ताज़ा ख़बर
RAIPUR BREAKING : ट्रैफिक पुलिस की बड़ी कार्रवाई, यातायात नियमोें का उल्लंघन करने वालों से वसूले 1 करोड़ रूपए, क्रेडिट.डेबिट कार्ड से भुगतान की मिली सुविधाहिन्दू देवी-देवताओं का उड़ाया मजाक, वेब सीरीज तांडव के खिलाफ हिंदू संगठनों ने मोर्चा खोलाBREAKING: ट्रक की ठोकर से मासूम बच्ची की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने ट्रक को किया आग के हवालेBREAKING : माओवादियों के अड्डे में जवानों ने बोला धावा, उखाड़ फेंके नक्सल कैंप, कई घंटों से मुठभेड़ जारीविवादों में Indian Idol 12 का ये कंटेस्टेंट, वायरल हो रही पुरानी तस्वीर, जानिए क्या है मामला…RAIPUR BREAKING : खुद को अविवाहित बताकर युवक ने युवती से बनाया शारीरिक संबंध, फिर शादी करने से किया मना, जान से मारने की दी धमकीबड़ी खबर : एक्शन में DEO, रायपुर के 240 प्राइवेट स्कूलों पर गिरी गाज, तत्काल प्रभाव से मान्यता खत्म, देखें लिस्ट‘तांडव’ पर भड़की कंगना, डायरेक्टर अली जाफर से पूछा- अल्लाह का मजाक उड़ाने की हिम्मत है?BIG BREAKING : सड़क किनारे सो रहे 20 मजदूरों को ट्रक ने रौंदा, 2 मासूम समेत 15 लोगों की मौत, ट्रक ड्रायवर अरेस्टराशिफल : इन 5 राशियों को धन, सेहत और जॉब को लेकर हो सकती है परेशानी, जानें सभी राशियों का हाल

महिला के जाल में फंसा पूर्व सैनिक, पाकिस्तान के लिए करने लगा ये काम, चढ़ा पुलिस के हत्थे

Som dewanganJanuary 9, 20211min


 

लखनऊ: उत्तर प्रदेश एटीएस ने पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाले सेना के पूर्व जवान को हापुड़ से गिरफ्तार किया है। ऑपरेशन क्रॉस कनेक्शन मिलिट्री इंटेलिजेंस की सूचना पर यूपी एटीएस ने हाथरस से 6 महीने पहले सेवानिवृत्त हुए सेना के सिपाही सौरभ शर्मा को गिरफ्तार किया।

 

पाकिस्तान खुफिया एजेंसी को दे रहा था गोपनीय जानकारी

जानकारी के मुताबिक रिटायर्ड सिपाही हापुड़ का रहने वाला है। वह साल 2016 से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के संपर्क में था और वह सेना के कई गोपनीय डॉक्यूमेंट पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को भेज चुका है। इसके बदले पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इसको पैसा देती थी। पूछताछ में सैन्यकर्मी ने बताया कि वह साल 2014 के आसपास एक महिला से फेसबुक के जरिए मिला था। महिला ने अपने आपको डिफेंस जॉर्नलिस्ट बताया था।

 

 

READ MORE : बड़ा हादसा : आग में जलकर 10 नवजात बच्चों की मौत, जन्म लेते ही मौत के आगोश में मासूम

 

महिला ने आरोपी पूर्व सैन्यकर्मी से एक स्टोरी के संबंध में जानकारियां मांगी थीं। उन्होंने बताया कि इसके बाद उन्होंने अपनी यूनिट और भारतीय सेना से संबंधित गोपनीय जानकारियां साझा की थीं। पिछले चार सालों से वह ऐसा कर रहे थे। जानकारी के मुताबिक सैन्यकर्मी को जून 2020 में मेडिकल कारणों से सेवानिवृत्त किया गया था।

 

 

READ MORE : 6 सबूत और 3 सवाल, 10 बच्चों की मौत का अस्पताल प्रबंधन ही जिम्मेदार… पढ़ें

 

इन्फॉर्मेशन के बदले मिलते थे पैसे

बताया गया कि जानकारियां साझा करने की एवज में पूर्व सैन्यकर्मी को पैसे भी दिए गए थे। सेना की खुफिया एजेंसी और उत्तर प्रदेश एटीएस के संयुक्त ऑपरेशन में रिटायर्ड सैन्यकर्मी को शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद उन्हें लखनऊ में एक स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा। बाद में उन्हें यूपी एटीएस की रिमांड में भेजा जा सकता है।

 

READ MORE : WhatsApp पर B-Day Wish करने 12 बजे तक जागने की जरूरत नहीं, बस शेड्यूल लगाएं और सो जाएं, जानें कैसे

 

 

एटीएस की छापेमारी

बता दें कि बीते 6 जनवरी को एटीएस ने यूपी के खलीलाबाद (संत कबीरनगर), बस्ती और अलीगढ़ समेत पांच जगह छापेमारी की थी। इस छापेमारी में संतकबीर नगर से अजीज उल हक नाम के एक रोहिंग्या को गिरफ्तार किया था। एटीएस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक अजीज 2001 में अवैध रूप से भारत में प्रवेश करके संत कबीरनगर के खलीलाबाद क्षेत्र में रह रहा था। जांच में उसके पास से फर्जी दस्तावेज बरामद हुए थे। अजीज के खाते में अलग-अलग जगह से रुपए आए थे।

 

 

READ MORE : Trump पर Twitter का तगड़ा एक्शन, हमेशा के लिए OUT किए गए पूर्व राष्ट्रपति, दुनियाभर में किरकिरी

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories