ताज़ा ख़बर
RAIPUR BREAKING : सिरफिरे युवक ने 7 गाड़ियों को किया आग के हवाले, CCTV कैमरे में कैद हुई वारदातहैंड सैनिटाइजर से बच्चों को बड़ा खतरा, जा सकती है आंखों की रोशनी, और भी हो सकते है ये नुकसानBIG BREAKING : नगरीय निकायों में बड़े पैमाने पर फेरबदल, कई अधिकारी- कर्मचारी इधर से उधर, आदेश जारीराम मंदिर के निर्माण के लिए शहर के युवाओं में दिखा जोश, हजारों की संख्या में विहिप ने निकाली बाइक रैलीशासकीय पूर्व माध्यमिक शाला मड़ियाकटटा में कोरोना काल में भी हरा भरा है स्कूल परिसर, प्रधान पाठक दयालूराम पिकेश्वर खुद कर रहे देखभालअगर आप iPhone खरीदना चाहते है तो ये खबर जरूर पढ़ें, यहां 16 हजार का मिल रहा बंफर छूटबड़ी खबर: मार्च के बाद नहीं चलेंगे पुराने 100, 10 और 5 रुपए के नोट, जानिये क्या होगा अब, RBI ने दी जानकारीBREAKING: सीएम भूपेश का बड़ा ऐलान, छत्तीसगढ़ राज्य पुलिस अकादमी का नाम अब नेताजी सुभाष चंद्र बोससीएम भूपेश आज कृषि महाविद्यालय के बायोटेक इन्क्यूबेशन सेंटर का करेंगे शुभारंभ, युवाओं के लिए रोजगार के अवसर होंगे उपलब्धRAIPUR BREAKING: सिरफिरे प्रेमी ने प्रेमिका का गला रेतकर की हत्या, फिर 1 वर्षीय मासूम को पटरी पर फेंक उतारा मौत के घाट

नन्हे भाई-बहन ने रचा इतिहास, 2100 पन्नों में लिख दी पूरी रामायण

Som dewanganJanuary 11, 20211min


 

जालौर। कोरोना संक्रमण काल की शुरुआत में हुए लॉकडाउन के दौरान जब सभी लोग महामारी से भयभीत होकर अपने-अपने घरों में बंद थे, तब राजस्थान के जालौर जिले के दो छोटे बच्चों ने समय का सदुपयोग करते हुए समाज के समक्ष आदर्श उदाहरण प्रस्तुत किया है। चौथी कक्षा में पढ़ने वाले माधव और तीसरी में पढ़ने वाली अर्चना ने दूरदर्शन पर रामायण देखकर 8 महीने के अंदर 2100 से अधिक पन्नों में पूरी रामायण लिख डाली है। इन्हें पूरा रामायण कंठस्थ याद भी है।

 

भाई-बहन की इस जोड़ी ने 20 कॉपियों का इस्तेमाल कर 2100 से अधिक पृष्ठों में संपूर्ण रामायण लिखकर सबको चौंका दिया है। महामारी के चलते स्कूल बंद होने पर दोनों ने खुद ही पूरी रामायण कलम और पेंसिल से लिख डाली। कहा जा रहा है इन दोनों बच्चों ने पूरी रामायण इस कदर याद कर ली है कि इनसे कुछ भी पूछा जाए ये बिना अटके दोहे, छंद, चौपाइयाँ सुना देते हैं।

9 वर्षीय माधव और उसकी 6 साल की बहन अर्चना ने रामचरितमानस के सातों कांड ज्यों के त्यों उतार दिए हैं। माधव ने 14 कॉपियों में बालकांड, अयोध्याकांड, अरण्यकांड और उत्तरकांड लिखा है, वहीं अर्चना ने छह कॉपियों में किष्किंधा कांड, सुंदर कांड और लंका कांड लिखा है। ये दोनों भाई-बहन आदर्श विद्या मंदिर जालौर के विद्यार्थी हैं।

 

माधव ने बताया कि दूरदर्शन पर प्रसारित रामायण देख कर इसे पढ़ने की इच्छा हुई। पहले परिवार के साथ और बाद में दोनों भाई-बहन ने मास पारायण और नवाह पारायण में श्रीरामचरितमानस का तीन बार पाठ किया। इसके बाद पिता द्वारा प्रोत्साहित करने पर दोनों बच्चों ने पूरी रामायण खुद से लिखने की ठान ली और यह कामयाबी हासिल की।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories