ताज़ा ख़बर
CG NEWS : नदी में बहकर आया महिला का शव, इलाके में फैली सनसनी, पुलिस ने जताई हत्या की आशंकाBIG BREAKING : छत्तीसगढ़ के इस जिले में भी बैंड व धूमाल बजाने की मिली अनुमति, कलेक्टर ने जारी किया आदेशEXCLUSIVE : कभी जार्ज पंचम फिर महात्मा गांधी और अब राजीव गांधी के नाम से जाना जाता है राजधानी का यह चौक, जाने इसके पीछे की पूरी कहानीBIG BREAKING: अब रविवार को इतने समय तक खुल सकेगा व्यापार, कलेक्टर ने ज़ारी किए आदेशEXCLUSIVE : अंतरराज्यीय बस स्टैंड बना नशेड़ियों का ठिकाना, खाली पड़े बस स्टैंड में युवा कर रहे नशा, अश्लील कामों को दे रहे अंजाम, पुलिस अधिकारियों भी नहीं ले रहे एक्शन… देखे VIDEOबढ़ती महंगाई को लेकर महिला कांग्रेस का मोदी सरकार पर हमला, सांसद ने कसा तंज कहा- पहला शाह तो दूसरा शहंशाह….CG BIG BREAKING : कोविड सेंटर से भागे पांच आरोपी गिरफ्तार, सभी के सभी संक्रमित, टीआई की कर दी धुनाई, वाहनों में तोड़फोड़RAIPUR: अनलॉक में बड़ी राहत दे सकता है जिला प्रशासन, दोपहर बाद जारी हो सकती है नई गाइडलाइन, रविवार को भी खुल सकती है दुकानेंBIG BREAKING : दर्दनाक सड़क हादसा: कार और ट्रक की जबरदस्त टक्कर, एक ही परिवार के 10 लोगों की मौतRAIPUR : बारवीं की आंसरशीट मूल्यांकन के लिए शिक्षकों को नहीं आना होगा केंद्र, घर में ही करेंगे कॉपी चेक, माशिमं ने की व्यवस्था.

प्रेगनेंट लेडी को नौकरी से निकालना कंपनी को पड़ा मंहगा, अब कंपनी देगी महिला को 14 लाख रूपये

Mahendra Kumar SahuMay 13, 20211min

 


नई दिल्लीः कोरोना काल में कई मल्टीनेश्नल कंपनियां अपने कर्मचारियों की छटनी करने में लग गई है. कोरोना काल में बहुत से लोगों की नौकरियां जा चुकी है इसी तरह का एक मामला ब्रिटेन का है. जहां एक महिला को इसलिए नौकरी से निकाल दिया गया क्योंकि वो प्रेग्नेंट हो गई थी. इसके बाद ये महिला कोर्ट पहुंची तो कोर्ट ने आदेश दिया कि कंपनी महिला को 14 हजार पाउंड्स यानि लगभग साढ़े 14 लाख रुपयों का भुगतान करे. ये घटना ब्रिटेन के कैंट शहर में सामने आई है.

 

READ MORE:भारत में बन रही भारतीय वैक्सीन की मात्र 4 करोड डोज, आखिर कैसे रूसी वैक्सीन से देश को मिलेगी राहत, जानें

 

यूलिया किमिचेवा नाम की महिला ‘की प्रमोशन्स लिमिटेड’ नाम की कंपनी में एक मैगजीन फिनिशर के तौर पर काम कर रही थीं. ये कंपनी किताबों और मैगजीन्स की पैकिंग का काम संभालती है. यूलिया ने अपनी मैनेजर कैरोलिन एडवर्ड्स को कहा था कि वे प्रेग्नेंट हैं और इसलिए उन्हें कुछ समय ऑफिस से छुट्टियां लेनी होंगी.

 

READ MORE: क्या गोबर और गोमूत्र से नहाने से नहीं होगा कोरोना, यहां के लोगों किया ये काम, जानिए फिर डॉक्टरों की टीम ने क्या कहा…

 

हालांकि इस पर कैरोलिन ने कहा था कि मैं इस सबके लिए काफी बिजी हूं. उन्होंने कहा था कि तुम इससे पहले भी प्रेग्नेंसी से जुड़ी बीमारी के चलते छुट्टियां ले चुकी हो. इसके कुछ दिनों बाद कैरोलिन ने यूलिया के नाम ईमेल लिखकर उन्हें बर्खास्त करने का फैसला सुनाया. उन्होंने इस लेटर में ये भी कहा कि यूलिया का काम काफी औसत था और उनकी ऑफिस में अटेंडेंस भी काफी कम हो चुकी थी. ऐसे में कंपनी ने यूलिया को निकालने का फैसला किया था.

 

READ MORE: बड़ा खुलासा : KAREENA KAPOOR पति SAIF ALI KHAN से बेडरूम में करती हैं तीन चीजों की डिमांड,जानकर उड़ जाएंगे होश

 

वही इस मामले में कोर्ट में स्टेटमेंट देते हुए यूलिया ने कहा कि गर्भवती होने के चलते मुझे जो परेशानी झेलनी पड़ी थी, उसके चलते ही मेरे काम पर काफी फर्क पड़ा था लेकिन इस बारे में बात करते हुए कैरोलिन ने कहा था कि हम कोई चैरिटी संस्था नहीं हैं और हमें काम की परफॉर्मेंस के आधार पर लोगों को रखने या निकालने का हक है.

 

READ MORE: प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि : शुक्रवार को किसानों के खाते में पहुंचेगा पैसा, प्रधानमंत्री मोदी करेंगे जारी

 

इस मामले में बात करते हुए एंप्लायमेंट जज ने कहा कि कैरोलिन एडवर्ड्स को पहले से ही यूलिया की प्रेग्नेंसी को लेकर जानकारी थी. यूलिया को जिस तरीके से कंपनी से निकाला गया और उन्हें लेकर जो कारण दिए गए वो काफी अनुचित है और इस मामले में कोर्ट आदेश देती है कि कंपनी महिला को साढ़े चौदह लाख की राशि का भुगतान करे.

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories