ताज़ा ख़बर
ताजा रिपोर्ट : भारत की जीडीपी ग्रोथ में भारी कटौती, बढ़ सकता है सरकार पर कर्ज!CG BIG BREAKING : छत्तीसगढ़ में कोरोना के बाद अब ब्लैक फंगस ने दी दस्तक, 15 मरीज एम्स में भर्ती, ज्यादातर मरीजों के आंखों में इंफैक्शनबड़ी खुशखबरी : इस अक्षय तृतीया आपके खाते में आएगा 2000 रुपये, जानें कैसे मिलेगा इसका लाभ, पीएम मोदी ने योजना को दी हरी झंडीशेयर बाजार : बैंकिंग, तेल एवं बिजली में दिख रहा उछाल, अधिकतर एशियाई बाजारों में गिरावट दर्ज, एनटीपीसी 4.40 फीसदी चढ़ासाइंटिस्ट की चेतावनी, भारत में नहीं थमेगा आसानी से कोरोना, जुलाई तक थमने की संभावनाSHARE MARKET : लाल निशान पर खुला आज बाजार, सेंसेक्स में भी आई गिरावटBREAKING : पुलिस अधीक्षक ने की बड़ी कार्यवाही : महामारी के बीच ड्यूटी से गैरहाजिर रहने वाले 15 अधिकारी-कर्मचारी निलंबितEXCLUSIVE : 25 सालों में पहली बार गर्मी ने मई में दिलायी राहत, बिहार में देखे जाते रहे हैं ऐसे मौसम, जानें क्या है वजह…BIG BREAKING : केमिकल फैक्टरी में लगी भीषण आग, लगातार हो रहे बड़े धमाके, मौके पर दमकल की 10 गाड़ियांBIG BREAKING : प्रदेश के इस जिले में कल से तीन दिनों का सख्त लॉकडाउन, कलेक्टर नम्रता गांधी ने दिया आदेश

GOOD NEWS : अमेरिका और जर्मनी ने मदद के लिए बढाए हाथ, 1,25,000 रेमडेसिविर लेकर विमान पंहुचा भारत, जर्मनी से आए 4 ऑक्सीजन कंटेनर

Mahendra Kumar SahuMay 3, 20211min

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों और ऑक्सीजन व अन्य स्वास्थ्य सामाग्री की कमी के बीच संकट और गहराता चला जा रहा है. भारत में कोरोना के नए मामले चार लाख का आंकड़ा पार कर गए हैं. ऐसे में विदेशो से भारत में मदद पहुचायी जा रही है

इसी कड़ी में अमेरिका की तरफ से भेजे गए रेमडेसिविर की 1,25,000 शीशियां सोमवार को दिल्ली एयरपोर्ट पहुंची. इस सप्लाई से रेमडेसिविर की किल्लत से निपटने के लिए थोड़ी मदद जरूर मिलेगी. उधर, कोरोना वायरस संकट के बीच ऑक्सीज आपूर्ति के लिए भारतीय वायुसेना ने पूरी ताकत झोंक दी है.

वहीं भारतीय वायुसेना के सी-17 एयरक्राफ्ट ने 4 क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंकर जर्मनी से एयरलिफ्ट कर हिंडन एयरबेस पर पहुंचाया. इसके अलावा 450 ऑक्सीजन सिलेंडर भी ब्रिटेन से एयरलिफ्ट कर चेन्नई एयरबेस पर पहुंचाया गया. भारतीय वायुसेना ने इस बात की जानकारी दी.

बता दें कि कोरोना संकट के बीच भारतीय नौसेना की जहाजों को विदेशों से ऑक्सीजन टैंकर लाने के लिए स्टैंड बाय मोड पर रखा गया है. गल्फ और साउथ ईस्ट एशियन देशों के करीब भारी क्षमता वाली जहाजों को ऐसे अभियान के लिए तैयार रहने के लिए कहा गया है. नेवी सूत्रों ने इस बात की जानकारी दी.

उधर, भारत सरकार की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक चार मई को ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच वर्चुअल समिट होनी है. समिट से पहले ब्रिटेन ने भारत को 1000 और वेंटिलेटर भेजने का फैसला किया है. इससे अस्पताल में भर्ती गंभीर कोरोना मरीजों की तबीयत सुधारने में आसानी होगी. इससे पहले बीते सप्ताह यूके ने 200 वेंटिलेटर, 495 ऑक्सीजन कंसनट्रेटर्स और तीन ऑक्सीजन जेनेरेशन यूनिट देने का भी ऐलान किया था.


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories