ताज़ा ख़बर
BIG BREAKING : तेज रफ्तार ट्रेलर ने यात्रियों से भरी जीप को मारी जोरदार टक्कर, 8 लोगों की दर्दनाक मौत, चार अन्य गंभीर रूप से घायलबड़ी खबर : 50 करोड़ FB यूजर्स का फोन नंबर टेलीग्राम पर बेचे जा रहे हैं, जानिए क्या है पूरा मामलाबड़ी खबर : इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर का बड़ा दावा, ये खिलाड़ी तोड़ सकता है सचिन तेंदुलकर के सर्वाधिक टेस्ट रनों का रिकॉर्डसीएम भूपेश बघेल का कोंडागांव-कांकेर दौरा, करोड़ों के विकास कार्यों की देंगे सौगातबड़ी खबर : दो दर्जन नक्सलियों ने छोड़ा लाल आतंक का साथ, लौटे मुख्यधारा में, SP के सामने किया सरेंडरशादी के 5 साल बाद पति ने पत्नी से बोला, मुझे तुम्हारी सूरत पसंद नहीं है, बाइक और दो लाख रुपए लाओगी, तभी घर में रखूंगाRAIPUR: 258 करोड़ के GST चोरी में 2 गिरफ्तार, फेक बिल के रैकेट का का भी खुलासा, GST इंटेलीजेंस 3 माह से कर थे जांचजगदलपुर में सीएम बघेल ने ली परेड की सलामी, बोले- नागरिक अधिकारों की सुरक्षा हमारी प्रमुख जिम्मेदारी, जानें संबोधन में क्या कहा…नगर निगम परिसर में महापौर ढेबर ने किया ध्वजारोहरण, कोरोना काल में निगम कर्मचारियों के कार्यों की सराहनासीएम भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को 72वें गणतंत्र दिवस की दी शुभकामनाएं

सिंघु बॉर्डर पर किसानों ने जलाई कृषि कानूनों को प्रतियां, गणतंत्र दिवस को लेकर कही ये बात…

Mahendra Kumar SahuJanuary 13, 20211min


नई दिल्ली : कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली की सीमा पर किसानों का प्रदर्शन लगातार जारी है। किसान कृषि बिल को रद्द करने की मांग को लेकर कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे है। इसी कड़ी में किसानों ने बुधवार की शाम को कृषि कानूनों की प्रतियां जलाई। इसके साथ ही किसानों ने देश भर के किसानों को इस कानून के खिलाफ प्रदर्शन करने का पुनः जोर दिया। किसान संघर्ष समन्वय समिति ने जारी बयान में बताया कि किसान आन्दोलन के सभी पहलुओं को तेज करने की तैयारी है। किसान संगठनों ने दिल्ली के पास के सभी जिलों से दिल्ली में गणतंत्र दिवस किसान ट्रैक्टर परेड की तैयारी करने का आह्नान किया है।

READ MORE : भारतीय वायुसेना में शामिल होंगे 83 एडवांस तेजस विमान, केंद्र सरकार ने दी मंजूरी

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता के राकेश टिकैत ने कहा कि आंदोलन में कोई देश विरोधी बातें कर रहा है तो सरकार उसे गिरफ़्तार करे। कृषि क़ानून कैसे ख़त्म हो सरकार इस पर काम करे। सरकार ने 10 साल पुराने ट्रैक्टर पर बैन लगाया है तो हम 10 साल पुराने ट्रैक्टर को दिल्ली की सड़कों पर चला कर दिखाएंगे।

READ MORE : कैबिनेट विस्तार को लेकर भाजपा में बवाल, विधायक ने मुख्यमंत्री पर लगाया ब्लैकमेलिंग और पैसों लेने का आरोप

आपको बता दें कि मोदी सरकार की ओर से पास किए गए तीनों कृषि कानून के लागू होने पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को यह फैसला सुनाया। इसके साथ ही इस मसले को सुलझाने के लिए अब कमेटी का गठन कर दिया गया है। इस कमेटी में कुल 4 लोग शामिल होंगे। यह कमेटी मामले की मध्यस्थता नहीं, बल्कि समाधान निकालने का प्रयास करेगी।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई कमेटी में भारतीय किसान यूनियन के भूपिंदर सिंह मान, शेतकारी संगठन के अनिल घनवंत, कृषि अर्थशास्त्री अशोक गुलाटी और अंतर्राष्ट्रीय खाद्य नीति अनुसंधान संस्थान के प्रमोद के जोशी शामिल हैं। ये कमेटी सुप्रीम कोर्ट को सीधे अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। जब तक कमेटी की रिपोर्ट नहीं आ जाती है तब तक कृषि कानूनों के अमल पर रोक जारी रहेगी।

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories