ताज़ा ख़बर
CHHATTISGARH: वॉटर ATM लगाने वाली कंपनी हुए ठगी का शिकार, पुराने कर्मचारियों ने 21 लाख रुपए की धोखाधड़ीEXCLUSIVE: कहीं विवाह योग्य युवक-युवतियां फिर न रह जाएं कुंवारे, दिसंबर में महज 5 ही शुभ मुहूर्तBIG BREAKING : एक साथ 4 स्टार्स कोरोना पॉजिटिव.. वरुण, कियारा, नीतू और अनील कपूर हुए संक्रमित, शूटिंग पर ब्रेकप्रदेश के इस जिले में बनेंगे 568 करोड़ के 64 रोड, CM बघेल आज 792 करोड़ के विकासकार्यों की देंगे सौगातकोरोना योद्धाओं पर लाठियां बरसाती CM शिवराज की पुलिस, जरूरत पूरी तो भूली सरकार! जानें पूरा मामलाकिसान आंदोलन का आज 9वां दिन, केंद्र बोला- MSP रहेगी, किसान बोले- मुद्दा कानूनों का हैराशिफल : मीन राशि वालों को मिलेगा जीवनसाथी का सहयोग, आत्मविश्वास में रहेगी कमीसावधान: रायपुर में अब ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों की खैर नहीं, इस तारीख से शुरू हो रही है चलानी कार्यवाई, जारी किया आदेशCORONA BREAKING : छत्तीसगढ़ में आज 1555 नए कोरोना संक्रमितों की पुष्टि, 17 लोगों ने तोड़ा दम, देखें मेडिकल बु​लेटिनBIG BREAKING : कलेक्टर की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव, प्रशासनिक अमले में मचा हड़कंप

सीएम बघेल का बड़ा बयान, कहा- भाजपा नेताओं ने भी अंतर-धार्मिक शादियां की हैं, कितनों पर लव जिहाद लागू हुआ है

Som dewanganNovember 21, 20201min


 

रायपुर: इन दिनों लव जिहाद का मुद्दा एक बार फिर से सुर्खियों में है। उत्तर प्रदेश के बाद अब कई बीजेपी शासित राज्यों ने कहा है कि वे भी लव जिहाद के लिए कानून बनाएंगे। अब छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बयान आया है। उन्होंने कहा है, “भाजपा के कई नेताओं के परिवारवालों ने दूसरे धर्म में शादी की है। मैं उन भाजपा नेताओं से पूछना चाहता हूं कि क्या ये शादियां भी लव जिहाद की परिभाषा के अंतर्गत आएंगी?”

लव जिहाद पर कानून बनाने की मांग तेज होती जा रही है। अभी केन्द्र सरकार ने तो इस मामले में कुछ नहीं कहा है पर भाजपा शासित राज्यों में इसकी शुरुआत हो चुकी है। मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक हो या गुजरात सब इस पर कानून बनाने के लिए मसौद तैयार करने में लग गए हैं। वहीं कांग्रेस शासित राज्य अन्य राज्यों द्वारा इस तरह का कानून लाने का विरोध कर रहे हैं।

 

 

UP-MP में कानून लाने की तैयारियां तेज


 

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने लव जिहाद के खिलाफ प्रस्तावित कानून का मसौदा तैयार कर लिया है। यह मसौदा परीक्षण के लिए विधायी विभाग को भेज दिया गया है। इसे संभवत: अगली कैबिनेट बैठक में पेश किया जा सकता है। विभाग ने कानून का जो मसौदा तैयार किया है उसमें ‘लव जिहाद’ शब्द का जिक्र नहीं है। इसे गैर कानूनी धर्मांतरण निरोधक बिल कहा जा रहा है।

राजनीतिक चर्चाओं में लव जिहाद कहे जाने वाले मामले को ही गैर कानूनी धर्मांतरण माना जाएगा और ऐसे मामले में दोषी पाए जाने पर 5 से 10 साल की सजा का प्रावधान किया जा सकता है। मध्य प्रदेश सरकार ने अपने प्रस्तावित बिल में पांच साल की सजा का प्रावधान किया है। देश के अन्य राज्य भी इस तरह का कानून बनाने की तैयारी है। आम बोलचाल में लव जिहाद कहे जाने वाले मामलों में बहला-फुसलाकर, झूठ बोलकर या जबरन धर्मांतरण कराते हुए अंतर धार्मिक विवाह किए जाने की घटनाओं को शामिल किया जाता है। प्रस्तावित कानून सभी धर्मों के लोगों पर समान रूप से लागू होगा।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories