ताज़ा ख़बर
चिंता न करें, पुराने सोने पर भी मिलेंगे अच्छे दाम, ज्वेलरी दुकान जाकर बस करना होगा ये कामBIG BREAKING : बदले गए कई जिलों के आबकारी अधिकारी, सहायक आयुक्त और उपायुक्त सहित 17 अधिकारियों का ट्रांसफर, देखे सूचीबड़ी खबर : पंडो जनजाति पर फूटा दबंगों का गुस्सा, लगाया मछली चोरी का आरोप, जनचौपाल लगाकर बेरहमी से की पिटाई, 35 हजार जुर्माने का जारी किया फरमानजब पीछे से बजा म्यूजिक तो जाग उठा पंजाबी, बीच मैदान में भांगड़ा करते दिखें कप्तान विराट कोहली, सोशल मीडिया में वायरल हुआ वीडियोRAIPUR: महंगाई को लेकर विरोध: बैलगाड़ी में सवार होकर निगम मुख्यालय निकले महापौर ढेबर, तेल के दामो में लगातार बढ़ोत्तरी को लेकर किया प्रदर्शन, मोदी सरकार को लेकर कही ये बड़ी बातCG CRIME: युवक और युवती ने एक ही फंदे में फांसी लगाकर की खुदकुशी, दोनों एक दिन पहले घर से निकले थे, जांच में जुटी पुलिसअब 60 रुपये में भरवा सकेंगे पेट्रोल! मोदी सरकार करने जा रही है ये बड़ा ऐलान, कंट्रोल होगा महंगाईInternational yoga Day : रायपुर में ट्रांसजेंडर के समुदाय ने मनाया Health अंतरराष्ट्रीय विश्व योग दिवस, कहा दवा हमारे शरीर के अंदर है..इस खिलाड़ी ने खेली तूफानी पारी, 52 चौकों और 5 छक्‍कों से जड़ दिया तिहरा शतकबड़ी खबर : पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 880 ग्राम गांजा के साथ 2 आरोपी गिरफ्तार

BREAKING: राष्ट्रपति को सरेआम मारा तमाचा, यात्रा के दौरान वारदात को दिया अंजाम, दो लोग हिरासत में

Sanjay sahuJune 8, 20211min

 

नई दिल्ली: राष्ट्रपति को एक शख्स ने सरेआम तमाचा जड़ा दिया. इस मामले में दो लोगों को हिरासत में लिया गया है. पकड़े गए लोगोंं से पूछताछ जारी है. यह घटना यात्रा के दौरान फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के साथ हुई.

 

हाल ही में फ्रांसीसी सेना को सेवा देने वाले एक गुट ने राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को इस्लाम को लेकर हिदायत दी थी . इस गुट का कहना है कि इस्लाम धर्म को रियायत देने की वजह से फ्रांस का ‘अस्तित्व’ दांव पर लग चुका है.

 

पिछले महीने भी इसी तरह का एक पत्र प्रकाशित हुआ था जिसमें गृह युद्ध की चेतावनी दी गई थी. बहरहाल, फ्रांस के गृह मंत्री और इमैनुएल मैक्रों के करीबी सहयोगी जेराल्ड डारमेनिन ने इस पत्र को कुछ लोगों की ‘कच्ची पैंतरेबाजी’ करार दिया. मंत्री ने अनाम पत्र लिखने वालों में ‘साहस’ की कमी का आरोप लगाया था.

 

READ MORE: कर्मचारियों को 1 जुलाई से लग सकता है झटका, एरियर्स को लेकर बड़ा फैसला, पढ़ें अहम निर्णय

 

 

 

अप्रैल महीने में फ्रांस में सीनेट की ओर से एक नए प्रस्ताव के समर्थन में वोट किए जाने से सोशल मीडिया पर मुस्लिम समुदाय की ओर से नाराजगी जताई गई थी. इस प्रस्ताव में सार्वजनिक जगहों पर 18 वर्ष से नीचे की लड़कियों के हिजाब (सिर को ढकने वाला कपड़ा) पहनने पर रोक लगाने का प्रावधान है. ये प्रस्ताव ‘सेपरेटिज्म’ बिल का हिस्सा है. ये अभी प्रभावी नहीं हुआ है. इससे एक महीना पहले स्विट्जरलैंड के वोटरों ने बुरका और नकाब पर रोक लगाने के लिए वोट किया था.

 

READ MORE: BIG BREAKING : वैष्णो देवी मंदिर परिसर में लगी भीषण आग, कैश काउंटर जलकर खाक, लाखों का नुकसान

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें