ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : प्रदेश में थमी कोरोना की रफ्तार, आज मिले 813 नए मरीज, 11 लोगों की मौत, देखिए जिलेवार आंकड़ेBIG BREAKING: राजधानी में सूने मकान में नकबजनी करने वाला आरोपी गिरफ्तार, पंजाब भागने कि फिराक में था आरोपी, सोने सहित डायमंड के ज़ेवरात जप्तसोने में निवेश के लिए अच्छा समय! बाजार में अभी कम है दाम, लेकिन 4-5 महीने में हो जाएंगे मालामालजंगलों पर ग्रामीणों का अतिक्रमण, वन विभाग ने 44 लोगों को लिया हिरासत में, दो टैक्ट्रर ट्राली को किया जब्तRAIPUR BREAKING: राजधानी में युवक की चाकू मारकर हत्या, पॉकेटमारी के दौरान हुई वारदातकांग्रेस प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया का दो दिवसीय छत्तीसगढ़ दौरा, कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण कार्यक्रम में लेंगे भागये कैसा नक्शा! पाकिस्तान, बांग्लादेश को भी बताया भारत का हिस्सा, सियासी गलियारों पर मचा बवालबड़ी खबर: अब तक का सबसे बड़ा ONLINE FRAUD, राजधानी में रिटायर्ड इंजीनियर हुए शिकार, 3 बैंक खातों से जीवन भर की पूंजी उड़ा ले गया ठगRAIPUR: शादीशुदा महिला को नशीली दवाई पिलाकर किया बलात्कार, जान से मारने की भी दी धमकी, आरोपी गिरफ़्तारGANGRAPE: रायपुर में एक और मामला आया सामने, 15 वर्षीय नाबालिग को चावल दिलाने के बहाने सुनसान जगह ले जाकर किया सामूहिक बलात्कार, 2 आरोपी गिरफ़्तार

सूरजपुर जिले में कोरोना की दूसरी लहर बेकाबू , होम आइसोलेशन के मरीजो तक नही पहुंच रही दवा

Mahendra Kumar SahuMay 2, 20211min


सूरजपुर,विष्णु कसेरा|
जिले में कोरोना की दूसरी लहर इस कदर बेकाबू है कि प्रतिदिन न केवल संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है बल्कि मौत के आंकड़े भी लोगो को डरा रहे है.13 अप्रैल को लगाये गये लाक डाउन मे ही बीते माह में 47 लोगो की मौते हो चुकी तो वही 5949 कोरोना संक्रमित मरीज पाये गये. बीते अप्रैल माह मे 7550 कोरोना संक्रमित पाये जाने के साथ 53 मौत हो चुकी है. कई युवा तो बुजुर्ग संक्रमित होकर मौत के गाल में समा गये है कोरोना संक्रमितो की बढते रफ्तार से जिले की स्वास्थ व्यवस्थाएं भी ध्वस्त होती दिखाई पड़ रही है. तो वही स्वास्थ विभाग में चल रहे गुटबाजी का असर स्वास्थ सेवाओ के साथ व्यव्स्थाओ पर पड रही है जिससे स्वास्थ व्यव्स्था बेलगाम हो गया है. कोविडि अस्पताल में उपचार करा रहे मरीजो अनुसार यहा का यह हाल है कि डाक्टर तक अस्पताल मे नही आते है नर्से जरुर आती है बहरहाल कोरोना सक्रमित मरीज भगवान भरोसे है. तो वही अस्पताल प्रबंधन बच गये खुद किस्मत.

होम आइसोलेशन के मरीजो तक नही पहुंच रही दवा..
कोविड अस्पताल की तुलना मे अब तक होम आइसोलेशन में रह कर बडी संख्या में कोरोना संक्रमित ठीक हुये है तो वही अत्यधिक कोरोना संक्रमित पाये जाने पर जिन्हे होम आइसोलेशन किया गया उन तक दवा नही पहुचती. एक ही परिवार के 10 लोग कोरोना संक्रमित पाये जाने पर उन्हे आज तक दवा तक नही मिला जिससे वे खुद के खर्चे से दवा खरीद रहे रहे है परिजन बताते है कि कंन्ट्रोल रुम में फोन भी किये थे फिर भी ना तो दवा भेजा गया ना ही स्वास्थ संबंधी किसी प्रकार की जानकारी लिया गया. कई ऐसे भी मरीज है जो बिना दवा के ही ठीक हो रहे है. अंदाजा लगाये जा सकता है जिले का स्वास्थ व्यव्स्था किस कदर ध्व स्त हो गया है.


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories