ताज़ा ख़बर
बड़ी खबर : DPI ने DEO की रिपोर्ट पर प्राचार्य को सस्पेंड करने का दिया निर्देश, निरिक्षण के दौरान उजागर हुई थी कई खामियांगाड़ी से उतरते ही इस मशहूर एक्ट्रेस ने सड़क पर किया जोरदार डांस, Video हुआ वायरलशादी के बाद सुहागरात पर भारतीय कपल्स सबसे पहले करते है ये काम, जानकर आपको भी होगी हैरानीUAPA मामले में 122 लोग बरी, 20 साल पहले हुए थे गिरफ्तारBIG BREAKING : BJP में शामिल हुए मिथुन चक्रवर्ती, ब्रिगेड मैदान पर लहराया पार्टी का झंडाबड़ी खबर : चार जिलों में नाइट कर्फ्यू लागूू, तेजी से बढ़ते संक्रमण के बाद राज्य सरकार ने लिया फैसलाCG BREAKING : तेज रफ्तार पिकअप ने दो महिलाओं को कुचला, मौके पर मौत, एक युवक भी गंभीर रूप से घायलRAIPUR BREAKING : फाइनेंस कंपनियों ने वसूली के लिए अपनाया नया तरीका, कर्जदार को बुलाकर गुर्गों ने कार में तोड़फोड़ कर की बेदम पिटाई, FIR दर्जCG BREAKING : छोटी सी लापरवाही ने ले ली जान, खुला रह गया था स्कूटी का स्टैंड, हादसे में 8 साल के बेटे समेत मां की मौत2021 में NETFLIX पर रहेगी फिल्मों की भरमार, ये फिल्मों पर रहेगी लोगों की नजर, देखिए पूरी लिस्ट

बड़ी खबर : अब ट्रेनों में भी मिलेगा शराब, राज्य सरकार ने किया नियमों में बदलाव, नई गाइडलाइन जारी

Som dewanganJanuary 24, 20211min


 

लखनऊ: राज्य सरकार (State government) ने बार लाइसेंस (Bar license) की प्रक्रिया को और सरल करते हुए ट्रेन और क्रूज में विदेशी शराब (Foreign liquor) बेचने की अनुमति दे दी हैं। उत्तर प्रदेश के आबकारी विभाग (Excise Department of Uttar Pradesh) के प्रमुख सचिव संजय भूसा रेड्डी के मुताबिक आबकारी नियमावली में रेलवे प्रशासन (Railway administration) के पर्यवेक्षक और नियंत्रण के अधीन या उनके द्वारा अनुरक्षित विशेष प्रायोजन की रेल गाड़ियों या प्राधिकारी द्वारा अनुमोदित क्रूजों में विदेशी शराब बेचने के लिये एफएल-8 प्रपत्र में लाइसेंस स्वीकृत करने का भी प्रावधान किया गया है। अब होटल, रेस्तरां, क्लब, बार और एयरपोर्ट बार लाइसेंसों की स्वीकृति शासन के स्थान पर आबकारी आयुक्त देंगे।

 

READ MORE : अलीबाग जाते समय वरुण धवन की कार का हुआ ऐक्सिडेंट, बाल-बाल बचे दूल्हे राजा

 

बता दें कि पहले कि प्रक्रिया में जिलाधिकारी के पास आवेदन करना होता था। जिसे जिलाधिकारी अपनी संस्तुति लगाकर इसे मंडलायुक्त को भेजते थे। मंडलायुक्त की अध्यक्षता में बार कमेटी गठित होती थी जिसमें मंडलायुक्त के अलावा आबकारी विभाग के उपायुक्त व क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी सदस्य होते थे। यह समिति अपनी संस्तुति देने के बाद इसे आबकारी आयुक्त को भेजती थी। पुरानी व्‍यवस्‍था के तहत आबकारी आयुक्त अपनी संस्तुति देकर इसे प्रमुख सचिव आबकारी को भेजते थे। इसके बाद प्रमुख सचिव अपनी संस्तुति लगाकर इसे आबकारी मंत्री को भेजते थे, जिसके बाद अंत में आबकारी मंत्री इसे अपनी स्वीकृति देते थे।

 

READ MORE : CG BREAKING : चलती कार में अचानक लगी भीषण आग, सवार लोग कूद कर बचाए जान

 

नए प्रावधानों में बार कमेटी समाप्त


 

सरकार ने उत्तर प्रदेश आबकारी (बार लाइसेंसों की स्वीकृति) नियमावली 2020 में बदलाव करते हुए नई नीति में बार कमेटी को समाप्त कर दिया है। नई व्यवस्था में राज्‍य सरकार ने जिलाधिकारी अब अपनी संस्तुति सीधे आबकारी आयुक्त को भेजेंगे और आबकारी आयुक्त इसकी स्वीकृति देंगे।

 

READ MORE : RAIPUR BREAKING : सिरफिरे युवक ने 7 गाड़ियों को किया आग के हवाले, CCTV कैमरे में कैद हुई वारदात

 

अधिकारियों के मुताबिक, संशोधिति नियमावली में रेलवे प्रशासन के पर्यवेक्षण और नियंत्रण के अधीन या उसके द्वारा अनुरक्षित विशेष प्रयोजन की रेलगाड़ियों या प्राधिकारी द्वारा अनुमोदित क्रूजों में विदेशी मदिरा विक्रय करने के लिए लाइसेंस स्वीकृत करने का भी प्रावधान किया गया है। वहीं उतर प्रदेश आबकारी नियमावली 2020 के प्रावधानों के अनुसार जिला स्तरीय बार समिति की ओर से संस्तुत प्रकरणों पर अधिकतम 15 कार्य दिवसों के भीतर बार अनुज्ञापनों को स्वीकृत किया जाना अनिवार्य कर दिया गया है।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories