ताज़ा ख़बर
डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही, इलाज के लिए घंटों तड़पती रही मजदूर की बेटी, जमीन पर तोड़ा दमCORONA BREAKING : प्रदेश में आज मिले 235 नए कोरोना संक्रमित मरीज, 3 मरीजों की मौत, जानिए क्या रहा आपके जिले का हाल?BIG BREAKING : धनवेंद्र जायसवाल और मनोज त्रिवेदी होंगे राज्य सूचना आयोग के नए आयुक्त, राज्यपाल अनुसूईया उईके ने लगाई मुहरबड़ी खबर : बगैर मास्क पहने बैठक में पहुंचे अफसरों पर गिरी गाज, कलेक्टर ने लगाई फटकार, फिर लगाया इतना जुर्मानाBIG BREAKING : वन विभाग में बड़ा फेरबदल, कई अधिकारियों को किया गया इधर से उधर, देखिये पूरी लिस्टOMG: चार लड़कों के साथ भागी लड़की, शादी को लेकर हुई कन्‍फ्यूज, फिर ऐसे किया फैसलाBIG BREAKING : CG VYAPAM ने प्रवेश परीक्षाओं के लिए तारीखों का किया ऐलान, अप्रैल से शुरू होगी आवेदन प्रक्रिया, जानिए पूरा शेड्यूलBIG BREAKING : IED ब्लास्ट की चपेट में आकर CAF हेड कांस्टेबल शहीद, इंद्रावती नदी पर बन रहे पुल की सुरक्षा में थे तैनातआतंकियों ने तीन महिला पत्रकारों को मारी गोली, चैनल से घर लौटते वक्त दिया घटना को अंजामजॉइंट डायरेक्टर को आखरी बार मंत्रालय में देखा गया था, फिर नागपुर में मिली लाश, देखे CCTV फुटेज

BIG BREAKING : सरकारी सेवा में आये इन कर्मचारियों को नहीं मिलेगा पेंशन का लाभ, राज्य सरकार ने पेंशन स्कीम को किया बंद

Som dewanganJanuary 27, 20211min

 


 

भोपाल : मध्यप्रदेश सरकार के अंतर्गत काम करने वाले सरकारी कर्मचारियों के लिए को अब पेंशन का लाभ नहीं मिलेगा। एक जनवरी 2005 के बाद से शासकीय कार्यो में अपनी सेवा दे रहे कर्मचारियों को राज्य सरकार ने पेंशन लाभ की सीमा से हटा दिया है। राज्य सरकार ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। राज्य सरकार के इस आदेश से करीब चार लाख से अधिक कर्मचारी प्रभावित होंगे। जिसमें विभिन्न विभागों के कर्मचारी, अध्यापक और पंचायत सचिव शामिल हैं।

 

READ MORE  : 1 फरवरी से होने वाले है ये बड़े बदलाव, जिसका आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर

 

दरअसल , राज्य सरकर ने एक जनवरी 2005 से सरकारी कर्मचारियों के लिए लागू पुरानी पेंशन स्कीम समाप्त कर दी गई है। इस अवधि के बाद नौकरी में आए कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन लागू करने की मांग को लेकर मध्य प्रदेश वित्त विभाग को आवेदन किया था। इसमें बड़ी संख्या में अध्यापकों ने भी जिला शिक्षा अधिकारियों के मार्फत लोक शिक्षण संचालनालय को आवेदन भेजे थे। सबसे अधिक आवेदन भोपाल, ग्वालियर, शाजापुर, शिवपुरी, मंदसौर, उज्जैन, रीवा, दतिया, नीमच और रायसेन से भेजे गए थे।

 

READ MORE :मुख्यमंत्री ने गौठान में संचालित गतिविधियों व उत्पादों का किया अवलोकन

 

अध्यापकों के आवेदन पर लोक शिक्षण संचालनालय ने वित्त विभाग से इस संबंध में राय ली थी… इन आवेदनों पर वित्त विभाग ने स्पष्ट कर दिया है कि प्रदेश में पेंशन नियम 1972 लागू नहीं हैं। ऐसे में एक जनवरी 2005 के बाद सरकारी सेवा में आए किसी भी वर्ग के कर्मचारी को पुरानी पेंशन नहीं दी जा सकती। वित्त विभाग के इस निर्णय पर कर्मचारी संगठनों ने नाराजगी जाहिर करते हुए सरकार से इस फैसले पर पुनर्विचार करने की अपील की है।

 

READ MORE : BIG BREAKING : 4 IAS अफसरों का हुआ तबादला, राज्य सरकार ने जारी किया आदेश

 

वहीं सत्ताधारी पार्टी बीजेपी का तर्क है कि जब देश में ही पुरानी पेंशन बंद कर दी गई है, तो प्रदेश में कैसे संचालित रह सकती है। वहीं कांग्रेस ने आरोप लगाते हुए कहा है कि प्रदेश के साथ देश में कांग्रेस की सरकार आई तो इस मामले पर गंभीरता से सुनवाई होगी।

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories