ताज़ा ख़बर
हड़ताल से वापस घर लौटी रोजगार सहायिका ने खाया जहर, जांच में जुटी पुलिसबड़ी खबर: मैत्री बाघ में बाघिन वसुंधरा का निधन, इलाज के दौरान थमी सांसेबड़ी खबर: अगर सरकार नहीं करेंगी WHATSAPP के खिलाफ कार्रवाई, तो CAIT करेगा कोर्ट का रुखशर्मसार : पहले लिंग परिवर्तन करवाया, फिर 6 दरिंदों ने की हवस पूरी, भीख मंगवाकर दूसरे से दूसरे भी करवाते थे रेपसुकमा पुलिस को मिली बड़ी सफलता, एक वारंटी नक्सली को दबोचासांसद शताब्दी रॉय के बीजेपी में शामिल होने की अटकले तेज, कही ये बात…देखें VIDEO : “मोदी तेरी तानाशाही नहीं चलेगी… नहीं चलेगी” के नारों से गूंजी राजधानी, केंद्र सरकार के खिलाफ फूटा कांग्रेस का गुस्साBREAKING NEWS : दर्दनाक सड़क हादसे में 11 लोगों की मौत, मची चीख पुकार… PM मोदी ने जताया दुखChhattisgarh Budget 2021-22 : बजट को लेकर मंत्रियों से चर्चा करेंगे CM बघेल, बारी-बारी लेंगे विभाग की जानकारीCG BREAKING : जवान ने की खुदकुशी, अपने ही सर्विस रायफल से खुद को मारी गोली, नक्सल ऑपरेशन के दौरान की आत्महत्या

राज्य सरकार की वादाखिलाफी के खिलाफ किसान हित में भाजपा लड़ेगी सड़क की लड़ाई 

Sanjay sahuJanuary 11, 20211min

 

 

घनश्याम यादव /देवभोग: राज्य सरकार के वादाखिलाफी और धान खरीदी की अव्यवस्था को लेकर किसानो हित में भाजपा अब सड़क की लड़ाई लड़ेगी। इसको लेकर भाजपा ने तैयारी पूर्ण कर ली। 13 जनवरी को विधानसभा स्तर और 22 जनवरी को जिला स्तर में पूरे प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी राज्य की कांग्रेस सरकार के विरूध्द विशाल धरना प्रदर्शन करेंगी और जनता के बीच कांग्रेस सरकार की दो साल की विफलता रखेगी।

 

उक्त बाते भाजपा के नए जिला महामंत्री शीतला पाण्डेय ने पत्रकारो से चर्चा करते हुए कही। उन्होने कहा कि दो साल में कांग्रेस सरकार के शासनकाल में सबसे अधिक किसान पीड़ीत है। अपने झूठे वादो से कांग्रेस ने प्रदेश के भोले भाले किसानो को छला है। आज सत्तारूध्द कांग्रेसियो को किसान का दर्द नही दिखाई नही दे रहा है। दो साल से किसान पहले 2500 रूपए समर्थन मुल्य की राशि के किश्तो के लिए भटक रहे और अब धान खरीदी में अव्यवस्था को लेकर त्रस्त है। इसके पहले सरकार ने गिरदावरी के नाम पर किसानो को परेशान किया गया। चंद दिन धान खरीदी को शेष लेकिन प्रदेशभर के किसान बारदाने की कमी को लेकर अपना धान नही बेच पा रहे है।

 

पाण्डेय ने आगे राज्य सरकार पर विफलता का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश की किसान विरोधी सरकार के चलते किसान आत्महत्या कर रहे है। मुख्यमंत्री और कांग्रेस अध्यक्ष के क्षेत्र में किसानो ने आत्हत्या की है। प्रदेश के किसानो के साथ अन्याया हो रहा है। पिछले वर्ष के धान की कीमत का पूरा भुगतान नही हुआ। वर्तमान में भी धान खरीदी के 20-20 दिन तक किसानो के खाते में एक पैसा नही पहुॅचा।

 

किसानो को दो वर्ष का बोनस देने का वादा भी कांग्रेस का अधूरा है। उन्होने कहा कि सरकार बारदाने के नाम पर भी घोटाला कर रही है। किसान बाजार से बारदान खरीदने मजबूर है। गिरदारी में रक्बा कटौती के षडयंत्र से ही कांगे्रस सरकार मंसुबा सामने आ गया था। कांग्रेस सरकार किसानो का धान नही खरीदना चाहती इसलिए नित नए बहाने बना रही है।

 

जिला महिला महामंत्री ने कहा कि पूर्व सीएम डाॅ रमनसिंह के समय सही समय पर धान खरीदी और सही समय पर किसानो को धान की राशि मिल जाती थी। परंतु राज्य सरकार उक्त व्यवस्था करने में असफल रही और अपनी छबि बचाने केन्द्र सरकार पर ठिकरा फोड़ रही है। जबकि केन्द्र सरकार ने गतवर्ष की तुलना में छत्तीसगढ़ का धान का कोटा भी बढ़ाया है और समर्थन मुल्य में भी वृध्दि की है। कांग्रेस अपनी नाकामी छुपाने बेबुनियाद आरोप लगा रही है।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories