ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : प्रदेश में कोरोना ने तोड़े सभी रिकार्ड, आज मिले 14 हजार से ज्यादा नए मरीज, 97 लोगों ने तोड़ा दमइस कंपनी ने अपने ग्राहकों को दिया बड़ा तोहफा, 398 रुपये वाले प्लान में किया बदलाव, अब इतने दिनों तक उठा सकते है लाभछत्तीसगढ़ में कोरोना से निपटने अब तक 850 करोड़ आवंटित, सीएम बघेल ने कहा- नहीं होने देंगे संसाधनों की कमीप्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मरीज, छत्तीसगढ़ पहुंची केंद्र की 11 सदस्यीय टीम, अलग अलग जिलों का करेगी दौराBIG BREAKING : धमतरी के बाद अब इस जिले में लॉकडाउन का ऐलान, किराना और सब्जी की दुकानें भी रहेगी बंद, कलेक्टर ने जारी किया आदेशBIG BREAKING : धमतरी के बाद अब इस जिले में लॉकडाउन का ऐलान, किराना और सब्जी की दुकानें भी रहेगी बंद, कलेक्टर ने जारी किया आदेशBIG BREAKING : इस जिले में लगा सबसे लंबा लॉकडाउन, इतने दिनों तक बंद रहेंगे दुकानें, कलेक्टर ने जारी किया आदेशग्रामीण इलाकों में फिर शुरू होगा क्वारंटाइन सेंटर, राज्य सरकार ने सभी कलेक्टरों को जारी किया निर्देशसड़क पर उतरे महापौर ढेबर, कोरोना की दूसरी लहर से लड़ रहे लड़ाईकोरोना पर राजनीतिक बवाल! रमन ने उठाया रोड सेफ्टी पर सवाल, तो कांग्रेस ने बोला जमकर हमला

RAIPUR BREAKING : फाइनेंस कंपनियों ने वसूली के लिए अपनाया नया तरीका, कर्जदार को बुलाकर गुर्गों ने कार में तोड़फोड़ कर की बेदम पिटाई, FIR दर्ज

Som dewanganMarch 7, 20211min


 

रायपुर,कुणाल राठी,7 मार्च 2021। राजधानी रायपुर में फाइनेंस कंपनियों के वसूली एजेंट अब अपनी गुंडागर्दी में उतर चुके है।

 

मामला तेलीबांधा थाना क्षेत्र का है जहां स्काई गार्डन अवंति विहार निवासी विपुल सिंह ठाकुर को बात करने के बहाने बुलाकर वसूली एजेंट शाहिद अली और दानिश खान ने तेलीबांधा ओवर ब्रिज के नीचे विपुल व उसके भाई राहुल की बेदम पिटाई कर दी और कार में भी तोड़फोड़ की। पुलिस ने पीड़ित विपुल की शिकायत पर दोनों आरोपियों के खिलाफ एक्सटॉर्शन (अवैध वसूली) सहित गंभीर धाराओं के तहत अपराध दर्ज कर गिरफ़्तार कर लिया है।

 

बता दे कि इन दिनों राजधानी के फाइनेंस कंपनियों ने कर्जदारों से वसूली के लिए इसी प्रकार के गुर्गे पाल रखे है जो समय पर पैसा नहीं दे पाने पर घरघुसकर मारपीट,गाली-गलौच सहित जान से मारने की धमकी भी देते है। परंतु पीड़ितों द्वारा पुलिस में शिकायत नहीं करने के कारण रायपुर पुलिस भी इन गुंडों पर शिकंजा नहीं कस पाती।

 

गुंडागर्दी कर पैसा वसूलना गैरकानूनी,अगर कर्जदार पैसा ना दे तो सूट फ़ाइल करे- अधिवक्ता श्रीवास्तव TCP 24 न्यूज़ संवाददाता ने जब इस मामले में शहर के वरिष्ठ अधिवक्ता चंद्रशेखर श्रीवास्तव से बात की तो उन्होंने कहा कि फिनामस कंपनियों के वसूली एजेंट द्वारा इस प्रकार का कृत्य पूर्णतः गैरकानूनी है। अगर कर्जदार पैसा ना दे तो कंपनी को न्यायालय में रिकवरी सूट फ़ाइल करना चाहिए परंतु इसमें लगने वाली स्टाम्प ड्यूटी से बचने के लिए फिनामस कंपनी गुर्गे पाल रही है। पैसा सिविल प्रकरण से भी वसूला जा सकता है, उन्हें मारपीट का अधिकार नहीं है।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories