ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : प्रदेश में थमी कोरोना की रफ्तार, आज मिले 813 नए मरीज, 11 लोगों की मौत, देखिए जिलेवार आंकड़ेBIG BREAKING: राजधानी में सूने मकान में नकबजनी करने वाला आरोपी गिरफ्तार, पंजाब भागने कि फिराक में था आरोपी, सोने सहित डायमंड के ज़ेवरात जप्तसोने में निवेश के लिए अच्छा समय! बाजार में अभी कम है दाम, लेकिन 4-5 महीने में हो जाएंगे मालामालजंगलों पर ग्रामीणों का अतिक्रमण, वन विभाग ने 44 लोगों को लिया हिरासत में, दो टैक्ट्रर ट्राली को किया जब्तRAIPUR BREAKING: राजधानी में युवक की चाकू मारकर हत्या, पॉकेटमारी के दौरान हुई वारदातकांग्रेस प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया का दो दिवसीय छत्तीसगढ़ दौरा, कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण कार्यक्रम में लेंगे भागये कैसा नक्शा! पाकिस्तान, बांग्लादेश को भी बताया भारत का हिस्सा, सियासी गलियारों पर मचा बवालबड़ी खबर: अब तक का सबसे बड़ा ONLINE FRAUD, राजधानी में रिटायर्ड इंजीनियर हुए शिकार, 3 बैंक खातों से जीवन भर की पूंजी उड़ा ले गया ठगRAIPUR: शादीशुदा महिला को नशीली दवाई पिलाकर किया बलात्कार, जान से मारने की भी दी धमकी, आरोपी गिरफ़्तारGANGRAPE: रायपुर में एक और मामला आया सामने, 15 वर्षीय नाबालिग को चावल दिलाने के बहाने सुनसान जगह ले जाकर किया सामूहिक बलात्कार, 2 आरोपी गिरफ़्तार

WhatsApp, Facebook और Twitter हुए बैन, जानिए क्या है वजह…

Mahendra Kumar SahuApril 17, 20211min


पाकिस्तान सरकार ने शुक्रवार को फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर और यूट्यूब जैसे बड़े सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को बैन कर दिया। यह फैसला एक कट्टरपंथी धार्मिक संगठन के हिंसक प्रदर्शनों के बाद लिया गया। सरकार को डर था कि हिंसा भड़काने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया जा सकता है। इन सभी प्लेटफॉर्म्स पर लगाई गई रोक सिर्फ 4 घंटों के लिए थी। हिंसा फैलाने के आरोप में संगठन को भी सरकार की तरफ से अब प्रतिबंधित कर दिया गया है।

 

 

क्या है पूरा मामला
दरअसल तहरीक-ए-लबैक पाकिस्तान (टीएलपी) नाम का संगठन पर हिंसा फैलाने के आरोप है। यह संगठन सरकार पर फ्रांस में पिछले साल प्रकाशित कथित ईश निंदात्मक कार्टून को लेकर वहां के राजदूत को निष्कासित करने का दबाव बनाना चाहता था। टीएलपी ने अपने मुखिया साद हुसैन रिजवी की गिरफ्तारी के बाद सोमवार को देशव्यापी प्रदर्शन शुरू कर दिए थे। सरकार ने तीन दिन के हिंसक प्रदर्शनों के बाद बृहस्पतिवार को संगठन पर बैन लगा दिया।

 

 

7 की मौत, कई घायल
बता दें कि टीएलपी समर्थकों की कई शहरों और कस्बों में इस हफ्ते की शुरुआत में पुलिस से हिंसक झड़प हुई। इसमें सात लोगों की मौत हो गई और करीब 300 पुलिसकर्मी घायल हो गए। शुक्रवार की नमाज के बाद प्रदर्शनों को रोकने के लिए, आंतरिक मामलों के मंत्रालय ने पाकिस्तान दूरसंचार प्राधिकरण (पीटीए) को सुबह 11 बजे से दोपहर तीन बजे तक चार घंटे के लिए सोशल मीडिया की सेवाओं को बंद रखने का निर्देश दिया।

 

 

 

पीटीए ने सेवाओं पर रोक के कारण नहीं बताए, लेकिन आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि ऐसी आशंका थी कि प्रदर्शनकारी प्रदर्शनों के आयोजन के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर सकते हैं।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories