ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : प्रदेश में कोरोना का कहर जारी, आज मिले में 10 हजार से ज्यादा नए मरीज, 82 लोगों ने तोड़ा दमBIG BREAKING : गरियाबंद में लगा 10 दिनों का लॉकडाउन, इन जिलों में भी कुछ देर में जारी होगा आदेशBIG BREAKING : बिलासपुर में 8 दिनों के लिए लॉकडाउन का ऐलान, आवश्क सेवाओं को छोड़कर बाकी सभी दुकानें रहेंगी बंदBIG BREAKING: RSS का पूर्व प्रचारक निकला हवस का पुजारी, 13 साल के बच्चे से कराता था ये कामCG BREAKING : अब इस जिले में लॉकडाउन लगाने की तैयारी, कुछ देर में जारी होगा आदेशBREAKING : प्रदेश में जल्द लग सकता है सम्पूर्ण लॉकडाउन, आज की बैठक में सीएम लेंगे फैसलाIPL 2021: ऋषभ पंत ने धोनी को भी छोड़ा पिछे, कप्तानी के सफर का किया आगाजCORONA BREAKING : प्रदेश में कोरोना ने तोड़े सभी रिकार्ड, आज मिले 14 हजार से ज्यादा नए मरीज, 97 लोगों ने तोड़ा दमइस कंपनी ने अपने ग्राहकों को दिया बड़ा तोहफा, 398 रुपये वाले प्लान में किया बदलाव, अब इतने दिनों तक उठा सकते है लाभछत्तीसगढ़ में कोरोना से निपटने अब तक 850 करोड़ आवंटित, सीएम बघेल ने कहा- नहीं होने देंगे संसाधनों की कमी

अंतरिक्ष में Ingenuity हेलिकॉप्टर भरेगा ऐतिहासिक उड़ान, मंगल की सतह पर देंखें खूबसूरत तसवीरें…

Priyansha LAZARUSApril 5, 20211min


INTERNATIONL: NASA Mars Mission सफलता के सांथ नासा और भी आगे बड़ रहा है. अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA का हेलिकॉप्टर मंगल की सतह पर लैंड कर चुका है. यह पहला रोटरक्राफ्ट है जो दूसरे ग्रह की धरती पर उतरा है, इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुआ कि कोई रोटरक्राफ्ट दूसरे ग्रह की धरती पर उतरा हो. इसके साथ ही यह दूसरे ग्रह की धरती पर उतरने वाला पहला रोटरक्राफ्ट (NASAs Mars Helicopter Ingenuity) बन गया है. मंगल की धरती बेहद ऊबड़-खाबड़ वाली है इसलिए वहां न रोवर जा सकते हैं. और न ऑर्बिटर देख सकते हैं ऐसे में ऐसे रोटरक्राफ्ट की जरूरत होती है जो उड़ कर मुश्किल जगहों पर जा सके और हाई-डेफिनेशन तस्वीरें ले सके. लेकिन इस वक्त मंगल की सर्द रातें रोटरक्राफ्ट के लिए सबसे बड़ी चुनौती बनी हुई है.

टीम न सिर्फ ये देखेगी कि हेलिकॉप्टर (Ingenuity On Mars) कैसा चल रहा है, बल्कि इसके सोलर पैनल, बैटरी की हालत और चार्ज भी चेक करेगी. अगले कुछ दिन तक इन पैमानों को टेस्ट किया जाएगा. इस स्टेप के पूरा होने के बाद इसके रोटर ब्लेड्स को अनलॉक किया जाएगा और फिर इसके मोटर और सेंसर टेस्ट किए जाएंगे. मंगल के 30 दिन (धरती के 31 दिन) बाद इसकी एक्सपेरिमेंटल फ्लाइट की कोशिश होगी.

यह आगे चलकर सौर ऊर्जा से भी चार्ज होगा जो मंगल पर धरती की तुलना में कम है लेकिन इसमें हाई-टेक सोलर पैनल लगे हैं जो यह काम आसान कर देंगे. हालांकि, बाद में इसका तापमान कम रखा जाएगा ताकि बैटरी ज्यादा खर्च न हो. मंगल ग्रह की रात बेहद सर्द भरी होती है. यहां 130 डिग्री F तक तापमान गिर सकता है और पहली रात इसे झेलने के बाद अगले दिन टीम देखेगी कि Ingenuity का प्रदर्शन कैसा रहा.

 

NASA के अनुसार, एक्सपेरिमेंटल फ्लाइट के दौरान हेलिकॉप्टर टेक ऑफ के बाद अगर कुछ दूर भी घूमने में सफल रहा तो ये मिशन 90 % कामयाब होगा. इतना ही नहीं, अगर यह सफलता से लैंड होने के बाद भी काम करता रहा तो चार और फ्लाइट्स टेस्ट की जाएंगी. दरअसल, यह टेस्ट पहली बार किया जा रहा है इसलिए वैज्ञानिक इसे लेकर बेहद उत्साहित हैं और हर पल कुछ नया सीखने की उम्मीद में हैं.

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories