ताज़ा ख़बर
CG NEWS : नदी में बहकर आया महिला का शव, इलाके में फैली सनसनी, पुलिस ने जताई हत्या की आशंकाBIG BREAKING : छत्तीसगढ़ के इस जिले में भी बैंड व धूमाल बजाने की मिली अनुमति, कलेक्टर ने जारी किया आदेशEXCLUSIVE : कभी जार्ज पंचम फिर महात्मा गांधी और अब राजीव गांधी के नाम से जाना जाता है राजधानी का यह चौक, जाने इसके पीछे की पूरी कहानीBIG BREAKING: अब रविवार को इतने समय तक खुल सकेगा व्यापार, कलेक्टर ने ज़ारी किए आदेशEXCLUSIVE : अंतरराज्यीय बस स्टैंड बना नशेड़ियों का ठिकाना, खाली पड़े बस स्टैंड में युवा कर रहे नशा, अश्लील कामों को दे रहे अंजाम, पुलिस अधिकारियों भी नहीं ले रहे एक्शन… देखे VIDEOबढ़ती महंगाई को लेकर महिला कांग्रेस का मोदी सरकार पर हमला, सांसद ने कसा तंज कहा- पहला शाह तो दूसरा शहंशाह….CG BIG BREAKING : कोविड सेंटर से भागे पांच आरोपी गिरफ्तार, सभी के सभी संक्रमित, टीआई की कर दी धुनाई, वाहनों में तोड़फोड़RAIPUR: अनलॉक में बड़ी राहत दे सकता है जिला प्रशासन, दोपहर बाद जारी हो सकती है नई गाइडलाइन, रविवार को भी खुल सकती है दुकानेंBIG BREAKING : दर्दनाक सड़क हादसा: कार और ट्रक की जबरदस्त टक्कर, एक ही परिवार के 10 लोगों की मौतRAIPUR : बारवीं की आंसरशीट मूल्यांकन के लिए शिक्षकों को नहीं आना होगा केंद्र, घर में ही करेंगे कॉपी चेक, माशिमं ने की व्यवस्था.

जीते जी इलाज नहीं, कितनों का अंतिम संस्कार नहीं, अब कब्रों से रामनामी भी छीन रही सरकार, छवि चमकाने की चिंता में दुबली हो रही केंद्र

Sanjay sahuMay 25, 20211min

 

 

नई दिल्ली। पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार में गंगा नदी में संदिग्ध कोरोना मरीजों के शवों तैरते हुए देखे जाने के बाद राजनीति शुरू हो गई है। इस पर कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ कई गंभीर आरोप लगाते हुए निशाना साधा है। इस बीच कांग्रेस नेता प्रियंगा गांधी ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए यूपी सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका गांधी ने कहा कि ”जीते जी ढंग से इलाज नहीं मिला। कितनों को सम्मान से अंतिम संस्कार नहीं मिला। सरकारी आंकड़ों में जगह नहीं मिली। अब कब्रों से रामनामी भी छीनी जा रही है। छवि चमकाने की चिंता में दुबली होती सरकार पाप करने पर उतारू है। ये कौन सा सफाई अभियान है? ये अनादर है-मृतक का, धर्म का, मानवता का.”

 

उत्तर प्रदेश सरकार ने गंगा समेत दूसरी नदियों के किनारों पर शवों को दफनाने पर पाबंदी लगाई है। पुलिस प्रशासन की टीमें लगातार घाटों का गश्त करती रहीं। जो लोग शवों को दफनाने के लिए आ रहे हैं उन्हें समझा-बुझाकर दाह संस्कार के लिए तैयार किया जा रहा है। आर्थिक तंगी और दूसरी वजह से पिछले कुछ दिनों में बड़ी संख्या में शवों को गंगा और दूसरी नदियों के किनारे दफनाया गया था। कई जगहों पर तो घाट कब्रिस्तान में तब्दील हुए नजर आ रहे थे।

 

शवों को किया गया था शिफ्ट

 

 

बता दें कि, हाल ही में प्रयागराज के श्रृंगवेरपुर घाट पर गंगा किनारे दफनाए गए कुछ शव मिट्टी के कटान की वजह से कब्र से बाहर आ गए थे। प्रयागराज के सरकारी अमले ने पानी में बह गई आधी कब्रों से बाहर आकर गंगा की धारा को प्रदूषित करते इन शवों को सम्मान के साथ निकालकर उन्हें दूसरी जगह दफना दिया था। तकरीबन आधा दर्जन शवों को दूसरी जगह पर शिफ्ट कराया गया था। ऐसा इसलिए किया गया था, क्योंकि कई कब्रों के आधे बह जाने से उनमें दफनाए गए शवों से गंगा के प्रदूषित होने का खतरा तो था ही साथ ही शवों को कुत्तों और दूसरे जानवरों के जरिए नुकसान पहुंचाए जाने की भी आशंका थी।

 

कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार पर कोरोना वायरस संक्रमण से होने वाली मौत के आंकड़े छिपाने का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेशवासियों के जीवन की रक्षा में विफल रहने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस्तीफा देना चाहिए और अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को उन्हें तत्काल बर्खास्त करना चाहिए।

 

पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश में आरटीपीसीआर जांच की संख्या में कथित कमी का मुद्दा उठाया और सवाल किया कि क्या प्रदेश सरकार तीसरी लहर के लिए रास्ता बनाकर फिर उससे लड़ने की तैयारी कर रही है? उन्होंने कहा कि यह सरकार लोगों के जीवन की रक्षा नहीं कर सकी और लोगों को सम्मानजनक अंतिम संस्कार के अधिकार से भी वंचित किया। यह सरकार पूरी तरह से विफल और असंवेदनशील हो चुकी है।

 

READ MORE: झीरम घाटी की बरसी पर महापौर एजाज ढेबर ने शहीदों को किया याद, 250 लोगों को वितरण किया राशन

 

 

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories