामीणों ने बताया कि हर साल बरसात के दिनों में गांव से चार किमी तक सड़क कीचड़ से भर जाती है, जिसकी निर्माण के लिए कई बार प्रशासन को समस्या का हल करने आवेदन दिया जा चुका है। अब थक-हार कर सभी ग्रामीण खुद के लिए श्रमदान कर पुल का निर्माण कर दिया।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories