ताज़ा ख़बर
BIG BREAKING : छत्तीसगढ़ को मिले 2020 बैच के आठ नए आईपीएस, देखे सूचि…CORONA BREAKING : प्रदेश में आज मिले 383 नए कोरोना संक्रमित मरीज, 8 मरीजों ने तोड़ा दमRAIPUR BREAKING : ट्रैफिक पुलिस की बड़ी कार्रवाई, यातायात नियमोें का उल्लंघन करने वालों से वसूले 1 करोड़ रूपए, क्रेडिट.डेबिट कार्ड से भुगतान की मिली सुविधाहिन्दू देवी-देवताओं का उड़ाया मजाक, वेब सीरीज तांडव के खिलाफ हिंदू संगठनों ने मोर्चा खोलाBREAKING: ट्रक की ठोकर से मासूम बच्ची की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने ट्रक को किया आग के हवालेBREAKING : माओवादियों के अड्डे में जवानों ने बोला धावा, उखाड़ फेंके नक्सल कैंप, कई घंटों से मुठभेड़ जारीविवादों में Indian Idol 12 का ये कंटेस्टेंट, वायरल हो रही पुरानी तस्वीर, जानिए क्या है मामला…RAIPUR BREAKING : खुद को अविवाहित बताकर युवक ने युवती से बनाया शारीरिक संबंध, फिर शादी करने से किया मना, जान से मारने की दी धमकीबड़ी खबर : एक्शन में DEO, रायपुर के 240 प्राइवेट स्कूलों पर गिरी गाज, तत्काल प्रभाव से मान्यता खत्म, देखें लिस्ट‘तांडव’ पर भड़की कंगना, डायरेक्टर अली जाफर से पूछा- अल्लाह का मजाक उड़ाने की हिम्मत है?

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने स्वामी विवेकानन्द का मनाया जन्मोत्सव

Sanjay sahuJanuary 12, 20211min

 

 

पखांजूर से बिप्लब कुण्डू। आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद पखांजुर के द्वारा राम कृष्ण विद्यापीठ पखांजुर में स्वामी विवेकानन्द जी के जन्मोत्सव मनाया गया जिसमें मुख्य रूप से राम कृष्ण विधापीठ विद्यालय के स्वामी जी एवं सचिव श्यामल महलदार उपस्थति थे।

 

एबीवीपी के नगर अध्यक्ष नताशा तालुकदार,नगर मंत्री रोशन बढ़ाई एवं प्राचार्य कनिका राय एवं गौर हरि दस जी उपस्तिथ थे सर्वप्रथम स्वामी विवेकानन्द जी के छाया चित्र में माल्यर्पण करके किया गया विद्यालय के सचिव श्यामल महलदार ने कहा की वेदान्त के विख्यात और प्रभावशाली आध्यात्मिक गुरु स्वामी जी थे। उनका वास्तविक नाम नरेन्द्र नाथ दत्त था।

 

उन्होंने अमेरिका स्थित शिकागो में सन 1893 में आयोजित विश्व धर्म महासभा में भारत की ओर से सनातन धर्म का प्रतिनिधित्व किया था। भारत का वेदान्त अमेरिका और यूरोप के हर एक देश में स्वामी विवेकानन्द की वक्तृता के कारण ही पहुँचा। उन्होंने रामकृष्ण मिशन की स्थापना की थी जो आज भी अपना काम कर रहा है।

 

 

 

प्राचार्य कनिका रॉय जी ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द का जन्म 12जनवरी सन 1863 को कलकत्ता में हुआ था। इनका बचपन का नाम नरेन्द्रनाथ था। इनके पिता श्री विश्वनाथ दत्त कलकत्ता हाईकोर्ट के एक प्रसिद्ध वकील थे। इनकी माता श्रीमती भुवनेश्वरी देवीजी धार्मिक विचारों की महिला थीं। उनका अधिकांश समय भगवान् शिव की पूजा-अर्चना में व्यतीत होता था।

 

नरेन्द्र की बुद्धि बचपन से बड़ी तीव्र थी नगर अध्यक्ष नताशा तालुकदार ने कहा कि स्वामी विवेकानंद एक महान संत थे,जिन्होंने रामकृष्ण मिशन और रामकृष्ण मठ की स्थापना की थी। हम उनके जन्मदिन पर प्रत्येक वर्ष 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस मनाते हैं।वह आध्यात्मिक विचारों वाले अद्भूत युवा थे।

 

श्री रामकृष्ण से मिलने के बाद इनका धार्मिक और संत का जीवन शुरू हुआ और उन्हें अपना गुरु बना लिया। इसके बाद इन्होंने वेदांत आन्दोलन का नेतृत्व किया और भारतीय सनातन धर्म के दर्शन से पश्चिमी देशों को परिचित कराया। स्वामी स्वरूपानन्द जी ने विवेकानंद जी के जीवन पर प्रकाश डाला जब भी स्वामी विवेकानंद के विषय में बात होती है, तो उनके शिकागों भाषण के विषय में चर्चा जरुर की जाती है क्योंकि यही वह क्षण था।

 

जब स्वामी विवेकानंद ने अपने ज्ञान तथा शब्दों द्वारा पूरे विश्व भर में भारत के विषय में लोगो का नजरिया बदलते हुए, लोगो को अध्यात्म तथा वेदांत से परिचित कराया। अपने इस भाषण में उन्होंने विश्व भर को भारत के अतिथि देवो भव:, सहिष्णुता और सार्वभौमिक स्वीकार्यता के विषय से परिचित कराया।

 

कार्यक्रम के अंत में कार्यकर्ताओ द्वारा मास्क एवं मिष्ठान का वितरण किया गया कार्यक्रम में अभाविप के नगर मंत्री रोशन बढ़ाई, ,देवाशीष सरकार, राहुल राय ,शिलादित्य मंडल , अभी वर्मन, संदीप मजुमदार, परना मण्डल सुष्मिता मजुमदार, शिक्षिका मायना दास नेहार दास शिखा शील,सिंकू समाजपति उपस्थित थे।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories