ताज़ा ख़बर
RAIPUR BREAKING: रिटायर्ड SBI मुख्य प्रबंधक को पेंशन भुगतान करने का लालच देकर लाखों की धोखाधड़ी, बैंक में नकली खाता खुलवा की जालसाजी, FIR दर्जCORONA BREAKING : छत्तीसगढ़ में कोरोना की रिकवरी रेट ने पकड़ी रफ्तार, आज 566 संक्रमितों की पुष्टि, 515 स्वस्थ्य होकर लौटे घरIG ऑफिस में तैनात CRPF जवान सहित 3 लोग तस्करी करते बिलासपुर में गिरफ्तार, 9 लाख की शराब बरामदबड़ी खबर : अब अपराधियों की नाक में दम करेंगे ट्रांसजेंडर, राज्‍य पुलिस में होगी सीधी बहालीभाजपा प्रदेश अध्यक्ष का कांकेर दौरा 18 को, तैयारियों को लेकर भाजपा ने ली बैठकबड़ी खबर : 5वीं से 8वीं तक की कक्षाओं के लिए 27 जनवरी से खुलेंगे स्कूल, शिक्षा मंत्री ने दी जानकारीBREAKING : बीजापुर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता, मुठभेड़ में 8 लाख के इनामी नक्सली को किया ढेरRAIPUR BREAKING : राजधानी में फिर हुई चाकूबाजी, घायल युवक घटनास्थल से हुआ गायब, तलाश में जुटी पुलिसखेल महोत्सव के दूसरे दिन उमड़ा लोगों का जन सैलाब, आज शामिल होंगे विधायक और कलेक्टरपखांजूर : क्षेत्र में शुरू हुई वैक्सीनेशन की प्रक्रिया, पहले चरण में 300 सौ लोगों को लगा टीका

किसान आंदोलन का आज 9वां दिन, केंद्र बोला- MSP रहेगी, किसान बोले- मुद्दा कानूनों का है

Sameer VermaDecember 4, 20201min


 

नई दिल्ली : कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन का आज 9वां दिन है. आंदोलन के चलते दिल्ली बॉर्डर पर 9 प्वाइंट पर ट्रैफिक बंद कर दिया गया है. केंद्र और किसानों के साथ गुरुवार को हुई बातचीत के बाद ही साफ हो गया था कि आंदोलन अभी थमेगा नहीं, क्योंकि चौथे दौर की इस बातचीत में भी कई मसलों पर गतिरोध बना हुआ है. केंद्र ने भरोसा तो दिलाया, लेकिन किसान कानून वापस करने की मांग पर अड़े रहे. उन्होंने कहा कि कानून वापस लेने के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाया जाए. किसानों और सरकार के बीच पांचवें दौर की बातचीत 5 दिसंबर को होगी.

 

 

केंद्र और किसानों के बीच चौथे दौर की बातचीत करीब 7 घंटे चली. बैठक के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों को भरोसा दिलाया कि मिनिमम सपोर्ट प्राइज (MSP) को छुआ नहीं जाएगा. इसमें कोई बदलाव नहीं होगा. एक्ट के प्रावधानों में किसानों को सुरक्षा दी गई है. उनकी जमीन की लिखा-पढ़ी कोई नहीं कर सकता.

 

किसानों ने कहा- मसला इकलौते MSP का नहीं, बल्कि कानून पूरी तरह वापस लेने का है. भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि केवल एक नहीं, बल्कि कई मसलों पर बातचीत होनी चाहिए. केंद्र और किसानों के बीच अब पांचवें दौर की बातचीत 5 दिसंबर को होगी.


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories