ताज़ा ख़बर
RAIPUR BREAKING: रिटायर्ड SBI मुख्य प्रबंधक को पेंशन भुगतान करने का लालच देकर लाखों की धोखाधड़ी, बैंक में नकली खाता खुलवा की जालसाजी, FIR दर्जCORONA BREAKING : छत्तीसगढ़ में कोरोना की रिकवरी रेट ने पकड़ी रफ्तार, आज 566 संक्रमितों की पुष्टि, 515 स्वस्थ्य होकर लौटे घरIG ऑफिस में तैनात CRPF जवान सहित 3 लोग तस्करी करते बिलासपुर में गिरफ्तार, 9 लाख की शराब बरामदबड़ी खबर : अब अपराधियों की नाक में दम करेंगे ट्रांसजेंडर, राज्‍य पुलिस में होगी सीधी बहालीभाजपा प्रदेश अध्यक्ष का कांकेर दौरा 18 को, तैयारियों को लेकर भाजपा ने ली बैठकबड़ी खबर : 5वीं से 8वीं तक की कक्षाओं के लिए 27 जनवरी से खुलेंगे स्कूल, शिक्षा मंत्री ने दी जानकारीBREAKING : बीजापुर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता, मुठभेड़ में 8 लाख के इनामी नक्सली को किया ढेरRAIPUR BREAKING : राजधानी में फिर हुई चाकूबाजी, घायल युवक घटनास्थल से हुआ गायब, तलाश में जुटी पुलिसखेल महोत्सव के दूसरे दिन उमड़ा लोगों का जन सैलाब, आज शामिल होंगे विधायक और कलेक्टरपखांजूर : क्षेत्र में शुरू हुई वैक्सीनेशन की प्रक्रिया, पहले चरण में 300 सौ लोगों को लगा टीका

Happy Lohri 2021 : किसानों से जुड़ा त्यौहार, जानिए क्यों मनाई जाती है लोहड़ी, क्या है इस पर्व का महत्व?

Sameer VermaJanuary 13, 20211min


 

रायपुर : मकर संक्रांति (Makar Sankranti) के एक दिन पहले देश भर में आज लोहड़ी (Happy Lohri 2021) मनाई जा रही है. यह त्यौहार मुख्य रूप से पंजाब और हरियाणा का पर्व है. आज के दिन आग में तिल, गुड़, गजक, रेवड़ी और मूंगफली चढ़ाने का रिवाज होता है. इसे किसानों का नया साल भी माना जाता है. साथ ही पर्व को सर्दियों के जाने और बसंत के आने का संकेत भी माना जाता है. कई जगहों पर लोहड़ी को तिलोड़ी भी कहा जाता है.

 

लोहड़ी का महत्व

लोहड़ी का त्योहार फसल की कटाई और बुआई के तौर पर मनाया जाता है. इस दिन लोग आग जलाकर इसके इर्द-गिर्द नाचते-गाते और खुशियां मनाते हैं. आग में गुड़, तिल, रेवड़ी, गजक डालने और इसके बाद इसे एक-दूसरे में बांटने की परंपरा है. इस दिन पॉपकॉर्न और तिल के लड्डू भी बांटे जाते हैं. ये त्योहार पंजाब में फसल काटने के दौरान मनाया जाता है. लोहड़ी में इसी खुशी का जश्न मनाया जाता है. इस दिन रबी की फसल को आग में समर्पित कर सूर्य देव और अग्नि का आभार प्रकट किया जाता है. आज के दिन किसान फसल की उन्नति की कामना करते हैं.

 

READ MORE : अच्छी खबर : आज रायपुर पहुंचेगी कोरोना वैक्सीन, पहली खेप में 3 लाख 23 हजार डोज, जानें कैसी है स्वास्थ्य विभाग की तैयारी

 

 

सुनी जाती है दुल्ला भट्टी की कहानी

लोहड़ी के दिन अलाव जलाकर उसके इर्द-गिर्द डांस किया जाता है. इसके साथ ही इस दिन आग के पास घेरा बनाकर दुल्ला भट्टी की कहानी सुनी जाती है. लोहड़ी पर दुल्ला भट्टी की कहानी सुनने का खास महत्व होता है. मान्यता है कि मुगल काल में अकबर के समय में दुल्ला भट्टी नाम का एक शख्स पंजाब में रहता था. उस समय कुछ अमीर व्यापारी सामान की जगह शहर की लड़कियों को बेचा करते थे, तब दुल्ला भट्टी ने उन लड़कियों को बचाकर उनकी शादी करवाई थी. कहते हैं तभी से हर साल लोहड़ी के पर्व पर दुल्ला भट्टी की याद में उनकी कहानी सुनाने की पंरापरा चली आ रही है.

 

READ MORE :  राजधानी के पंडरी इलाके में दर्जनभर कबूतरों की मौत, जांच के लिए भोपाल भेजे जाएंगे सैम्पल

 

WATCH VIDEOS : 

 

 

 

 

 

 

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories