ताज़ा ख़बर
इन दो जिलों के कलेक्टरों ने शादियों पर लगाई रोक, पहले से मिली अनुमति भी होंगे निरस्त, आदेश जारीBIG BREAKING : नए स्ट्रेन मिलने के बाद बस्तर में अलर्ट, इस जिले में 16 मई तक बढ़ाई गई लॉकडाउन, कलेक्टर ने जारी किया आदेशCORONA BREAKING : प्रदेश में आज मिले 13 हजार 628 नए मरीज, 208 की मौत, देखिए जिलेवार आंकड़ेबड़ी खबर : राजधानी में चश्मा दुकानों को खोलने की मिली अनुमति, जिला प्रशासन ने जारी किया आदेशबिना पासवर्ड लॉगिन होगा गूगल अकाउंट, जल्द आ रही नई फीचर, जानें कैसी होगी नई फीचरBIG BREAKING : भूपेश सरकार ने दी किसानों को बड़ी राहत, 21 मई को किसान न्याय योजना की पहली किस्त देने का किया ऐलानयुवा कांग्रेस ने जरूरतमंद परिवारों में राशन वितरण कर पेश की मानवता की मिसालजेल में तैनात अधिकारियों की लापरवाही, मुख्य प्रहरी और तीन प्रहरी पर गिरी निलंबन की गाज, कैदियों के फरार होने के बाद गृह मंत्री साहू ने दिए थे कार्रवाई के निर्देशBIG BREAKING : अंडरवर्ल्‍ड डॉन छोटा राजन की कोरोना से मौत! लक्षण मिलने के बाद 12 दिन पहले एम्‍स में किया गया था भर्तीबड़ी खबर : कहर बनकर टूट रही महामारी, एक ही गांव के 17 लोगों की मौत, मचा हड़कंप

प्रशासन के दावे खोखले, कोरोना की दूसरी लहर में बेबस नजर आ रहा हैं सिस्टम

Sanjay sahuMay 3, 20211min

 

अनूपपुर/राजनगर/एसके मिनोचा: जानलेवा कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए प्रशासन भले ही तमाम एहतियाती कदम उठा रही हो लेकिन कुछ संस्थाओं के सिस्टम में कहीं ना कहीं लापरवाही का वायरस अभी भी जिंदा है! यह हम नहीं कह रहे हैं बल्कि खुद हसदेव क्षेत्र के राजनगर आरओ के हालात बयां कर रहे हैं.

 

 

पिछले वर्ष इस कोरोना महामारी में प्रबंधक द्वारा श्रमिकों के सुरक्षा के लिए तमाम उपकरण अपनाए गए थे मगर कोरोना वायरस की दूसरी लहर पर कालरी प्रबंधक का सिस्टम फेल नजर आ रहा है हाल देखकर ऐसा लगा ही नहीं कि हम किसी महामारी से जूझ रहे हैं न तो यहां सैनिटाइजर की व्यवस्था है और ना ही साफ सफाई जबकि कालरी के तीनों सिफ्ट चालू हैं.

 

प्रत्येक दिन सैकड़ों मजदूर आते जाते रहते हैं महामारी घोषित किए जा चुके कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेश सरकार लोगों को साफ-सफाई बनाए रखने, लगातार हाथ धोने समेत तमाम सतर्कता बरतने का संदेश दे रही है। इसके लक्षण और बचाव के लिए बकायदा गाइडलाइन जारी की गई है। मगर कालरी प्रबंधक द्वारा उनके माइंस में प्रत्येक दिन सैकड़ों मजदूर कार्य करने आते हैं मगर प्रबंधक द्वारा ना तो साफ सफाई की व्यवस्था की गई है ना ही सैनिटाइजर की गत वर्ष में प्रबंधक द्वारा लाखों रुपए का इन सब चीजों में बड़े पैमाने पर खर्चा किया गया था मगर कालरी प्रबंधक कोरोना की दूसरी लहर पर पूरी तरह से लापरवाह नज़र आ रही है!

 

रहवासी कॉलोनी में नहीं किया जा रहा है छिड़काव

 

पिछले वर्ष कोरोना के खतरे को देखते हुए प्रबंधक द्वारा लाखों रुपए कॉलोनी के सैनिटाइजर के लिए खर्चा किया गया था मगर कोरोना की दूसरी लहर पर प्रबंधक द्वारा रहवासी कॉलोनी पर अभी तक छिड़काव नहीं किया गया!

 

इनका कहना है

 

आपके द्वारा सूचना मिली है जल्दी ही संबंधित अधिकारी से बात करके सैनिटाइजर छिड़काव की व्यवस्था करवायी जाएगी!

हरिद्वार सिंह महामंत्री SECL एटक


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories