ताज़ा ख़बर
बड़ी खबर: अगर सरकार नहीं करेंगी WHATSAPP के खिलाफ कार्रवाई, तो CAIT करेगा कोर्ट का रुखशर्मसार : पहले लिंग परिवर्तन करवाया, फिर 6 दरिंदों ने की हवस पूरी, भीख मंगवाकर दूसरे से दूसरे भी करवाते थे रेपसुकमा पुलिस को मिली बड़ी सफलता, एक वारंटी नक्सली को दबोचासांसद शताब्दी रॉय के बीजेपी में शामिल होने की अटकले तेज, कही ये बात…देखें VIDEO : “मोदी तेरी तानाशाही नहीं चलेगी… नहीं चलेगी” के नारों से गूंजी राजधानी, केंद्र सरकार के खिलाफ फूटा कांग्रेस का गुस्साBREAKING NEWS : दर्दनाक सड़क हादसे में 11 लोगों की मौत, मची चीख पुकार… PM मोदी ने जताया दुखChhattisgarh Budget 2021-22 : बजट को लेकर मंत्रियों से चर्चा करेंगे CM बघेल, बारी-बारी लेंगे विभाग की जानकारीCG BREAKING : जवान ने की खुदकुशी, अपने ही सर्विस रायफल से खुद को मारी गोली, नक्सल ऑपरेशन के दौरान की आत्महत्याKisan Andolan : आज 9वीं बार सरकार और किसानों के बीच होगी बातचीत, क्या निकलेगा नतीजा?रायपुर में इस शख्स को लगेगा कोरोना का पहला टीका, कल से शुरू होगा वैक्सीनेशन प्रोसेस

सालों से झिरिया से बुझा रहे थे प्यास,  कलेक्टर के आदेश पर लगाया गया नलकूप

Sanjay sahuJanuary 9, 20211min

 

 

रामकुमार भारद्वाज/कोण्डागांव :- विकासखंड कोण्डागांव के सुदूर ग्राम कोहकडी के अंतर्गत आने वाला लाउडपारा में यहां निवास करने वाले 25 परिवारों के 100 से अधिक जनसंख्या के लिए सालों से पीने के पानी की समस्या बनी हुई थी।

 

विगत दिनों जनप्रतिनिधियों एवं पत्रकारों द्वारा लाउडपारा के निवासियों के झिरिया से पानी पीने को मजबूर होने के सम्बंध में कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा को अवगत कराया गया। जिस पर कलेक्टर ने संज्ञान लेते हुए यहां जल्द से जल्द पेयजल हेतु व्यवस्था के लिए आदेशित किया गया।

 

 

इस संबंध में पीएचई विभाग के कार्यपालन अभियंता जीवन लाल महला ने बताया कि कोहकडी के लाउडपारा में सड़कों की कनेक्टिविटी ना होने के कारण आज तक यहां पेयजल हेतु नलकूप खनन का कार्य नहीं कराया जा सका था। लाउडपारा में पेयजल हेतु नलकूप स्थापना का आदेश प्राप्त होते ही इस हेतु सर्वेक्षण का कार्य पूरा किया गया। स्थल चयन उपरांत खनन वाहन को निर्धारित स्थल तक पहुंचाना एक चुनौती थी।

 

यहां पहुँचने के लिए एक पतली 06 किलोमीटर की पगडंडी थी जो कि 2 नालों से होकर गुजरती थी जहां संकीर्ण रास्तों, बड़े पत्थरों, बोल्डरों एवं झाड़ियों के होने के कारण चार पहिया वाहनों से जाना मुश्किल था। इस कार्य के लिए कच्ची सड़क का निर्माण किया जाना था। वाहन हेतु मार्ग निर्माण में ग्रामवासियों का वृहद सहयोग प्राप्त हुआ।

 

जन सहयोग से सड़क निर्माण कर खनन वाहन को खनन स्थल तक पहुंचा कर खनन कार्य प्रारंभ किया गया। सफल बोर उपरांत अब ग्रामीणों को साल भर पेयजल की समस्या नहीं होगी। कोहकडी में अन्य सभी पारों में पेयजल हेतु साधन उपलब्ध हैं।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories