ताज़ा ख़बर
15 साल की नाबालिग को बनाया हवस का शिकार, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तारBREAKING : पुलिस विभाग में फेरबदल, 3 अधिकारियों को किया गया इधर से उधर, देखें सूचीBIG BREAKING : केंद्रीय मंत्री के काफिले की गाड़ियां आपस में टकराई, गनमैन समेत दो लोगों को आई चोटेंRAIPUR ACCIDENT : राजधानी में डस्टर व बाइक में जबरदस्त भिड़ंत, 2 युवक बुरी तरह जख्मीSamsung के वाइस प्रेसिडेंट को ढाई साल की जेल, पूर्व राष्ट्रपति को रिश्वत देने का आरोपBREAKING : 4 इनामी समेत 8 नक्सलियों ने किया सरेंडर, दंतेवाड़ा पुलिस को मिली बड़ी सफलताCG BREAKING : TI पर गिरी निलंबन की गाज, DGP डीएम अवस्थी ने की कार्रवाई, जानिए क्यों?किसान आंदोलन : छत्तीसगढ़ से अन्नदाताओं के लिए 60 टन अनाज और 68 हजार रूपए दिल्ली रवाना, CM भूपेश ने दिखाई हरी झंडीखुलासा : पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आया सच, वैक्सीन लगाने के बाद इस वजह से गई स्वास्थ्यकर्मी की जानBREAKING : ट्रेन के दो डिब्बे पटरी से उतरे, चारबाग स्टेशन के पास हुआ हादसा

कलेक्टर ने ली गरियाबंद विकास प्रारूप समिति की बैठक, नगर को सुनियोजित तरीके से बसाने का बना प्रस्ताव 

Mahendra Kumar SahuJanuary 11, 20211min


 

घनश्याम यादव/गरियाबंद : गरियाबंद विकास योजना प्रारूप अंतर्गत आगामी 20 वर्षो के लिए योजना बनाकर गरियाबंद नगर पालिका को विकसित और सुनियोजित तरीके से बसाया जायेगा। इसके अंतर्गत वर्तमान जनसंख्या भूमि की उपलब्धता व अधोसंरचना को ध्यान में रखते हुए विकास एवं भूमि उपयोग के लिए प्रारूप प्रस्तावित किया गया।

कलेक्टर निलेश कुमार क्षीरसागर की अध्यक्षता में आज यहां जिला कार्यालय में गरियाबंद विकास प्रारूप की बैठक आयोजित की गई, जिसमें गरियाबंद नगर पालिका क्षेत्र के अलावा आस-पास के 09 गांव – नहरगांव, कोकडी, पाथरमोंहदा, भिलाई, मजरकट्टा, आमदी, पारागांव, डोगरीगांव तथा केशाडार के सरपंच एवं नागरिक शामिल हुए। बैठक में बिन्द्रानवागढ़ के विधायक डमरूधर पुजारी एवं जिला पंचायत अध्यक्ष  स्मृति ठाकुर भी शामिल हुए।

गरियाबंद विकास योजना प्रारूप में वर्ष 2031 तक के विकास योजना को शामिल किया गया है। बैठक में प्रस्तुतिकरण के माध्यम से वर्तमान निवेश क्षेत्र की स्थिति को दर्शाते हेतु आंकलन किया गया है। बताया कि वर्तमान में आवास के लिए 45.19 प्रतिशत क्षेत्र का उपयोग किया गया है। वहीं वाणिज्यक गतिविधि के लिए 2.48 प्रतिशत तथा परिवहन के लिए 21.49 प्रतिशत उपयोग किया गया है। प्रस्तावित क्षेत्र में वाणिज्यक गतिविधि को 4.32 प्रतिशत, आद्योगिक को 7.36 प्रतिशत तथा आवासीय क्षेत्र 43.14 प्रतिशत तक आंकलन किया गया है।

 

इस क्षेत्र में आमोद-प्रमोद के लिए 13.79 प्रतिशत भूमि का उपयोग प्रस्तावित किया गया है। प्रस्ताव में परिवहन विस्तार जैसे- बाई-पास सड़क, पर्यटन विकास, कृषि वन आधारित उद्योग आदि को शामिल किया गया है। नगर एवं ग्राम निवेश क्षेेत्रीय कार्यालय रायपुर के अपर संचालक श्री संदीप बांगडे़ ने बताया कि जल्द ही इस प्रारूप का प्रकाशन किया जायेगा। निर्धारित अवधि के पश्चात दावा-आपत्ति आमंत्रित किया जायेगा।

 

दावा-आपत्ति के निराकरण के पश्चात आवश्यक कार्यवाही प्रारंभ होगी। बैठक में जनपद अध्यक्ष गरियाबंद श्रीमती लालिमा ठाकुर, राजिम विधायक प्रतिनिधि ममता राठौर, सांसद प्रतिनिधि सुरेन्द्र सोनटेके, नगर पालिका परिषद अध्यक्ष प्रतिनिधि आशिफ मेमन, अपर कलेक्टर जे.आर. चैरसिया, इंस्टीट्यूशन आॅफ इंजीनियर्स के प्रतिनिधि, सहायक संचालक ऐश्वर्य जायसवाल सहित नगर एवं ग्राम निवेश रायपुर कार्यालय के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories