ताज़ा ख़बर
बड़ी खबर: रायपुर स्टेशन में बम, यात्रियों में मचा हड़कंप, RPF बमरोधी दस्ता व जवान मौके परRAIPUR BREAKING: ऑटो से लटकी मिली युवक की लाश, हत्या की आशंका, ऑटो यूनियन के सदस्यों ने किया चक्काज़ाममुंगेली : सीएम भूपेश बघेल ने जिले में कृषि महाविद्यालय और कृषि विज्ञान केंद्र का किया शुभारंभRAIPUR CRIME : कैशियर से 31 लाख रुपये की लूट, पुलिस ने 9 आरोपियों को किया गिरफ्तार, महज 4 दिन में सुलझाया मामलाBREAKING : ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष तैयब हुसैन पर गिरी गाज, विधायक से किया था बदसलूकी, अब शहजादी कुरैशी हो सकते हैं नए अध्यक्षबड़ी खबर: मंत्रालय जाने पर प्रतिबंध हटा, अब पास लेकर भीतर जा सकेंगे आम लोगVIDEO : उरला लूटकांड के आरोपी गिरफ्तार, थाने में पूछताछ जारी, देर शाम रायपुर IG करेंगे खुलासाEXCLUSIVE VIDEO : रायपुर ट्रैफिक पुलिस की करतूत, घूस लेता ट्रैफिक जवान TCP24 के कैमरे में हुआ कैद, पूछे जाने पर जोड़ने लगा हाथ-पैरकौन हैं नड्डा? PL पुनिया के सवाल पर कांग्रेस ने दिया मजेदार जवाब, छत्तीसगढ़वासियों को ही आएगा समझनया रायपुर में मिली महिला के शव की अब तक नहीं हो सकी पहचान, पड़ोसी जिलों में भी चल रही पूछताछ

जनवरी में खुलेंगे स्कूल-कॉलेज, शिक्षामंत्री बोले- क्लास भेजना न भेजना पालकों की मर्जी

Mahendra Kumar SahuDecember 30, 20201min


 

नई दिल्ली : कोरोना संक्रमण में आ रही गिरावट को देखते हुए प्रदेश में 4 जनवरी से स्कूलों, कॉलेजों और हॉस्टल को खोलने का फैसला लिया गया है.

त्रिपुरा में पिछले छह महीनों में कोरोना के 33, 244 मामले और 382 मौतें दर्ज की गई हैं. शिक्षामंत्री रतन लाल नाथ ने मंगलवार को कहा कि शिक्षा की उच्चाधिकार समिति ने कल शाम एक बैठक में शिक्षा संस्थानों को पांचवीं कक्षा से कॉलेज स्तर और छात्रावासों को शिक्षकों और अन्य कर्मचारियों की शत-प्रतिशत उपस्थिति के साथ फिर से खोलने का फैसला किया हालांकि, छात्रों की उपस्थिति उनके अभिभावकों की सहमति के अधीन होगी.

 

उन्होंने कहा कि सभी सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त और निजी स्कूलों में चार जनवरी से पांचवीं से आठवीं तक की कक्षाएं फिर से शुरू कर सकते हैं. इसके अलावा स्कूलों, कॉलेजों और पेशेवर संस्थानों से जुड़े हॉस्टल भी खोले जा सकते हैं.

 

सरकार ने कक्षा नौवीं से बारहवीं के छात्रों को इस महीने की शुरूआत में स्कूल आने के लिए कहा था, जिसमें शौचालय की लगातार सफाई सहित नियमित सफाई और परिसर की सफाई के प्रावधान सुनिश्चित किए गए थे. राज्य सरकार ने स्कूलों में पानी, साबुन, सेनिटाइजर और सफाई सामग्री की व्यवस्था के लिए लाखों रुपये खर्च किए हैं.

 

 

 

मंत्री नाथ ने कहा कि स्कूल के प्रधानाध्यापकों को कक्षाओं की नियमित सफाई, शौचालय एवं परिसर की स्वच्छता और स्कूलों में रोग मुक्त वातावरण सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त धनराशि उपलब्ध करायी गई है.


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories