ताज़ा ख़बर
ताजा रिपोर्ट : भारत की जीडीपी ग्रोथ में भारी कटौती, बढ़ सकता है सरकार पर कर्ज!CG BIG BREAKING : छत्तीसगढ़ में कोरोना के बाद अब ब्लैक फंगस ने दी दस्तक, 15 मरीज एम्स में भर्ती, ज्यादातर मरीजों के आंखों में इंफैक्शनबड़ी खुशखबरी : इस अक्षय तृतीया आपके खाते में आएगा 2000 रुपये, जानें कैसे मिलेगा इसका लाभ, पीएम मोदी ने योजना को दी हरी झंडीशेयर बाजार : बैंकिंग, तेल एवं बिजली में दिख रहा उछाल, अधिकतर एशियाई बाजारों में गिरावट दर्ज, एनटीपीसी 4.40 फीसदी चढ़ासाइंटिस्ट की चेतावनी, भारत में नहीं थमेगा आसानी से कोरोना, जुलाई तक थमने की संभावनाSHARE MARKET : लाल निशान पर खुला आज बाजार, सेंसेक्स में भी आई गिरावटBREAKING : पुलिस अधीक्षक ने की बड़ी कार्यवाही : महामारी के बीच ड्यूटी से गैरहाजिर रहने वाले 15 अधिकारी-कर्मचारी निलंबितEXCLUSIVE : 25 सालों में पहली बार गर्मी ने मई में दिलायी राहत, बिहार में देखे जाते रहे हैं ऐसे मौसम, जानें क्या है वजह…BIG BREAKING : केमिकल फैक्टरी में लगी भीषण आग, लगातार हो रहे बड़े धमाके, मौके पर दमकल की 10 गाड़ियांBIG BREAKING : प्रदेश के इस जिले में कल से तीन दिनों का सख्त लॉकडाउन, कलेक्टर नम्रता गांधी ने दिया आदेश

फिर से लॉकडाउन की ओर बढ़ रहा प्रदेश : टूटने का नाम नहीं ले रहा संक्रमण का चैन, भूखमरी की आशंका से बढ़ रहा पलायन

Mahendra Kumar SahuApril 16, 20211min


 

रायपुर। प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच सख्त लॉकडाउन लगाया गया है। दुर्ग और रायपुर में स्थिति ज्यादा खराब है। जिसके मद्देनजर दुर्ग कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर भुरे ने लॉकडाउन को फिर से बढ़ा दिया है। वहीं राजधानी रायपुर में 9 अप्रैल से 19 अप्रैल तक सख्त लॉकडाउन लगाया गया है। जो अब चार दिन ही शेष बचे हैं। लोगों की निगाह अब भूपेश सरकार की ओर टिकी हुई है। लोगों को अब चिंता सताने लगी है कि आने वाले दिनों में लॉकडाउन को लेकर सरकार क्या फैसला लेने वाला है। वहीं विशेषज्ञों का मानना है कि राजधानी रायपुर में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन ही एक मात्र आॅप्शन है। और कोई आप्शन सरकार के पास शेष नहीं है। रायपुर लॉकडाउन को एक सप्ताह बीतने को आया है। परंतु संक्रमण का चैन टूटने का नाम ही नहीं ले रहा है। प्रदेश में गुरुवार को कोरोना के 15256 नए मामले सामने आए। प्रदेश में अब तक 5 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। महामारी की भयावहता और लंबे लॉकडाउन की आशंका से असंगठित क्षेत्र के कामगार और रेहड़ी-पटरी कारोबारी डरे हुए हैं। प्रदेश में शहरों से गांवों और दूसरे प्रदेशों तक के लिए पलायन शुरू हो चुका है।

 

 

राजधानी में सख्त लॉक डाउन के बाद भी तेजी से संक्रमण फैल रहा है। मरने वाला की संख्या भी तेजी से बढ़ रहा है। ज्यादातर मौतें आॅक्सीजन की कमी के चलते हो रही है। प्रतिदिन लगभग 15 हजार संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं व 100 से अधिक मौतें हो रही है। राजधानी के अस्पतालों में बेड फूल हो गए हैं। जबकि अकेले राजधानी में छोटे-बड़े मिलाकर 100 से अधिक अस्पताल हैं। उसके बावजूद लोग अस्पतालों में बेड के लिए लोग भटक रहे हैं।

 

आपको बता दें कि कई परिवारों में सभी लोग संक्रमित हो गए हैं। जिनमें कुछ लोगों का अस्पताल में ईलाज चल रहा है और कुछ का घरों में उपचार चल रहा है। एक दूसरे का हाल चाल जानने वाला कोई नहीं बचा है। संसाधन की भारी कमी सामने आ रही है। जिससे लोगों की जान भी जा रही है। अस्पतालों के बाहर सुबह से शाम तक परिजनों की चित्कार सुनाई दे रही है।

 

कोरोना का हाल


 

रायपुर शहर में पिछले 24 घंटे में 3438 नए मरीज मिले हैं। 60 लोगों की मौत हुई, अब राजधानी में एक्टिव मरीज 25 हजार 394 हैं। दुर्ग में 1778 नए मरीज, 5 लोगों की जान गई अब यहां एक्टिव मरीज 20986 हैं। बिलासपुर में 1139 नए मरीज मिले, अब यहां एक्टिव मरीज 7829 हैं। राजनांदगांव में 1319 नए मरीज मिले, 2 लोगों की जान गई और यहां एक्टिव केस 11905 हैं। रायगढ़ में 710 नए मरीज मिले, 5 लोगों की जान गई। अब एक्टिव केस 3553 हैं। कोरबा में 892 लोग संक्रमित हुए, अब यहां 5044 एक्टिव मरीज हैं। बलौदाबाजार में 616 नए संक्रमित मिले, यहां 3 लोगों की मौत हुई, यहां 5 हजार 969 एक्टिव मरीज हैं।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories