ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : प्रदेश में कोरोना ने तोड़े सभी रिकार्ड, आज मिले 14 हजार से ज्यादा नए मरीज, 97 लोगों ने तोड़ा दमइस कंपनी ने अपने ग्राहकों को दिया बड़ा तोहफा, 398 रुपये वाले प्लान में किया बदलाव, अब इतने दिनों तक उठा सकते है लाभछत्तीसगढ़ में कोरोना से निपटने अब तक 850 करोड़ आवंटित, सीएम बघेल ने कहा- नहीं होने देंगे संसाधनों की कमीप्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मरीज, छत्तीसगढ़ पहुंची केंद्र की 11 सदस्यीय टीम, अलग अलग जिलों का करेगी दौराBIG BREAKING : धमतरी के बाद अब इस जिले में लॉकडाउन का ऐलान, किराना और सब्जी की दुकानें भी रहेगी बंद, कलेक्टर ने जारी किया आदेशBIG BREAKING : धमतरी के बाद अब इस जिले में लॉकडाउन का ऐलान, किराना और सब्जी की दुकानें भी रहेगी बंद, कलेक्टर ने जारी किया आदेशBIG BREAKING : इस जिले में लगा सबसे लंबा लॉकडाउन, इतने दिनों तक बंद रहेंगे दुकानें, कलेक्टर ने जारी किया आदेशग्रामीण इलाकों में फिर शुरू होगा क्वारंटाइन सेंटर, राज्य सरकार ने सभी कलेक्टरों को जारी किया निर्देशसड़क पर उतरे महापौर ढेबर, कोरोना की दूसरी लहर से लड़ रहे लड़ाईकोरोना पर राजनीतिक बवाल! रमन ने उठाया रोड सेफ्टी पर सवाल, तो कांग्रेस ने बोला जमकर हमला

छत्तीसगढ़ के 7 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को मिला राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन प्रमाण-पत्र

Deepak SahuApril 7, 20211min


 

रायपुर : उत्कृष्ट स्वास्थ्य सेवा और मरीजों को बेहतर इलाज उपलब्ध कराने वाले छत्तीसगढ़ के सात प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन मानक (NQAS – National Quality Assurance Standard) प्रमाण-पत्र प्रदान किया गया है। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की विशेषज्ञों की टीम द्वारा विगत फरवरी माह में इन अस्पतालों में मरीजों के लिए उपलब्ध सेवाओं की गुणवत्ता के परीक्षण के बाद राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन मानक प्रमाण-पत्र के लिए चयन किया गया है।

स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने समर्पित स्वास्थ्य सेवाओं के लिए उत्कृष्टता प्रमाण-पत्र हासिल करने वाले सभी अस्पतालों के अधिकारियों-कर्मचारियों को बधाई दी है। उन्होंने भरोसा जताया है कि ये अस्पताल आगे भी अपनी उत्कृष्टता बरकरार रखते हुए मरीजों की सेवा करेंगे और प्रदेश के दूसरे अस्पतालों के लिए नए प्रतिमान स्थापित करेंगे। उन्होंने इस उपलब्धि के लिए स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणु जी. पिल्लै, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़ और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला सहित संबंधित जिलों के मैदानी अधिकारियों को भी बधाई दी है।

 

 

भारत सरकार के केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा सरगुजा जिले के रघुनाथपुर और लुंड्रा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, रायपुर के मंदिरहसौद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, जांजगीर-चांपा के राहोद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, महासमुंद के पटेवा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, कोरिया के खड़गवां प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और बेमेतरा के देवरबीजा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन प्रमाण-पत्र प्रदान किया गया है। राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन प्रमाण-पत्र प्रदान करने के पूर्व विशेषज्ञों की टीम द्वारा अस्पतालों की ओपीडी, आई.पी.डी, लेबोरेट्री, प्रसव कक्ष, राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों के क्रियान्वयन और जनरल एडमिन व्यवस्था का मूल्यांकन किया गया। मूल्यांकन में खरा उतरने वाले अस्पतालों को ही केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा गुणवत्ता प्रमाण-पत्र जारी किए जाते हैं।

भारत सरकार के विशेषज्ञों द्वारा मरीजों के लिए अस्पताल में उपलब्ध सेवाओं की गुणवत्ता के परीक्षण में लुंड्रा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और मंदिरहसौद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 94-94 प्रतिशत, रघुनाथपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 91 प्रतिशत, राहोद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 86 प्रतिशत, खडगवां प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 85 प्रतिशत, पटेवा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 82 प्रतिशत और देवरबीजा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 75 प्रतिशत अंक मिले हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, छत्तीसगढ़ की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला के नेतृत्व में स्वास्थ्य सेवाओं को जन-जन तक पहुंचाया जा रहा है। कोरोना महामारी के संकट काल में भी इन सात सरकारी अस्पतालों द्वारा राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन प्रमाण-पत्र हासिल करने से प्रदेश के दूसरे अस्पताल भी लोगों को बेहतर सुविधाएं मुहैया कराने को प्रेरित होंगे।

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories