ताज़ा ख़बर
CG NEWS : नदी में बहकर आया महिला का शव, इलाके में फैली सनसनी, पुलिस ने जताई हत्या की आशंकाBIG BREAKING : छत्तीसगढ़ के इस जिले में भी बैंड व धूमाल बजाने की मिली अनुमति, कलेक्टर ने जारी किया आदेशEXCLUSIVE : कभी जार्ज पंचम फिर महात्मा गांधी और अब राजीव गांधी के नाम से जाना जाता है राजधानी का यह चौक, जाने इसके पीछे की पूरी कहानीBIG BREAKING: अब रविवार को इतने समय तक खुल सकेगा व्यापार, कलेक्टर ने ज़ारी किए आदेशEXCLUSIVE : अंतरराज्यीय बस स्टैंड बना नशेड़ियों का ठिकाना, खाली पड़े बस स्टैंड में युवा कर रहे नशा, अश्लील कामों को दे रहे अंजाम, पुलिस अधिकारियों भी नहीं ले रहे एक्शन… देखे VIDEOबढ़ती महंगाई को लेकर महिला कांग्रेस का मोदी सरकार पर हमला, सांसद ने कसा तंज कहा- पहला शाह तो दूसरा शहंशाह….CG BIG BREAKING : कोविड सेंटर से भागे पांच आरोपी गिरफ्तार, सभी के सभी संक्रमित, टीआई की कर दी धुनाई, वाहनों में तोड़फोड़RAIPUR: अनलॉक में बड़ी राहत दे सकता है जिला प्रशासन, दोपहर बाद जारी हो सकती है नई गाइडलाइन, रविवार को भी खुल सकती है दुकानेंBIG BREAKING : दर्दनाक सड़क हादसा: कार और ट्रक की जबरदस्त टक्कर, एक ही परिवार के 10 लोगों की मौतRAIPUR : बारवीं की आंसरशीट मूल्यांकन के लिए शिक्षकों को नहीं आना होगा केंद्र, घर में ही करेंगे कॉपी चेक, माशिमं ने की व्यवस्था.

चौकाने वाला खुलासा: एक साल से ट्रकों में स्टोर हैं कोरोना मरीजों का शव, वजह जान हो जाएंगे हैरान, अब दफनाने का इंतजार

AgencyMay 11, 20211min

 


न्यूयॉर्क। दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में कोरोना वायरस का पीक अलग वक्त पर आया है. अमेरिका के न्यूयॉर्क में ये पिछले साल आया था, तब हालात ये थे कि प्रशासन को कोविड मरीजों के शवों को फ्रिजर ट्रक में रखना पड़ा था. अब करीब एक साल बाद भी कई शव ऐसे ही फ्रिजर ट्रकों में रखे हुए हैं और इन्हें दफन नहीं किया गया है.

 

जानकारी अनुसार स्थानीय प्रशासन ने इस बात को माना है कि करीब 750 शव अभी भी स्टोर किए गए हैं, जबकि उनका दफन किया जाना बाकी है. अब धीरे-धीरे इन शवों को दफन करना शुरू किया जा रहा है.न्यूयॉर्क शहर में स्थित हार्ट आइसलैंड सबसे बड़ा कब्रिस्तान है, जहां पर गरीबों या अनजान लोगों के शवों को दफनाया जाता है, अब जो शव दफन होने का इंतजार कर रहे हैं, उन्हें भी यहां पर लाया जाएगा. अभी स्थानीय प्रशासन द्वारा इन मृत लोगों के परिवार से संपर्क करने की कोशिश की जा रही है.

 

वही स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक, पिछले साल मार्च-अप्रैल में न्यूयॉर्क कोरोना वायरस की सबसे बुरी मार झेल रहा था. ऐसे में तब लगातार लोगों की मौत हो रही थी, तब काफी शवों को स्टोर कर दिया गया था क्योंकि कई परिवार अपने परिजनों को सही तरीके से विदा करना चाहते थे. अब करीब एक साल बाद अमेरिका कोरोना की मार से उबर रहा है, मगर अभी भी संकट बरकरार है और अमेरिका ही कोरोना की मार झेलने वाला सबसे बड़ा देश है. कोरोना के कारण अमेरिका में करीब 6 लाख मौतें दर्ज की गई हैं।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories