ताज़ा ख़बर
खाद्य विभाग की बड़ी कार्रवाई, बायोफ्यूल फर्म में दबिश देकर भारी मात्रा में जब्त किया संदिग्ध बायोडीजल, मिथाइल इस्टर नाम का रसायन बेच रहे थे संचालकनगर निगम भिलाई-चरोदा और नगर पालिका जामुल के वार्डों का हुआ आरक्षणबड़ी खबर : चेंबर ऑफ कॉमर्स चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान, 5 चरणों में होगा मतदान, 21 मार्च को होगी मतगणनाBREAKING: पर्यावरण को लेकर राज्य सरकार सख्त, प्रदूषण फैलाने वाले 25 उद्योगों के खिलाफ हुई कार्रवाई, 42 को कारण बताओ नोटिस जारीRAIPUR : स्वास्थ्य विभाग ने मैट्स विश्वविद्यालय को किया सम्मानितBIG BREAKING : छत्तीसगढ़ में 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं की तारीखों का ऐलान, केंद्र में ही दिलाना होगा परीक्षाBREAKING : प्रसिद्ध भजन गायक नरेंद्र चंचल का निधन, 80 साल की उम्र में कहा दुनिया को अलविदासरकार का फैसला, पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई को जेड प्लस की सुरक्षाबड़ी खबर : बम धमाका, 32 के उड़े चीथड़े, 110 से ज्यादा लोग घायल, देखें वीडियोबड़ी खबर : कांग्रेस को मई में मिल सकता है नया अध्यक्ष! सांगठनिक चुनाव को लेकर CWC में फैसला

इस बैंक की बड़ी लापरवाही, अकाउंट से बेवजह काटे रूपये, प्रदर्शन किया तो ये हुआ असर

Mahendra Kumar SahuJanuary 9, 20211min


 

राजकोट : काम नहीं होने पर आपने अधिकांश सरकारी दफ्तरों में आपने प्रदर्शन की कहानी सुनी होगी। लेकिन एक बैंक ने सामने प्रदर्शन करते नहीं सुना होगा। गुजरात के राजकोट में एक ऐसा ही मामला सामने आया है। राजकोट जिला पंचायत चौक क्षेत्र के स्थित एक अकाउंट से रुपए काटे तो ग्राहक तकिया-गद्दा लेकर बैंक की ब्रांच में ही धरने पर बैठ गया।

 

दरअसल, वह बैंक द्वारा खाते से 1.62 लाख रुपए काटे जाने से खफा था। उसके मुताबिक, वह बीते 10 दिनों से अफसरों के सामने अपना पक्ष रख रहा था, लेकिन किसी ने नहीं सुना। इस अनोखे विरोध प्रदर्शन से घबराए बैंक को 24 घंटे में ही पैसा खाते में वापस जमा कर दिया। लेकिन मामला अभी भी माफीनामे पर अटका है।

READ MORE : TCP24 की खबर का असर : लापरवाहों पर गिरेगी गाज, टीकाकरण से बच्चों की मौत मामले में होगी जांच

जानकारी के मुताबिक राजकोट निवासी विकासभाई दोशी का करंट अकाउंट इसी ब्रांच में हैं। बैंक ने विशालभाई से संस्था का सीएस सर्टिफिकेट मांगा था। खाताधारक विकासभाई दोशी ने कहा कि, बैंक के द्वारा जो संबंधित कागजात मांगे गए थे वह मैंने नए फॉर्मेट में जमा भी करा दिए थे।

इसके बावजूद मेरे खाते से 1.62 लाख रुपए काट लिए गए। इस बाबत, मैं लगातार 10 दिनों से बैंक के सामने अपना पक्ष रख रहा था, लेकिन मुझे कोई जवाब नहीं दिया गया। इस प्रक्रिया से परेशान होकर मैंने यह कदम उठाया है। इधर, बैंक में ही धरने पर बैठने से राजकोट ब्रांच में खलबली मच गई। खाताधारक विकासभाई छह घंटे तक ब्रांच में ही बैठे रहे। हालांकि, एक दिन बाद बैंक ने शाम तक 1.39 लाख रुपए लौटा दिए। लेकिन चार्ज के नाम पर काटी गई राशि पर जो जीएसटी की राशि काटी गई थी, वह अब तक लौटाई नहीं गई है।

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories