ताज़ा ख़बर
किसान आंदोलन में हिंसा को लेकर कृषि मंत्री चौबे का बड़ा बयान, कहा-बीजेपी व केंद्र सरकार की सोची समझी साजिशTODAY GOLD PRICE : 49 हजार रूपए से नीचे आया सोना, जानें आज का ताजा भावBREAKING: पत्रकारिता विश्वविद्यालय में गरमाया माहौल, छात्रों ने कुलपति के चेंबर का किया घेराव, कुलपति गायब!, ये लगाया आरोप,तुहंर सरकार, तुहंर द्वार अभियान शुरू: पार्षदों के साथ महापौर ने निकाली साइकिल रैली, 35 दिन तक नहीं चलेगी निगम की 200 गाड़ियांRAIPUR BREAKING: खड़ी ट्रक से 4 लाख का माल चोरी,हिंदुस्तान यूनिलीवर के ट्रक ड्राइवर ने दर्ज करवाई रिपोर्टBIG BREAKING : बर्खास्त आरक्षक की निर्मम हत्या, घर पर सोते समय अज्ञात हमलावारों ने घटना को दिया अंजामअंकिता लोखंडे ने हाथों में लगाई मेहंदी, फोटोज ने सोशल मीडिया पर मचाई धूम, फैंस ने उठाये सवालBIG BREAKING : तेज रफ्तार ट्रेलर ने यात्रियों से भरी जीप को मारी जोरदार टक्कर, 8 लोगों की दर्दनाक मौत, चार अन्य गंभीर रूप से घायलबड़ी खबर : 50 करोड़ FB यूजर्स का फोन नंबर टेलीग्राम पर बेचे जा रहे हैं, जानिए क्या है पूरा मामलाबड़ी खबर : इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर का बड़ा दावा, ये खिलाड़ी तोड़ सकता है सचिन तेंदुलकर के सर्वाधिक टेस्ट रनों का रिकॉर्ड

कारोबार में टाटा ग्रुप का बजा डंका, रिलाइंस को पीछे छोड़ बना नंबर वन

Sameer VermaJanuary 14, 20211min


मुंबई : देश के टॉप कारोबारियों में टाटा ग्रुप में बाजी मारी. अम्बानी के रिलायंस ग्रुप को पछाड़ते हुए मार्केट में नंबर वन का डंका पीटा है. दोनों कारोबारियों के बीच आगे निकलने की होड़ बरसों पुरानी है. टाटा ने अम्बानी से 6 महीने की बादशाहत छीन ली है. पिछले साल जुलाई में रिलांयस ने टाटा ग्रुप को पछाड़ते हुए देश के टॉप कारोबारी घराने की गद्दी पर कब्जा किया था.

नमक से लेकर सॉफ्टवेयर तक बनाने वाला Tata Group अपनी फ्लैगशिप कंपनी TCS के शानदार प्रदर्शन के दम पर मार्केट कैप के लिहाज से एक बार फिर देश का सबसे बड़ा समूह बन गया है. जबकि मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाला रिलायंस ग्रुप बाजार मार्केट वैल्यू के मामले में अब तीसरे नंबर पर है. दूसरे नंबर HDFC ग्रुप है. टाटा ग्रुप की कंपनियों का कुल मार्केट कैप आज 17 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया है. जो कि HDFC Group तकरीबन 2 लाख करोड़ रुपये ज्यादा है, अभी HDFC Group का मार्केट कैप 15.25 लाख करोड़ रुपये है.

READ MORE : देखें मजेदार VIDEO : जब घोड़े पर सवार होकर सामान देने पहुंचा Amazon का डिलीवरी मैन

Tata Group की कंपनियों का प्रदर्शन बीते एक साल के दौरान शानदार रहा है, एक साल में ग्रुप का मार्केट कैप 42 परसेंट से ज्यादा बढ़ा है. कमाल की बात ये है कि टाटा ग्रुप का मार्केट कैप बीते एक महीने में 13 परसेंट बढ़ा है, यानी एक महीने में ग्रुप ने अपने मार्केट कैप में 1.9 लाख करोड़ रुपये जोड़े हैं. जबकि Tata Group के 42 पररेंट के मुकाबले मुकेश अंबानी की रिलायंस ग्रुप का मार्केट कैप 27 परसेंट बढ़ा है, HDFC Group सिर्फ 11 परसेंट बढ़ा है. टाटा ग्रुप के मार्केट कैप में आई इस तेजी की सबसे बड़ी वजह ये है कि उसकी 28 लिस्टेड कंपनियों में से 18 कंपनियों ने बीते महीने आउटपरफॉर्म किया.

READ MORE : आपकी सुरक्षा किसके हाथ? : यूजर्स लगातार हो रहे ठगी के शिकार, आपकी सरकार कितनी जिम्मेदार?

आपको बता दें कि जुलाई 2020 में Tata Group की 17 सूचीबद्ध कंपनियों (listed companies) का कुल मार्केट कैप (M-Cap) 11.32 लाख करोड़ रुपये था, जबकि रिलायंस (Reliance Industries) का मार्केट कैप 13 लाख करोड़ रुपये के पार चला गया था, तब रिलांयस ग्रुप ने मार्केट कैप के लिहाज से टाटा ग्रुप को पछाड़ दिया था और देश का नंबर एक ग्रुप बन गया था.

इसके बाद 16 सितंबर को रिलायंस का मार्केट कैप 16 लाख करोड़ के रिकॉर्ड स्तर को पार कर गया, तब रिलायंस देश की पहली कंपनी थी जिसने 16 लाख करोड़ रुपये का मार्केट कैप पार किया था. RIL के शेयर ने भी उस वक्त 2,368 का रिकॉर्ड हाई बनाया था.  लेकिन, इसके बाद रिलायंस के शेयरों में लगातार गिरावट आने लगी, जिससे मार्केट कैप 12.22 लाख करोड़ रुपये ही रह गया.

दूसरी ओर, TCS समेत टाटा ग्रुप की कंपनियों टाटा मोटर्स और टाटा स्टील में जबरदस्त तेजी देखने को मिली, जिससे टाटा ग्रुप का कुल मार्केट कैप 16.69 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया. जो रिलायंस ग्रुप से करीब 36% ज्यादा है. TCS के शेयरों में जारी इस तेजी की वजह है कि कोरोना महासंकट के दौरान भी कंपनी ने कई बड़े सौदे किए. स्टील की कीमतें बढ़ने से टाटा स्टील को भी जबरदस्त फायदा हुआ है. टाटा मोटर्स के शेयर भी जुलाई के बाद 100% से ज्यादा बढ़ चुके हैं. दरअसल रिलायंस के लिए Jio बड़ा गेमचेंजर साबित हुआ. फेसबुक, गूगल जैसी दिग्गज कंपनियों ने इसमें निवेश किया. जिसका फायदा रिलायंस को हुआ. मगर Aramco डील के विवादों में पड़ने से निवेशकों का मूड खराब हो गया. रिलायंस ग्रुप के शेयर सितंबर के बाद 22% तक टूट चुके हैं.

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories