ताज़ा ख़बर
RAIPUR BREAKING : ट्रैफिक पुलिस की बड़ी कार्रवाई, यातायात नियमोें का उल्लंघन करने वालों से वसूले 1 करोड़ रूपए, क्रेडिट.डेबिट कार्ड से भुगतान की मिली सुविधाहिन्दू देवी-देवताओं का उड़ाया मजाक, वेब सीरीज तांडव के खिलाफ हिंदू संगठनों ने मोर्चा खोलाBREAKING: ट्रक की ठोकर से मासूम बच्ची की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने ट्रक को किया आग के हवालेBREAKING : माओवादियों के अड्डे में जवानों ने बोला धावा, उखाड़ फेंके नक्सल कैंप, कई घंटों से मुठभेड़ जारीविवादों में Indian Idol 12 का ये कंटेस्टेंट, वायरल हो रही पुरानी तस्वीर, जानिए क्या है मामला…RAIPUR BREAKING : खुद को अविवाहित बताकर युवक ने युवती से बनाया शारीरिक संबंध, फिर शादी करने से किया मना, जान से मारने की दी धमकीबड़ी खबर : एक्शन में DEO, रायपुर के 240 प्राइवेट स्कूलों पर गिरी गाज, तत्काल प्रभाव से मान्यता खत्म, देखें लिस्ट‘तांडव’ पर भड़की कंगना, डायरेक्टर अली जाफर से पूछा- अल्लाह का मजाक उड़ाने की हिम्मत है?BIG BREAKING : सड़क किनारे सो रहे 20 मजदूरों को ट्रक ने रौंदा, 2 मासूम समेत 15 लोगों की मौत, ट्रक ड्रायवर अरेस्टराशिफल : इन 5 राशियों को धन, सेहत और जॉब को लेकर हो सकती है परेशानी, जानें सभी राशियों का हाल

सावधान!भूलकर भी डाउनलोड न करें ये सात एप्स, नहीं तो खाली हो जाएगा आपका बैंक अकाउंट

Sanjay sahuJanuary 9, 20211min

 

 

 

नई दिल्ली। सरकार और भारतीय बैंकों ने ग्राहकों को सुरक्षित बैंकिंग सुविधाएं प्रदान करने के लिए कई कदम उठाए हैं। समय-समय पर ग्राहकों को फ्रॉड पर लगाम लगाने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। बता दें कि जब से देश में कोरोना आया तब से फ्रॉड के मामले तेजी से बढ़े हैं।

 

 

किसी कंपनी का कस्टमर केयर नंबर जानने के लिए ग्राहक आम तौर पर गूगल पर सर्च करते हैं और फिर उसे डायल करते हैं। लेकिन कईं बार गूगल पर सर्च किया गया कस्टमर केयर नंबर फर्जी होता है। इस प्रॉड नंबर पर फोन करने के के थोड़ी देर बाद ही कस्टमर के बैंक खाते से पैसे गायब हो जाते हैं।

 

 

लेकिन तब भी जालसाज खातों से पैसों की निकासी कर ही लेते हैं। इस बीच भारत में इंटरनेट ग्राहकों के लिए कस्टमर केयर स्कैम भी एक बड़ी समस्या बन गया है, जिससे लोगों को बड़ा नुकसान उठाना पड़ जाता है।

 

इसके अलावा रिमोट कंट्रोल वाले एप भी कस्टमर केयर फ्रॉड में सबसे बड़ा हथियार माना जाता है। जालसाज इस तरह के स्कैम को अंजाम देने के लिए मोबाइल ग्राहकों को उनके एंड्रॉयड फोन पर रिमोट डेस्कटॉप एप डाउनलोड करने के लिए मजबूर करते हैं।

 

 

READ MORE: WhatsApp पर B-Day Wish करने 12 बजे तक जागने की जरूरत नहीं, बस शेड्यूल लगाएं और सो जाएं, जानें कैसे

 

 

 

साइबर ठग लोगों को मैसेज के जरिए एक लिंक भेजते हैं और रिमोट एक्सेस वाले किसी एप को डाउनलोड करने के लिए बोलते हैं। लोगों को इस बात की कोई जानकारी नहीं होती कि एप को डाउनलोड करने के बाद उनके फोन का पूरा एक्सेस जालसाज के हाथों में चला जाता है। इसके बाद ये स्कैमर फोन में स्क्रीन रिकॉर्डिंग शुरू कर देते हैं।

फ्रॉड से बचने के लिए निम्नलिकित एप को फोन में डाउनलोड न करें।

TeamViewer QuickSupport
Microsoft Remote desktop
AnyDesk Remote Control
AirDroid: Remote access and File
AirMirror: Remote support and Remote control devices
Chrome Remote Desktop
Splashtop Personal- Remote Desktop

हालांकि रिमोट कंट्रोल वाले मैलवेयर एप नहीं होते। ये बड़े काम के एप होते हैं। लेकिन इनका गलत इस्तेमाल होने पर ये काफी खतरनाक साबित हो सकते हैं और ग्राहकों को अच्छा खासा नुकसान हो जाता है।

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories