ताज़ा ख़बर
ताजा रिपोर्ट : भारत की जीडीपी ग्रोथ में भारी कटौती, बढ़ सकता है सरकार पर कर्ज!CG BIG BREAKING : छत्तीसगढ़ में कोरोना के बाद अब ब्लैक फंगस ने दी दस्तक, 15 मरीज एम्स में भर्ती, ज्यादातर मरीजों के आंखों में इंफैक्शनबड़ी खुशखबरी : इस अक्षय तृतीया आपके खाते में आएगा 2000 रुपये, जानें कैसे मिलेगा इसका लाभ, पीएम मोदी ने योजना को दी हरी झंडीशेयर बाजार : बैंकिंग, तेल एवं बिजली में दिख रहा उछाल, अधिकतर एशियाई बाजारों में गिरावट दर्ज, एनटीपीसी 4.40 फीसदी चढ़ासाइंटिस्ट की चेतावनी, भारत में नहीं थमेगा आसानी से कोरोना, जुलाई तक थमने की संभावनाSHARE MARKET : लाल निशान पर खुला आज बाजार, सेंसेक्स में भी आई गिरावटBREAKING : पुलिस अधीक्षक ने की बड़ी कार्यवाही : महामारी के बीच ड्यूटी से गैरहाजिर रहने वाले 15 अधिकारी-कर्मचारी निलंबितEXCLUSIVE : 25 सालों में पहली बार गर्मी ने मई में दिलायी राहत, बिहार में देखे जाते रहे हैं ऐसे मौसम, जानें क्या है वजह…BIG BREAKING : केमिकल फैक्टरी में लगी भीषण आग, लगातार हो रहे बड़े धमाके, मौके पर दमकल की 10 गाड़ियांBIG BREAKING : प्रदेश के इस जिले में कल से तीन दिनों का सख्त लॉकडाउन, कलेक्टर नम्रता गांधी ने दिया आदेश

EXCLUSIVE: बंगाल महासंग्राम : ममता बनर्जी खरदाह विधानसभा सीट से लड़ेंगी चुनाव!, अगर 6 माह रहा कोरोना संकट तो हो जाएगा सीएम की कुर्सी से ‘खेला’

Sanjay sahuMay 4, 20211min

 

 

 

कोलकाता। ममता बनर्जी आने वाले दिनों में पश्चिम बंगाल के नॉर्थ 24 परगना जिले की खरदाह विधानसभा सीट से चुनाव लड़ सकती है। इस सीट से टीएमसी के उम्मीद्वार काजल सिन्हा को 89 हजार 807 वोटों से जीत हासिल हुई है। काजल सिन्हा का कोरोना संक्रमण के चलते मौत होने के बाद यह सीट खाली हो चुकी है। जिसके बाद कार्यकर्ता यह कयास लगा रहे हैं कि ममता बनर्जी आने वाले छ: माह के भीतर खरदाह से चुनाव लड़ेगी। खरदाह के उम्मीद्वार काजल सिन्हा ने इस सीट से काफी बढ़त हासिल की है। इस सीट से चुनाव जीतने में ममता को किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होगी। पश्चिम बंगाल चुनाव में टीएमसी को 213 व बीजेपी को 77 सीटों पर जीत हासिल हुई है। ममता बनर्जी अपनी तीसरी पारी के लिए 5 मई को शपथ ग्रहण करेगी। खबर है कि उसके साथ कुछ मंत्री भी शपथ ले सकते हैं।

 

आपको बता दें कि ममता बनर्जी नंदीग्राम सीट चुनाव लड़ी थी। जिसमें उन्हें शुभेन्दु अधिकारी ने हार का स्वाद चखा दिया है। इसके पहले शुभेन्दु अधिकारी टीएमसी के बड़े नेताओं में गिने जाते थे। शुभेन्दु अधिकारी गृहमंत्री अमित शाह की राजनीति का शिकार होकर बीजेपी की सीट से चुनाव लड़े थे। और जीत भी हासिल किया।

 

इसके पहले भी देश के कई राज्यों में हार हुए प्रत्याशियों ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली हुई है। जिसमें उद्धव ठाकरे, लालू प्रसाद यादव, योगी आदित्यनाथ, नीतिश कुमार, राबड़ी देवी, कमलनाथ सिंह व तीरथ सिंह रावत शामिल हैं। ये नेताएं बिना विधायक रहते मुख्यमंत्री पद की शपथ ले चुके हैं।

 

पश्चि बंगाल चुनाव के दौरान चुनाव मैदान में उतरे पांच टीएमसी प्रत्याशियों की कोरोना से मौत हो चुकी है। खरदाह विधानसभा सीट से प्रत्याशी काजल सिन्हा का छठवे चरण के चुनाव के दौराना कोरोना संक्रमण से मौत हो गई है। जिन्होंने इस सीट से भारी बढ़त के साथ जीत हासिल की है। जिसके बाद यह सीट खाली हो चुकि है। अब इसके बाद ममता बनर्जी इस सीट से चुनाव लड़ेंगी।

 

 

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के नियम

 

किसी राज्य के मुख्यमंत्री पद के रूप में शपथ लेने के लिए उम्मीद्वार को विधानसभा या विधान परिषद का सदस्य होना आवश्यक है। अगर विधानसभा या विधान परिषद का सदस्य नहीं है तो शपथ लेने के छ: माह के भीतर किसी भी परिषद का सदस्य होना आवश्यक है। इससे शाबित होता है कि बिना विधायक रहते मुख्यमंत्री पद की शपथ ली जा सकती है। अगर छ: माह की अवधि में विधानसभा या विधान परिषद का सदस्य नहीं बन पाते हैं तो उम्मीद्वार पद छोड़ना पड़ सकता है।

 

 

 

READ MORE: BIG BREAKING: देश में 21 दिनों का देशव्यापी संपूर्ण लॉकडाउन! पीएम मोदी इस तारीख को कर सकते हैं ऐलान, सुप्रीम कोर्ट ने भी दिया था सुझाव

 

 

 

क्या है विधान परिषद

 

विधान परिषद कुछ भारतीय राज्यों में लोकतन्त्र की ऊपरी प्रतिनिधि सभा है। इसके सदस्य अप्रत्यक्ष चुनाव के द्वारा चुने जाते हैं। कुछ सदस्य राज्यपाल के द्वारा मनोनित किए जाते हैं। विधान परिषद विधानमण्डल का अंग है। आन्ध्र प्रदेश, बिहार, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश के रूप में छ: राज्यों में विधान परिषद है। इसके अलावा, राजस्थान, असम, ओडिशा को भारत की संसद ने अपने स्वयं के विधान परिषद बनाने की मंजूरी दे दी है।

 

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories