ताज़ा ख़बर
RAIPUR BREAKING : ट्रैफिक पुलिस की बड़ी कार्रवाई, यातायात नियमोें का उल्लंघन करने वालों से वसूले 1 करोड़ रूपए, क्रेडिट.डेबिट कार्ड से भुगतान की मिली सुविधाहिन्दू देवी-देवताओं का उड़ाया मजाक, वेब सीरीज तांडव के खिलाफ हिंदू संगठनों ने मोर्चा खोलाBREAKING: ट्रक की ठोकर से मासूम बच्ची की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने ट्रक को किया आग के हवालेBREAKING : माओवादियों के अड्डे में जवानों ने बोला धावा, उखाड़ फेंके नक्सल कैंप, कई घंटों से मुठभेड़ जारीविवादों में Indian Idol 12 का ये कंटेस्टेंट, वायरल हो रही पुरानी तस्वीर, जानिए क्या है मामला…RAIPUR BREAKING : खुद को अविवाहित बताकर युवक ने युवती से बनाया शारीरिक संबंध, फिर शादी करने से किया मना, जान से मारने की दी धमकीबड़ी खबर : एक्शन में DEO, रायपुर के 240 प्राइवेट स्कूलों पर गिरी गाज, तत्काल प्रभाव से मान्यता खत्म, देखें लिस्ट‘तांडव’ पर भड़की कंगना, डायरेक्टर अली जाफर से पूछा- अल्लाह का मजाक उड़ाने की हिम्मत है?BIG BREAKING : सड़क किनारे सो रहे 20 मजदूरों को ट्रक ने रौंदा, 2 मासूम समेत 15 लोगों की मौत, ट्रक ड्रायवर अरेस्टराशिफल : इन 5 राशियों को धन, सेहत और जॉब को लेकर हो सकती है परेशानी, जानें सभी राशियों का हाल

रोचक : एक झील ऐसा भी, जहां पानी छूते ही पत्थर बन जाता है इंसान, आज भी मौजूद हैं सबूत

Sanjay sahuJanuary 10, 20211min

 

 

नई दिल्ली: क्या आपने कभी ऐसी चीजों के बारे में कल्पना की है कि अगर ऐसा कुछ हकीकत में हो तो…? पानी को छूने वाला पत्थर बन जाता है ! तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसी ही एक रहस्यमयी झील के बारे में। जी हां, उत्तरी तंजानिया की नेट्रॉन झील रहस्यमयी झीलों की लिस्ट में से एक है।

 

 

 

माना जाता है कि इस झील के पानी को जो भी छूता है, वो पत्थर का बन जाता है। झील के आसपास ढेरों ऐसे जानवरों और पक्षियों की पत्थर की मूर्तियां दिखती हैं, जिनके पंख तक पत्थर के हैं। तो क्या वाकई में इस झील में कोई पारलौकिक ताकत है, जो सबको पत्थर बना देती है? आईये जानते हैं.

 

 

READ MORE: IPL 2020 : भारत के ये चार खिलाडी मचाएंगे धमाल, कोरोना के बीच देश में 10 माह बाद क्रिकेट की वापसी, तेंदुलकर पर भी रहेंगी निगाह

 

दूर-दूर तक कोई आबादी नहीं

 

दरअसल, तंजानिया के अरुषा इलाके में बनी इस झील के दूर-दूर तक कोई आबादी नहीं। आसपास पत्थर के जानवर और मूर्तियां पड़ी हैं, जिसे देखकर झील के जादुई होने की बात हकीकत लगती है, हालांकि ऐसा है नहीं।

 

 

 

ये सबकुछ झील के रासायनिक पानी के चलते है। असल में नेट्रॉन एक अल्केलाइन झील है, जहां के पानी में सोडियम कार्बोनेट की मात्रा काफी ज्यादा है। पानी में अल्केलाइन की मात्रा अमोनिया जितनी है। ये सबकुछ वैसा है, जैसा इजिप्ट में लोग ममी को सुरक्षित करने के लिए करते थे। यही कारण है कि यहां पंक्षियों के शरीर सालों सुरक्षित रहते हैं।

 

 

READ MORE:ITR फाइल करने का आज आखिरी दिन, देरी की तो 10 हजार रूपए लगेगा जुर्माना, 15 मिनट में Online भरें रिटर्न

 

 

जानकारी के मुताबिक एक पर्यावरणविद् और वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर Nick Brandt इस झील के पास गए और उसे समझने की कोशिश में काफी सारी तस्वीरें भी खींची। उन्होंने इस पर एक किताब भी लिखी है, जिसका नाम ‘एक्रॉस द रेवेज्ड लैंड’ है। इस किताब में कई बातें बताई गई हैं जो झील के रहस्यों से परदा उठाती हैं।

 

नेट्रॉन वक अकेली झील नहीं, जो लोगों को रहस्यों में उलझाए रखे है, रवांडा की किवू झील भी इन्हीं में से है। इस झील को अफ्रीकन ग्रेट लेक्स की श्रेणी में रखा गया है। 90 किलोमीटर लंबी और 50 किलोमीटर चौड़ी इस झील के बारे में कम ही जानकारी है।

 

इसके पानी में कार्बन डाईऑक्साइड और बड़ी मात्रा में मीथेन गैस पाई जाती है। झील के पास हल्का-सा भूकंप आने पर इसमें विस्फोट हो सकता है, जिससे आसपास बसे लाखों लोगों की जान को लगातार खतरा बना हुआ है।

 

 

 

 

 

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories