ताज़ा ख़बर
CG NEWS : नदी में बहकर आया महिला का शव, इलाके में फैली सनसनी, पुलिस ने जताई हत्या की आशंकाBIG BREAKING : छत्तीसगढ़ के इस जिले में भी बैंड व धूमाल बजाने की मिली अनुमति, कलेक्टर ने जारी किया आदेशEXCLUSIVE : कभी जार्ज पंचम फिर महात्मा गांधी और अब राजीव गांधी के नाम से जाना जाता है राजधानी का यह चौक, जाने इसके पीछे की पूरी कहानीBIG BREAKING: अब रविवार को इतने समय तक खुल सकेगा व्यापार, कलेक्टर ने ज़ारी किए आदेशEXCLUSIVE : अंतरराज्यीय बस स्टैंड बना नशेड़ियों का ठिकाना, खाली पड़े बस स्टैंड में युवा कर रहे नशा, अश्लील कामों को दे रहे अंजाम, पुलिस अधिकारियों भी नहीं ले रहे एक्शन… देखे VIDEOबढ़ती महंगाई को लेकर महिला कांग्रेस का मोदी सरकार पर हमला, सांसद ने कसा तंज कहा- पहला शाह तो दूसरा शहंशाह….CG BIG BREAKING : कोविड सेंटर से भागे पांच आरोपी गिरफ्तार, सभी के सभी संक्रमित, टीआई की कर दी धुनाई, वाहनों में तोड़फोड़RAIPUR: अनलॉक में बड़ी राहत दे सकता है जिला प्रशासन, दोपहर बाद जारी हो सकती है नई गाइडलाइन, रविवार को भी खुल सकती है दुकानेंBIG BREAKING : दर्दनाक सड़क हादसा: कार और ट्रक की जबरदस्त टक्कर, एक ही परिवार के 10 लोगों की मौतRAIPUR : बारवीं की आंसरशीट मूल्यांकन के लिए शिक्षकों को नहीं आना होगा केंद्र, घर में ही करेंगे कॉपी चेक, माशिमं ने की व्यवस्था.

वाह मंत्री जी!…जब सफाई कर्मी नहीं पहुंची तो खुद मंत्री कोविड वॉर्ड में करने लगे पोछा, पढ़ें पूरी खबर…

Sanjay sahuMay 15, 20211min

 

आइजॉल: मंत्री को ऑक्सीजन (Oxygen)में अचानक गिरावट के बाद दो दिन तक आईसीयू में भर्ती (Admitted to ICU)किया गया था। शुक्रवार को ही उन्हें कोविड वॉर्ड (Covid Ward)में शिफ्ट किया गया। उन्होंने बताया कि यहां डॉक्टर काफी अच्छा ख्याल रख रहे हैं और उन्हें किसी मंत्री की तरह विशेष और वीआईपी इलाज (VIP treatment)पसंद नहीं है। हालांकि, उन्होंने डॉक्टरों और नर्सों से मरीजों के प्रति नरम व्यवहार रखने की अपील की।

 

 

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते केसों के बीच जहां आम आदमी को अस्पताल में बेड, ऑक्सीजन सिलेंडर और जीवनरक्षक दवाएं तक मिलना मुश्किल है, वहीं वीआईपी लोगों के इलाज के लिए सभी बंदोबस्त किए गए हैं। हालांकि, इन सबके उलट नॉर्थईस्ट (Northeast)के नेता अधिकतर वीआईपी कल्चर (Vip culture)से अलग देशवासियों के लिए उदाहरण पेश करते नजर आ जाते हैं। ऐसा ही एक नजारा मिजोरम के आइजॉल (Aizawl of Mizoram)से सामने आया है। यहां ऊर्जा और विद्युत मंत्री को अस्पताल की फर्श पर पोछा लगाते देखा गया। बताया गया है कि मंत्री खुद यहां भर्ती हैं।

मंत्री आर. ललजिरलियाना ने पोछा लगाने का काम मेडिकल स्टाफ या अफसरों को शर्मिंदा कराने के लिए नहीं बल्कि नेता के तौर पर खुद की जिम्मेदारी समझते हुए किया। मंत्री ने बाद में कहा कि उन्होंने फर्श की सफाई का काम इसलिए किया, क्योंकि यह उनके लिए कुछ नया नहीं है और वे घर और अन्य जगहों पर भी सफाई पर ध्यान रखते हैं।

पहले उन्होंने कमरा गंदा होने के बाद सफाईकर्मी को बुलाया। लेकिन जब वह नहीं आया और फोन पर जवाब नहीं दे पाया, तो उन्होंने खुद ही कोविड वॉर्ड में फर्श की सफाई कर ली। मंत्री ने बताया कि वे यह काम बाकियों को शिक्षित करने के लिए उदाहरण के तौर पर करना चाहते थे। उन्होंने कहा कि वे मंत्री के तौर पर खुद को दूसरों से ऊपर नहीं मानते।

बताया जाता है कि ललजिरलियाना ने पहले दिल्ली दौरे के दौरान मिजोरम हाउस पहुंचकर भी यहां फर्श की सफाई की थी। 71 साल के मिजो नेशनल फ्रंट के नेता के साथ फिलहाल अस्पताल में उनकी पत्नी और बच्चे भी भर्ती हैं। उन्हें 11 मई को कोरोना संक्रमित पाया गया था। आइसोलेशन में रखने के बाद उनकी तबियत कुछ बिगड़ी तो उन्हें जोरम मेडिकल कॉलेज ले जाया गया।

 

 

READ MORE: BIG BREAKING:  अब प्रदेश में होगा ब्लैक फंगस का सफल ईलाज, डॉ खूबचंद बघेल योजना से भी हो सकेगा ब्लैक फंगस  का ईलाज

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories