ताज़ा ख़बर
शर्मसार : पहले लिंग परिवर्तन करवाया, फिर 6 दरिंदों ने की हवस पूरी, भीख मंगवाकर दूसरे से दूसरे भी करवाते थे रेपसुकमा पुलिस को मिली बड़ी सफलता, एक वारंटी नक्सली को दबोचासांसद शताब्दी रॉय के बीजेपी में शामिल होने की अटकले तेज, कही ये बात…देखें VIDEO : “मोदी तेरी तानाशाही नहीं चलेगी… नहीं चलेगी” के नारों से गूंजी राजधानी, केंद्र सरकार के खिलाफ फूटा कांग्रेस का गुस्साBREAKING NEWS : दर्दनाक सड़क हादसे में 11 लोगों की मौत, मची चीख पुकार… PM मोदी ने जताया दुखChhattisgarh Budget 2021-22 : बजट को लेकर मंत्रियों से चर्चा करेंगे CM बघेल, बारी-बारी लेंगे विभाग की जानकारीCG BREAKING : जवान ने की खुदकुशी, अपने ही सर्विस रायफल से खुद को मारी गोली, नक्सल ऑपरेशन के दौरान की आत्महत्याKisan Andolan : आज 9वीं बार सरकार और किसानों के बीच होगी बातचीत, क्या निकलेगा नतीजा?रायपुर में इस शख्स को लगेगा कोरोना का पहला टीका, कल से शुरू होगा वैक्सीनेशन प्रोसेसबड़ा हादसा : गोबर से भरे गड्ढे में गिरा 10 साल का बच्चा, दम घुटने से हुई मौत

साइबर ठगों के गिरोह का पर्दाफाश, 16 अपराधियों को किया गिरफ्तार, इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़ चला रहा था गिरोह, ऐसे बना था ऑनलाइन शिकार

Sanjay sahuJanuary 9, 20211min

 

 

गया। इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़ ठगों का गिरोह चलाने वाले 16 साइबर ठगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इन ठगों के बारे में पुलिस को लंबे समय से इनपुट मिल रहा था। इस पर सिटी एसपी राकेश कुमार की नेतृत्व में गठित टीम ने बोधगया के होटल में छापेमारी की, जहां से ऑनलाइन ठगी करने वाले 16 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है।

 

 

वहीं, होटल के कमरे से 2 किलोग्राम नकली सोने का सिक्का, 40 एटीएम कार्ड,12 बैंक पासबुक, 24 महंगे स्मार्ट फोन,12 सिम कार्ड,14 फर्जी स्टाम्प बरामद किया गया है।

 

 

 

 

इन सब के अतिरिक्त 10 किलोग्राम ऑनलाइन कम्पनी का पंपलेट, 2500 स्क्रैच कार्ड,1लैपटॉप, 2 कलर प्रिंटर,1 किलोग्राम गांजा, कई बोतल विदेशी शराब, कई कम्पनियों की नकली आईडी कार्ड और कई महंगे कपड़े भी बरामद किए गए हैं।

 

 

व्हाट्सएप के माध्यम से होता था काम

 

 

READ MORE:IND vs AUS 3rd Test : मजबूत स्थिति में कंगारू, ताश के पत्तों की तरह बिखरे भारतीय खिलाड़ी, देखें ताजा स्कोर

 

 

इस संबंध में गया एसएसपी आदित्य कुमार ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों ने बताया है कि वे नालंदा के कतरीसराय क्षेत्र में आॅनलाइन ठगी करने वाले गिरोह से व्हाट्सएप्प के माध्यम से ऐसे लोगों का नाम, पता और मोबाइल नम्बर पता करने का काम करता थे जो विभिन्न कम्पनियों से आॅनलाइन शॉपिंग किया करते हैं।

 

इस तरह देते थे घटना को अंजाम

 

एक बार जानकारी मिलने के बाद वे उन ग्राहकों को एक लिफाफे में स्क्रेच कूपन और पम्पलेट डालकर पोस्ट करते थे। कूपन मिलने के बाद ग्राहकों उसे लॉटरी समझ कर कूपन को स्क्रैच करते थे और दिए गए नम्बर पर फोन करते थे।

 

फोन आने के बाद ठगों की दूसरी टीम उनसे उनकी भाषा में करती थी। उसके बाद लॉटरी होने की बात बता कर उनसे रुपये मांगने का काम किया करती थी। बता दें कि गिरोह में अलग-अलग भाषा के जानकार लोग शामिल थे।

 

 

READ MORE:BIG BREAKING : राज्य में सिनेमाघर खोलने की इजाजत, मुख्यमंत्री ने दिए आदेश

 

 

पुलिस की मानें तो इस पूरे गिरोह का मास्टरमाइंड रौशन कुमार है, जो पहले भोपाल के पीपुल्स यूनिवर्सिटी से बीटेक की पढ़ाई करता था, लेकिन बाद में इंजीनियरिंग छोड़कर उसने ऑनलाइन ठगी का गिरोह संचालित करना शुरू कर दिया।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories