ताज़ा ख़बर
इन एक्ट्रेस के ब्लाउज पर मचा बवाल, जमकर ट्रोल हुई ये अभिनेत्रियां, एक की तो सरेआम हुई थी बेइज्जती..तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर ने गुपचुप तरीके से की सगाई, मैच के दौरान मंगेतर को अचानक किया था प्रपोस…ऐसी दीवानगी देखी नही कभी, अनिल कपूर करते है कंगना रणौत से बेइंतहा मोहब्बत, करण के शो मे कहा – कंगना के लिए मेैं अपनी पत्नि को…सोनहत मण्डल कार्यसमिति बैठक हुई संपन्न, इन मुद्दों पर हुई चर्चाछात्रों के लिए राहत की खबर, पेपर लीक के बाद यूपीटीईटी परीक्षा की नई तारीख पर लगी मुहर बड़े सड़क हादसे का शिकार हुए शेन वार्न, गंभीर हालत में अस्पताल में किये गए भर्तीउत्तर से आ रही सर्द हवा से छत्तीसगढ़ में अभी और गिरेगा तापमानलालू यादव की तबियत बिगड़ने पर बेटे तेजस्वी का सामने आया बड़ा बयान, स्वास्थय को लेकर कही ये बात …सोमवार के दिन सूर्य की तरह चमक उठेगी इन राशियों की किस्मत, पढ़ें 29 नवंबर का राशिफलbox office report : नही चला जॉन अब्राहम का जादू, तीन दिनो में ही बॉक्स ऑफिस पर धराशाई हुई सत्यमेव जयते 2, कमाई जानकर उड़ जाएंगे होश..

CYBER CRIME से आम जनता हो रही है परेशान, आप भी हो जाए सावधान, देखें वीडियो

Mahendra Kumar SahuFebruary 12, 20211min


 

नितिन नामदेव,रायपुर। छत्तीसगढ़ में साइबर अपराध के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. प्रदेश की पुलिस साइबर अपराध को लेकर सजग नजर आ रही है. इसके लिए लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं. साथ ही पुलिस सभी केस से निपटने में लगी हुई है. TCP 24 न्यूज टीम ने कुछ आम लोगो से व सायबर एक्सपर्ट से बात की तो उन्होंने बताया कि लोग ऑनलाइन ठगी के शिकार क्यों होते है, और उससे बचने के तरीकों से अवगत कराया।

बता दे की पुलिस ने साल 2020 के आपराधिक मामलों के आंकड़े बताए हैं. जिसमें साल 2019 के मुकाबले सभी मामलों में कमी देखी गई है, लेकिन साइबर अपराध के मामलों की बात की जाए, तो साल दर साल ये आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. साल 2019 में जहां साइबर अपराध के 558 मामले देखे गए थे, वहीं साल 2020 में 31 अक्टूबर तक साइबर अपराध के 660 मामले सिर्फ राजधानी में दर्ज किए गए. जिसमें से कई मामले अभी तक सॉल्व नहीं हो पाए हैं.

पुलिस ज्यादातर साइबर आपराधिक मामलों को टेकल करने में सक्षम

अभी तक जितने भी साइबर क्राइम के अपराध हो रहे हैं, कहीं न कहीं पुलिस उसे टैकल करने में काफी हद तक सक्षम हो चुकी है. पिछले 2 से 3 साल में फर्जी कॉल की अगर बात करें तो पुलिस ने इन्हें सॉल्व करने में सफलता पाई है. वहीं फॉरेंसिक क्राइम जैसे कुछ ऐसे केस हैं, जिसे सॉल्व करने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है. ये सिर्फ छत्तीसगढ़ की बात नहीं, पूरे भारत में ऐसे बड़े साइबर अपराध के मामलों को टैकल करने में पुलिस को समस्या होती है. इसलिए भारत सरकार या छत्तीसगढ़ सरकार साइबर एक्सपर्ट का इन्वॉल्वमेंट ऐसे मामलों में वालंटियर की तरह कर रही है. ताकि इस तरह के मामले जल्दी सॉल्व हो सकें.

स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर बनाकर किया जाता है काम

पुलिस के पास एक SOP (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर) है, जिसे पुलिस फॉलो करती है. जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप या सोशल मीडिया से कोई भी क्राइम हुआ, तो सबसे पहले पुलिस कंपनी से आईपी एड्रेस निकालती है, उसके बाद उस मोबाइल कंपनी को भेजती है. अगर मोबाइल पर अपराध होता है, तो उसका सीटीआर डाटा लेना और उसको फिर डाटा से मैच करना कि इस अपराध के पीछे कौन हो सकता है, यह सिंपल मेथड होता है, जिसे पुलिस फॉलो करती है. लेकिन पुलिस को सबसे ज्यादा समस्या डाटा को इकट्ठा करने में होती है. जैसे कहीं फॉरेन का आईपी ऐड्रेस या जो इंटरनेट वॉइस कॉल हो वहां पुलिस को वॉइस कॉल ट्रेस करने में समस्या होती हैं।

छत्तीसगढ़ में साइबर अपराध के पिछले 3 साल के आंकड़े-

2018 – 348 मामले – 124 केस सॉलव – 18 लाख 71 हजार 146 रिफंड रकम.

2019 – 548 मामले – 155 साल्व – 38 लाख 836 रिफंड रकम.

2020 – 660 मामले – 129 साल्व – 22 लाख 25 हजार 939.

वहीं सायबर एक्सपर्ट आर के साहू ने बताया कि पिछले कुछ सालों से ऑनलाइन ठगी के मामले सामने आ रहे है. इनमें कुछ मामले ओएलएक्स, फ्लिपकार्ट से ऑर्डर संबंधी मामले रहते हैं इसमें लोग जो आर्डर करते तो है पर उनका किया हुआ आर्डर आता नहीं है. इससे संबंधित मामले आते हैं जिसको लेकर पुलिस लगातार जागरूकता अभियान चला रही है वह लोगों को इसे सचेत रहने के उपाय बता रहे हैं ताकि लोग ऑनलाइन का शिकार होने से बचें।

अंजान फोन का लोग हो रहे शिकार

आम लोगों से बातचीत पर कुछ लोगों ने बताया कि लगातार ऐसे मामले आ रहे हैं कि लोगो के पास अनजान कॉल करके बोलते हैं कि आपका क्रेडिट कार्ड एक्सपायर होने जा रहा है या फिर आपकी लॉटरी लगने वाली है बैंक का क्रेडिट कार्ड एक्सपायरी होने वाला है जैसे संबंधित कॉल आते हैं और ओटीपी मांगते है व ओटीपी नहीं देने पर डराते है की खाता बंद या कार्ड ब्लॉक होने की बात करते है. जिससे लोग डरकर ओटीपी मांगते है वह उनके खाते पैसा कट जाता है। जिससे लोग ऑनलाइन ठगी का शिकार हो रहे है।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें

Contact Our Chief Editor Mahendra Kumar Sahu

H14, dhehar city, gayatri nagar, raipur chhattisgarh, 492007