ताज़ा ख़बर
मैट्स विधि विद्यालय ने मनाया संविधान दिवस, कहा – संविधान हमारी पहचान इसकी रक्षा करें..इन एक्ट्रेस के ब्लाउज पर मचा बवाल, जमकर ट्रोल हुई ये अभिनेत्रियां, एक की तो सरेआम हुई थी बेइज्जती..तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर ने गुपचुप तरीके से की सगाई, मैच के दौरान मंगेतर को अचानक किया था प्रपोस…ऐसी दीवानगी देखी नही कभी, अनिल कपूर करते है कंगना रणौत से बेइंतहा मोहब्बत, करण के शो मे कहा – कंगना के लिए मेैं अपनी पत्नि को…सोनहत मण्डल कार्यसमिति बैठक हुई संपन्न, इन मुद्दों पर हुई चर्चाछात्रों के लिए राहत की खबर, पेपर लीक के बाद यूपीटीईटी परीक्षा की नई तारीख पर लगी मुहर बड़े सड़क हादसे का शिकार हुए शेन वार्न, गंभीर हालत में अस्पताल में किये गए भर्तीउत्तर से आ रही सर्द हवा से छत्तीसगढ़ में अभी और गिरेगा तापमानलालू यादव की तबियत बिगड़ने पर बेटे तेजस्वी का सामने आया बड़ा बयान, स्वास्थय को लेकर कही ये बात …सोमवार के दिन सूर्य की तरह चमक उठेगी इन राशियों की किस्मत, पढ़ें 29 नवंबर का राशिफल

भूखे गरीबों का पेट भरने वाला किशोर हार गया कोरोना से जंग, अंतिम समय वीडियो में बताया कोरोना से मौत का दर्द… सांथ ही सबको दे गया बड़ी सीख

AgencyApril 16, 20211min


उत्तरप्रदेश, वाराणासीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में गरीब व असहायों की मदद के लिए रोटी बैंक का संचालन करने वाले गरीबों के भैया किशोर कांत तिवारी का गुरुवार को निधन हो गया. बताया जा रहा है किशोर कोरोना से संक्रमित हो गए थे. किशोर ने अपने फेसबुक में लाइव आकर बताया कि आखिर कोरोना का संक्रमण कितना दर्दनाक होता है.

किशोर शुरूआती दिनों में बनारस की गलियों में घूम-घूम कर लोगों के घरों से खाना इकट्ठा कर गरीब लोगों के लिए भोजन जुटाकर सभी का पेट भरने का काम करते थे. उसके बाद किशोर ने रोटी बैंक की शुरुआत कर गरीब लोगों का पेट भरने का काम शुरू किया. पिछले साल कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन में किशोर ने शोसल मीडिया से भी लोगों से मदद मांगकर भूखे गरीब लोगों को घरों तक खाना पहुंचाने का काम किया था.

 

किशोर के मिशन से जुड़ने लगे लोग

 

करीब 15 दिनों तक उन्होंने यह काम किया. इसके बाद वह घर-घर जाकर खाना मांगते और रात में उसे गरीबों में बांटते. इस दौरान कुछ ने ताने मारे तो कुछ ने साथ भी दिया. सामने घाट पर रोटी बैंक संस्था के नाम से कार्यालय बनाया. सुंदरपुर से व सनबीम भगवानपुर के हॉस्टल से रोजाना 50 लोगों का खाना मिलने लगा. वह अपने स्टूडेंट रोशन पटेल के साथ बिना गैप किए बांटते रहे. अब बनारस में संस्था के पास 12 लोगों की टीम है

बीमार होने के बाद कहां था किशोर

 

बताया जा रहा है कि पिछले 5 दिनों से हालत खराब होने पर किशोर कांत ने दो प्राइवेट अस्पताल में इलाज कराया। दो दिन पहले ही उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई, जिसके बाद उनकी हालत और खराब होती गई। हालत बिगड़ने पर किशोर कांत को रविंद्रपुरी स्थित एक निजी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था.

 

लेकिन आज किशोर कोरोना से जंग लड़ते हुए लोगों के इस मैसेज के माध्यम से इंसानियत की सीख दे गया. किसोर की कोरोना की मौत हो गई. हां आज गरीबों का भईया, बनारस की गलियों में रोटी बैंक से भूखों का पेट भरने वाला किसोर नहीं रहा.

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें

Contact Our Chief Editor Mahendra Kumar Sahu

H14, dhehar city, gayatri nagar, raipur chhattisgarh, 492007