ताज़ा ख़बर
इन दो जिलों के कलेक्टरों ने शादियों पर लगाई रोक, पहले से मिली अनुमति भी होंगे निरस्त, आदेश जारीBIG BREAKING : नए स्ट्रेन मिलने के बाद बस्तर में अलर्ट, इस जिले में 16 मई तक बढ़ाई गई लॉकडाउन, कलेक्टर ने जारी किया आदेशCORONA BREAKING : प्रदेश में आज मिले 13 हजार 628 नए मरीज, 208 की मौत, देखिए जिलेवार आंकड़ेबड़ी खबर : राजधानी में चश्मा दुकानों को खोलने की मिली अनुमति, जिला प्रशासन ने जारी किया आदेशबिना पासवर्ड लॉगिन होगा गूगल अकाउंट, जल्द आ रही नई फीचर, जानें कैसी होगी नई फीचरBIG BREAKING : भूपेश सरकार ने दी किसानों को बड़ी राहत, 21 मई को किसान न्याय योजना की पहली किस्त देने का किया ऐलानयुवा कांग्रेस ने जरूरतमंद परिवारों में राशन वितरण कर पेश की मानवता की मिसालजेल में तैनात अधिकारियों की लापरवाही, मुख्य प्रहरी और तीन प्रहरी पर गिरी निलंबन की गाज, कैदियों के फरार होने के बाद गृह मंत्री साहू ने दिए थे कार्रवाई के निर्देशBIG BREAKING : अंडरवर्ल्‍ड डॉन छोटा राजन की कोरोना से मौत! लक्षण मिलने के बाद 12 दिन पहले एम्‍स में किया गया था भर्तीबड़ी खबर : कहर बनकर टूट रही महामारी, एक ही गांव के 17 लोगों की मौत, मचा हड़कंप

बड़ी खबर : कोविड केयर सेंटर से पांच कैदी हुए फरार, सुरक्षा व्यस्था की खुली पोल, आनन – फानन मौके पर पहुंचे अधिकारी

Priyansha LAZARUSMay 3, 20211min

 


 

चित्तौड़गढ़ । राजस्थान के जिला चिकित्सालय में बंदियों के लिए बनाए गए कोविड सेंटर में क्वारंटीन हुए पांच कैदी सेंटर से फरार हो गए हैं. इस घटना की जानकारी सोमवार सुबह मिल पाई. इसके बाद सुरक्षा व्यवस्था की एक बार फिर से पोल खुल गई. आनन-फानन में प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली. यहां पांच बंदी उपचाररत थे.सोमवार सुबह करीब 4:30 बजे कोविड सेंटर के छत के रास्ते होकर फरार हुए हैं. गार्ड को जब इस बात की खबर हुई तो उन्होंने अपने उच्च अधिकारियों को इसकी सूचना दी.

मिली जानकारी के मुताबिक घटना की सुचना मिलते ही एडिशनल एसपी हिम्मत सिंह देवल, डिप्टी मनीष शर्मा व थाना अधिकारी दर्शन सिंह मौके पर पहुंचे. अधिकारियों ने तुरंत शहर में नाकेबंदी शुरू करवा दी. हालांकि, अभी तक बंदियों का पता नहीं चला.जानकारी में सामने आया कि श्री सांवलियाजी राजकीय सामान्य चिकित्सालय में नगर परिषद की ओर से रैन बसेरा का निर्माण करवाया हुआ है. यहां कोरोना काल से ही उन बंदियों को यहां रखा जाता है, जिन्हें जेल भेजने से पूर्व कोरोना जांच होती है और रिपोर्ट आने का इंतजार रहता है. साथ ही कभी कभार पॉजिटिव आए बंदी भी यहीं रहते हैं. इसी के सामने टेंट लगा कर पुलिस की चौकी लगाई हुई है.कोविड सेंटर में उपचाररत कोविड-19 पॉजिटिव बंदियों को जेल में डालने से पहले क्वॉरेंटाइन किया जाता है. वहां से आज सुबह 4.30 बजे के करीब पांच बन्दी मौके से भाग गए.यह पांचों बंदी कुलदीप पुत्र उम्मेद सिंह राजपूत उम्र 26 साल, निवासी किशनिया खेड़ी, कपासन, पिंटू पुत्र संतोष शर्मा निवासी हरपुरा, पारसोली, मुकेश उर्फ पप्पू पुत्र कन्हैया लाल सालवी निवासी चावंडिया, पारसोली, संजय पुत्र सुकरत निवासी धारडी, सिंगोली, नीमच, मध्यप्रदेश व पप्पू पुत्र रतनलाल जोगी निवासी घोसुंडा, चंदेरिया अलग-अलग थानों में पकड़े गए थे.

 

वही इनको गिरफ्तार करने के बाद जेल भेजने से पहले कोविड जांच के लिए सैंपल लिया गया और उन्हें कोविड-19 सेंटर पर क्वॉरेंटाइन किया गया.सुबह एक अन्य कैदी, जो वहीं पर क्वॉरेंटाइन था, ने पास में मौजूद गार्ड को इसकी सूचना दी. जब गार्ड ने जाकर अंदर देखा तो 5 कैदी मौके पर नहीं थे.जांच करने पर पता चला कि कैदियों ने छत के दरवाजे को ऊंचा कर छत के रास्ते से पास के मोर्चरी गृह के छत पर छलांग लगा कर वहां से फरार हुए. मोर्चरी गृह के छत की ऊंचाई भी काफी कम है, इसलिए उन्हें भागने में भी आसानी हुई. गार्ड ने इसकी सूचना सदर थाने को दी.सूचना पर सदर थानाधिकारी दर्शन सिंह अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना किया. इसके बाद उन्होंने उच्च अधिकारियों को सूचना दी. जिस पर एडिशनल एसपी हिम्मत सिंह देवल, डिप्टी मनीष शर्मा मौके पर पहुंचे और पूरे जिले में नाकेबंदी शुरू कर दी.

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories