ताज़ा ख़बर
खाद्य विभाग की बड़ी कार्रवाई, बायोफ्यूल फर्म में दबिश देकर भारी मात्रा में जब्त किया संदिग्ध बायोडीजल, मिथाइल इस्टर नाम का रसायन बेच रहे थे संचालकनगर निगम भिलाई-चरोदा और नगर पालिका जामुल के वार्डों का हुआ आरक्षणबड़ी खबर : चेंबर ऑफ कॉमर्स चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान, 5 चरणों में होगा मतदान, 21 मार्च को होगी मतगणनाBREAKING: पर्यावरण को लेकर राज्य सरकार सख्त, प्रदूषण फैलाने वाले 25 उद्योगों के खिलाफ हुई कार्रवाई, 42 को कारण बताओ नोटिस जारीRAIPUR : स्वास्थ्य विभाग ने मैट्स विश्वविद्यालय को किया सम्मानितBIG BREAKING : छत्तीसगढ़ में 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं की तारीखों का ऐलान, केंद्र में ही दिलाना होगा परीक्षाBREAKING : प्रसिद्ध भजन गायक नरेंद्र चंचल का निधन, 80 साल की उम्र में कहा दुनिया को अलविदासरकार का फैसला, पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई को जेड प्लस की सुरक्षाबड़ी खबर : बम धमाका, 32 के उड़े चीथड़े, 110 से ज्यादा लोग घायल, देखें वीडियोबड़ी खबर : कांग्रेस को मई में मिल सकता है नया अध्यक्ष! सांगठनिक चुनाव को लेकर CWC में फैसला

किसान के हितों में हमेशा लड़ाई होती रहेंगी – योगिन्ता मांझी

Mahendra Kumar SahuJanuary 11, 20211min

गरियाबंद : छ.ग. राज्य सरकार के वादाखिलाफी और धान खरीदी की अव्यवस्था को लेकर किसानो हित में भाजपा अब सड़क की लड़ाई लड़ेगी। इसको लेकर भाजपा ने तैयारी पूर्ण कर ली। 13 जनवरी को विधानसभा स्तर और 22 जनवरी को जिला स्तर में पूरे प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी राज्य की कांग्रेस सरकार के विरूध्द विशाल धरना प्रदर्शन करेंगी और जनता के बीच कांग्रेस सरकार की दो साल की विफलता रखेगी।

 

उक्त बाते भाजपा के नए महिला मोर्चा मण्डल अध्यक्षा योगिन्ता मांझी ने अपने वरिष्ठ राजनेता से परामर्श लेते हुए पत्रकारों के दौरान उन्होने कहा कि दो साल में कांग्रेस सरकार के शासनकाल में सबसे अधिक किसान पीड़ीत है। अपने झूठे वादो से कांग्रेस ने प्रदेश के भोले भाले किसानो को छला है। आज सत्तारुढ़ कांग्रेसियो को किसान का दर्द नही दिखाई नही दे रहा है। दो साल से किसान पहले 2500 रूपए समर्थन मुल्य की राशि के किश्तो के लिए भटक रहे और अब धान खरीदी में अव्यवस्था को लेकर त्रस्त है। इसके पहले सरकार ने गिरदावरी के नाम पर किसानो को परेशान किया गया। चंद दिन धान खरीदी को शेष लेकिन प्रदेशभर के किसान बारदाने की कमी को लेकर अपना धान नही बेच पा रहे है।

महिला मोर्चा मण्डल अध्यक्षा योगिन्ता मांझी, झाखरपारा देवभोग, ने आगे राज्य सरकार पर विफलता का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश की किसान विरोधी सरकार के चलते किसान आत्महत्या कर रहे है। मुख्यमंत्री और कांग्रेस अध्यक्ष के क्षेत्र में किसानो ने आत्हत्या की है। प्रदेश के किसानो के साथ अन्याया हो रहा है। पिछले वर्ष के धान की कीमत का पूरा भुगतान नही हुआ। वर्तमान में भी धान खरीदी के 20-20 दिन तक किसानो के खाते में एक पैसा नही पहुॅचा। किसानो को दो वर्ष का बोनस देने का वादा भी कांग्रेस का अधुरा है। उन्होने कहा कि सरकार बारदाने के नाम पर भी घोटाला कर रही है। किसान बाजार से बारदान खरीदने मजबुर है। गिरदारी में रक्बा कटौती के षडयंत्र से ही काग्रेंस सरकार मंसुबा सामने आ गया था। कांग्रेस सरकार किसानो का धान नही खरीदना चाहती इसलिए नित नए बहाने बना रही है।

योगिन्ता मांझी ने कहा कि पूर्व सीएम डाॅ0 रमनसिंह के समय सही समय पर धान खरीदी और सही समय पर किसानो को धान की राशि मिल जाती थी। परंतु राज्य सरकार उक्त व्यवस्था करने में असफल रही और अपनी छबि बचाने केन्द्र सरकार पर ठिकरा फोड़ रही है। जबकि केन्द्र सरकार ने गतवर्ष की तुलता में छत्तीसगढ़ का धान का कोटा भी बढ़ाया है और समर्थन मुल्य में भी वृध्दि की है। कांग्रेस अपनी नाकामी छुपाने बेबुनियाद आरोप लगा रही है।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories