ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : प्रदेश में थमी कोरोना की रफ्तार, आज मिले 813 नए मरीज, 11 लोगों की मौत, देखिए जिलेवार आंकड़ेBIG BREAKING: राजधानी में सूने मकान में नकबजनी करने वाला आरोपी गिरफ्तार, पंजाब भागने कि फिराक में था आरोपी, सोने सहित डायमंड के ज़ेवरात जप्तसोने में निवेश के लिए अच्छा समय! बाजार में अभी कम है दाम, लेकिन 4-5 महीने में हो जाएंगे मालामालजंगलों पर ग्रामीणों का अतिक्रमण, वन विभाग ने 44 लोगों को लिया हिरासत में, दो टैक्ट्रर ट्राली को किया जब्तRAIPUR BREAKING: राजधानी में युवक की चाकू मारकर हत्या, पॉकेटमारी के दौरान हुई वारदातकांग्रेस प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया का दो दिवसीय छत्तीसगढ़ दौरा, कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण कार्यक्रम में लेंगे भागये कैसा नक्शा! पाकिस्तान, बांग्लादेश को भी बताया भारत का हिस्सा, सियासी गलियारों पर मचा बवालबड़ी खबर: अब तक का सबसे बड़ा ONLINE FRAUD, राजधानी में रिटायर्ड इंजीनियर हुए शिकार, 3 बैंक खातों से जीवन भर की पूंजी उड़ा ले गया ठगRAIPUR: शादीशुदा महिला को नशीली दवाई पिलाकर किया बलात्कार, जान से मारने की भी दी धमकी, आरोपी गिरफ़्तारGANGRAPE: रायपुर में एक और मामला आया सामने, 15 वर्षीय नाबालिग को चावल दिलाने के बहाने सुनसान जगह ले जाकर किया सामूहिक बलात्कार, 2 आरोपी गिरफ़्तार

प्रदेश में जल्द मिलेगी चिराग परियोजना को स्वीकृति, कृषि मंत्री चौबे ने कही ये बड़ी बात-2000 करोड़ की…

Sanjay sahuJune 7, 20211min

 

 

 

रोहित बर्मन, रायपुर। प्रदेश में जल्द ही चिराग परियोजना की स्वीकृति मिलने जा रही है। जिसमें 2000 करोड़ की परियोजना होगी। मीडिया को जानकारी देते हुए ये बातें कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने कही। चौबे ने कहा कि यह परियोजना छत्तीसगढ़ की सबसे बड़ी परियोजना होगी।

 

 

इस परियोजना से बस्तर अंचल में कृषि को बढ़ावा मिलेगा। योजना का मुख्य उद्देश्य जलवायु परिवर्तन के अनुसार उन्नत कृषि, उत्तम स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से पोषण आहार में सुधार, कृषि एवं अन्य उत्पादों का मूल्य संवर्धन कर कृषकों को अधिक से अधिक लाभ पहुंचाना है। परियोजना का क्रियान्वयन गौठानों को केन्द्र में रखकर किया जाएगा। कोविड-19 महामारी के कारण कृषि क्षेत्र में आए अवरोधों एवं कठिनाईयों को ध्यान में रखते हुए आय वृद्धि एवं रोजगार सृजन का उद्देश्य भी परियोजना में सम्मिलित है।

 

 

चिराग परियोजना बस्तर संभाग के 7 जिलों के 13 विकासखण्डों बस्तर, बकावंड, बड़ेराजपुर, माकड़ी, नारायणपुर, दंतेवाड़ा, कटेकल्याण, सुकमा, छिंदगढ़, भैरमगढ़, भोपालपट्नम, चारामा एवं नरहरपुर तथा मुंगेली जिले के मुंगेली विकासखण्ड के 1000 गांवों में क्रियान्वित की जाएगी।

 

 

पक्का सेड निर्माण को लेकर मंत्री चौबे ने कहा कि जल्द ही प्रदेश के कई धान संग्रहण केंद्रों में सेड का निर्माण कराया जाएगा। निर्माण कार्य के लिए 128 करोड़ की राशि स्वीकृत की जाएगी। इस संबंध में जल्द ही निर्णय लिया जाएगा।

 

 

वहीं चौबे ने कहा कि कोरोना में अब अनलॉक हो चुका है। इसलिए अब सब गतिविधियां तेज है। स्कूल और कालेज को खोलने की शुरूआत होगी। लेकिन छत्तीसगढ़ में जब संक्रमण दर सबसे कम होगी तब ही स्कूल खोले जाएंगे।

 

READ MORE: विद्या बालन का हॉट अंदाज : कैमरे के सामने बदले कपड़े, उछाली लिपिस्टिक, वीडियो हुआ वायरल…

 

सिलगेर जांच मामले को लेकर कहा कि सिलगेर में सिलगेर के ग्रामवासी कम अन्य लोग ज्यादा है। आखिर कौन इन्हें समर्थन कर रहा है। साथ ही कहा कि जल्द ही सिलगेर की स्थितियां साफ हो जाएगी।

 

 

READ MORE: VIDEO: Internet की दुनिया में भी 100 साल पुराने Telephone का संग्रह देखिए, इस तरह किया इकट्ठा करने का काम

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories