ताज़ा ख़बर
पुलिस अधीक्षक दुर्ग पहुंचे पाटन के प्रशिक्षणार्थियों के मध्य, बढ़ाया उनका हौसलाफायदा ही फायदा : आप भी बन सकते है करोड़पति, सिर्फ 50 रुपये यहां रोजाना करना होगा जमा, जानें नियम व शर्ते…Voter ID Card Download : आज से Aadhaar, PAN की तरह वोटर कार्ड की पीडीएफ कॉपी भी कर सकते हैं डाउनलोड, जानें क्या है तरीकाएनसीबी को मिली बड़ी कामयाबी, अंडरवर्ल्ड से जुड़ा सबसे बड़ा ड्रग पैडलर हुआ गिरफ्तारमोतियों से बने ब्लाउज में नोरा का कातिलाना अंदाज, सोशल मीडिया का बढ़ाया तापमान, देखे तसवीरें.EXCLUSIVE: SBP पब्लिक स्कूल का एक और कारनामा, मासूम बच्चों के जान से कर रहा खिलवाड़, कोराना में आज से खोला स्कूल, सरकार के मंसूबों पर फेरा पानीBIG BREAKING : मंत्रिमंडल में फेरबदल की संभावनाओं को लेकर सीएम भूपेश का बड़ा बयान, RSS को लेकर कही ये बातBIG BREAKING : सिक्किम बॉर्डर पर झड़प में 20 चीनी सैनिक जख्मी, भारतीय सैनिकों ने नाकुला से खदेड़ाबड़ी खबर : ‘सिर्फ छूना यौन हमला नहीं, त्वचा से त्वचा का संपर्क होना जरूरी, पढ़िए हाई कोर्ट का बड़ा फैसलाCG BREAKING : कपड़ा सुखा रहे पिता को करंट से चिपका देख बचाने पहुंचा पुत्र भी आया चपेट में, पिता की मौत

बर्ड फ्लू का खतरा : दंतेवाड़ा जिले के पोल्ट्री फार्म से लिए गए सैंपल, अभी तक सामने नहीं आया कोई भी मामला

Mahendra Kumar SahuJanuary 9, 20211min


 

दंतेवाड़ा : देश में कुछ राज्यों के पक्षियों में बर्ड फ्लू की पुष्टि के बाद राज्य में भी सावधानी बरती जा रही है। राज्य शासन के निर्देशानुसार कलेक्टर दीपक सोनी के मार्गदर्शन में आज पोल्ट्री फार्म से पशुधन विकास विभाग एवं खाद्य सुरक्षा की संयुक्त टीम के द्वारा देशी, ब्रायलर चिकन के साथ बत्तख के ट्राईकल स्वैप और सीरम का सैंपल कलेक्ट किया गया, जिसे रायपुर स्थित स्टेट लैब में भेजा जाएगा।

 

फूड सेफ्टी ऑफिसर सुष्मित देवांगन ने सभी पोल्ट्री केन्द्रों के लाइसेंस तथा अन्य आवश्यक दस्तावेजों की जांच की। उप संचालक पशुधन विकास विभाग डॉ. अजमेर कुशवाहा ने बताया कि कुक्कुट पालन केंद्र के चारों ओर चूना के अलावा दवाओं का छिड़काव किया गया है। कर्मचारियों को भी पूरी सुरक्षा के बीच मुर्गों आदि की देखभाल व भोजन देने के निर्देश दिए हैं। हालांकि यहां बर्ड फ्लू की आशंका न के बराबर हैं। दूसरे राज्यों से बर्ड सप्लाई पर पूरी तरह से पाबन्दी लगा दी गई है।

 

एवियन इन्फ्लूएंजा या एवियन फ्लू को बर्ड फ्लू कहा जाता है। बर्ड फ्लू पक्षियों से फैलने वाला रोग है। संक्रमित पक्षी के संपर्क में आने से यह रोग इंसानों को हो जाता है चाहे पक्षी मरा हो या जिंदा हो दोनो से ही रोग फैलने का खतरा रहता है। बर्ड फ्लू के लिए एच5एन1 वायरस जिम्मेदार होता है। संक्रमित पक्षी को खाने से भी यह रोग हो सकता है। अगर आप पानी में तैर रहे हैं और उस पानी में कोई संक्रमित पक्षी भी रहा है तो इससे भी बर्ड फ्लू हो सकता है।

 

बर्ड फ्लू एक खास तरह का श्वास रोग होता है यह रोग इतना खतरनाक होता है कि इससे संक्रमित व्यक्ति की जान भी जा सकती है। इस रोग में गले में खराश, खांसी, निमोनिया, बुखार, मांसपेशियों में दर्द, जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं। बर्ड फ्लू से बचने के लिए एक ही तरीका है कि मरे हुए और संक्रमित पक्षियों से दूर रहे हैं और जिन लोगों को यह रोग हुआ है उनसे भी थोड़ी दूरी बना कर रखें और हेल्दी डायट लेकर आराम करें।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories