ताज़ा ख़बर
CRIME: नाबालिग से दुष्कर्म के बाद जिंदा दफनाया, इधर, छात्रा को रेप के बाद बोरे में बांधकर पटरियों पर फेंकाबड़ी खबर: मृत महिला की हुई पहचान,पेपर में फ़ोटो देख परिजन थाना पहुंचे, पति पर हत्या का शकबड़ी खबर: रायपुर स्टेशन में बम, यात्रियों में मचा हड़कंप, RPF बमरोधी दस्ता व जवान मौके परRAIPUR BREAKING: ऑटो से लटकी मिली युवक की लाश, हत्या की आशंका, ऑटो यूनियन के सदस्यों ने किया चक्काज़ाममुंगेली : सीएम भूपेश बघेल ने जिले में कृषि महाविद्यालय और कृषि विज्ञान केंद्र का किया शुभारंभRAIPUR CRIME : कैशियर से 31 लाख रुपये की लूट, पुलिस ने 9 आरोपियों को किया गिरफ्तार, महज 4 दिन में सुलझाया मामलाBREAKING : ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष तैयब हुसैन पर गिरी गाज, विधायक से किया था बदसलूकी, अब शहजादी कुरैशी हो सकते हैं नए अध्यक्षबड़ी खबर: मंत्रालय जाने पर प्रतिबंध हटा, अब पास लेकर भीतर जा सकेंगे आम लोगVIDEO : उरला लूटकांड के आरोपी गिरफ्तार, थाने में पूछताछ जारी, देर शाम रायपुर IG करेंगे खुलासाEXCLUSIVE VIDEO : रायपुर ट्रैफिक पुलिस की करतूत, घूस लेता ट्रैफिक जवान TCP24 के कैमरे में हुआ कैद, पूछे जाने पर जोड़ने लगा हाथ-पैर

बिलख रही ममता : दूरस्थ अंचलों में ग्रामीण बेहाल, नदी पार कर चारपाई में पहुंचे अस्पताल

Smita DubeyNovember 25, 20201min


 

पखांजुर। प्रदेश के दूरस्थ अंचलों में ग्रामीण लाचारी के दिन काट रहे हैं। बस्तर संभाग के ग्रामीण अंचलों में आज भी स्वास्थ्य व्यवस्था खाट पर लटकी हुई है। आजादी के 72 साल बीत जाने के बाद भी प्रदेश के कई ऐसे हिस्से हैं जहां स्वास्थ्य व्यवस्था दम तोड़ चुकी है और लोगों को दम तोड़ने के लिए विवश कर रही है।

 

 

ऐसा ही एक मामला कोयलीबेड़ा विकासखंड का सामने आया है। यहां एक महिला को प्रसव पीड़ा होने पर अस्पताल जाने के लिए एंबुलेंस उपलब्ध नहीं हो पाया, जिसके चलते उसे ग्रामीणों की मदद से खाट पर लाद कर कोटरी नदी को पार कराया गया और अस्पताल पहुंचाया गया।

 

ग्रामीणों ने बताया कि उन्होंने कई बार 102 को फोन लगाया। लेकिन कोई रिस्पांस नहीं आया। जिसके बाद ग्रामीणों ने महिला को बांदे अस्पताल खुद ही खाट पर पहुंचाया। अस्पताल पहुंचने के बाद डॉक्टरों ने महिला का सुरक्षित प्रसव कराया। फिलहाल जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

 

लगातार बड़े-बड़े दावे करने वाले स्वास्थ्य मंत्री के सभी दावे खोखले साबित होते दिख रहे हैं। आम से खास सबको स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने का हमेशा दावे करते रहते हैं। जो कहीं न कहीं साबित हो रहा है। ऐसा नजारा पहली बार देखने को नहीं मिला है। पहले भी सामने आ चुका है। ऐसे में संवेदनशील स्वास्थ्य मंत्री विभाग के आला अधिकारियों की लापरवाहियों पर सख्ती बरतने की जरूरत है।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories