ताज़ा ख़बर
CG CRIME : शिक्षा का अलख जगाने वाले शिक्षक बना हवस का पुजारी, नोट्स देने के बहाने बुलाया स्कूल, फिर किया छात्रा से दुष्कर्मबड़ी खबर : अब ट्रेनों में भी मिलेगा शराब, राज्य सरकार ने किया नियमों में बदलाव, नई गाइडलाइन जारीअलीबाग जाते समय वरुण धवन की कार का हुआ ऐक्सिडेंट, बाल-बाल बचे दूल्हे राजाCG BREAKING : चलती कार में अचानक लगी भीषण आग, सवार लोग कूद कर बचाए जानRAIPUR BREAKING : सिरफिरे युवक ने 7 गाड़ियों को किया आग के हवाले, CCTV कैमरे में कैद हुई वारदातहैंड सैनिटाइजर से बच्चों को बड़ा खतरा, जा सकती है आंखों की रोशनी, और भी हो सकते है ये नुकसानBIG BREAKING : नगरीय निकायों में बड़े पैमाने पर फेरबदल, कई अधिकारी- कर्मचारी इधर से उधर, आदेश जारीराम मंदिर के निर्माण के लिए शहर के युवाओं में दिखा जोश, हजारों की संख्या में विहिप ने निकाली बाइक रैलीशासकीय पूर्व माध्यमिक शाला मड़ियाकटटा में कोरोना काल में भी हरा भरा है स्कूल परिसर, प्रधान पाठक दयालूराम पिकेश्वर खुद कर रहे देखभालअगर आप iPhone खरीदना चाहते है तो ये खबर जरूर पढ़ें, यहां 16 हजार का मिल रहा बंफर छूट

बड़ा हादसा : आग में जलकर 10 नवजात बच्चों की मौत, जन्म लेते ही मौत के आगोश में मासूम

Sameer VermaJanuary 9, 20211min


 

भंडारा : महाराष्ट्र के भंडारा जिले में शनिवार को एक भयानक हादसा हुआ है. जिला अस्पताल में आग लगने से 10 नवजात बच्चों की मौत हो गई. बच्चों की उम्र एक दिन से लेकर 3 महीने तक है. 7 बच्चों को बचा लिया गया है.

 

मिली जानकारी के मुताबिक, आग सिक न्यूबॉर्न केयर यूनिट (SNCU) में तड़के 2 बजे आग लगी. इस वॉर्ड में करीब 17 बच्चे थे. यूनिट से सात बच्चों को बचा लिया गया है. वहीं, दस बच्चों की मौत हो गई. उधर, नवजात बच्चों की इस दर्दनाक मौत के बाद उनके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. अस्पताल के बाहर लोगों की भीड़ जमा हो गई है. लोग आग लगने की घटना की जांच किये जाने की मांग कर रहे हैं. कई लोग इसे अस्पताल की लापरवाही करार दे रहे हैं.

 

पूरे अस्पताल को पुलिस ने बंद करवा दिया है. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. दम घुटने से मरने वाले बच्चों का पोस्टमॉर्टम नहीं किया जाएगा. घटना के पीछे की वजह का पता लगाकर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे. घटना के बाद हॉस्पिटल के बाहर काफी भीड़ जमा है. लोगों का आरोप है कि घटना के लिए अस्पताल का प्रशासन जिम्मेदार है.

 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भंडारा में हुए हादसे पर दुख जताया है. राष्ट्रपति ने कहा कि अस्पताल में शिशुओं की असामयिक मृत्यु से मुझे गहरा दुख हुआ है. घटना में अपनी संतानों को खोने वाले परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना.

 

READ  MORE : BIG BREAKING : कांग्रेस के दिग्गज नेता का निधन, 94 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

 

वहीं, PM मोदी ने इसे दिल दहला देने वाली त्रासदी बताया है. उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा कि हमने बहुत कीमती नई जिंदगियां खो दीं. मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के साथ हैं. मेरी प्रार्थना है कि घायल बच्चे जल्द से जल्द ठीक हो जाएं.

 

 

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories