ताज़ा ख़बर
बड़ी खबर : 5वीं से 8वीं तक की कक्षाओं के लिए 27 जनवरी से खुलेंगे स्कूल, शिक्षा मंत्री ने दी जानकारीBREAKING : बीजापुर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता, मुठभेड़ में 8 लाख के इनामी नक्सली को किया ढेरRAIPUR BREAKING : राजधानी में फिर हुई चाकूबाजी, घायल युवक घटनास्थल से हुआ गायब, तलाश में जुटी पुलिसखेल महोत्सव के दूसरे दिन उमड़ा लोगों का जन सैलाब, आज शामिल होंगे विधायक और कलेक्टरपखांजूर : क्षेत्र में शुरू हुई वैक्सीनेशन की प्रक्रिया, पहले चरण में 300 सौ लोगों को लगा टीकामुख्यमंत्री भूपेश बघेल का महासमुंद दौरा कल, साहू समाज के कार्यक्रम में होंगे शामिलपुलिस विभाग में अटकी भर्ती प्रक्रिया को अभ्यर्थियों ने खोला मोर्चा, मांगें पूरी नहीं होने पर उग्र आंदोलन की दी चेतावनीBREAKING : जिले में पदस्थ पांच ASI का ट्रांसफर, एसपी ने जारी किया आदेश, देखें सूचीबड़ी खबर: CAIT ने वाट्सएप व फेसबुक की मनमानी नीतियों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की याचिकाBIG BREAKING : रायपुर में 20 लाख की लूट, कैशियर पर रॉड से जानलेवा हमला, वारदात CCTV में कैद

BIG BREAKING : पटवारी निलंबित, तहसीलदार को शोकॉज नोटिस, किसान आत्महत्या मामले में बड़ी कार्रवाई

Mahendra Kumar SahuDecember 5, 20201min

 


 

कोंडागांव । बड़ेराजपुर विकासखंड के मारंगपुरी गांव में एक किसान धनीराम ने खुदकुशी कर ली थी. मामले में कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा ने बड़ी कार्रवाई की है. कलेक्टर ने संबंधित पटवारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. इसके साथ ही तहसीलदार को शोकॉज नोटिस जारी किया है.

 

मामला सामने आने के बाद कलेक्टर ने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व केशकाल से किसान आत्महत्या के संबंध में त्वरित जानकारी मांगी थी. जांच में पता चला कि धनीराम के 2.713 हेक्टेयर भूमि पर धान बोया गया था, लेकिन गलती से 0.320 हैक्टेयर में धान की प्रविष्टि हो गई थी. जिससे वह मानसिक रूप से परेशान था.

 

पटवारी डोंगर नाग की लापरवाही के कारण उसे तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. इसके साथ ही तहसीलदार बड़ेराजपुर एचआर नायक को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है.

 

 

दरअसल किसान धनीराम सरकार की एमएसपी वाली योजना के अंतर्गत धान बेचना चाहता था, वह इंतजार में था कि कब उसे टोकन मिले और वह अपनी उपज बेचकर अपना कर्ज पटा सके, लेकिन हुआ कुछ और ही.

 

धनीराम अपने रिश्तेदार प्रेमलाल नेताम को टोकन कटाने के लिए भेजा. तब पता चला कि 11 क्विंटल धान ही बेच सकेंगे. इसके चलते वह मानसिक तनाव में आ गया व कर्ज के बोझ से इतना विचलित हो गया कि दूसरे दिन खेत जाने के की बात करते घर से निकल खेत के बगल में ही पेड़ पेड़ से लटक कर आत्महत्या कर ली.


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories