ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : छत्तीसगढ़ में आज 1555 नए कोरोना संक्रमितों की पुष्टि, 17 लोगों ने तोड़ा दम, देखें मेडिकल बु​लेटिनBIG BREAKING : कलेक्टर की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव, प्रशासनिक अमले में मचा हड़कंपराज्य सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को दिया बड़ा तोहफा, DA में तीन फीसदी बढ़ोतरी का ऐलानEXCLUSIVE: बैंक ऑफ बड़ौदा बैंक का बड़ा कारनामा, चेक जारी करने में की ये गलती, अब खाताधारक हो रहे परेशानBIG BREAKING : मातम में बदली शादी ​की खुशियां, बरातियों से भरा वाहन खाई में गिरा, दूल्हा समेत 8 की मौतBREAKING : जनसम्पर्क विभाग के चार अधिकारी बने सहायक संचालक, राज्य सरकार ने जारी किया आदेशलॉकडाउन के बाद पहली बार खुला रायपुर का ये टॉकीज, दोबारा रिलीज हुई छत्तीसगढ़ फिल्मBREAKING : जारी होने वाली है निगम मंडलों की तीसरी सूची! CM भूपेश दिल्ली रवानाभारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद की जयंती आज, CM भूपेश ने किया नमनRAIPUR : राजधानी में एक बार फिर ट्रक चोर गैंग सक्रििय, लोहे से भरी ट्रक को किया पार, FIR दर्ज

फिर हमें घरों में कैद करेगा कोरोना! कहीं नाइट कर्फ्यू तो कहीं लॉकडाउन, WHO ने पहले दी थी चेतावनी

Sanjay sahuNovember 20, 20201min

 

 

 

नई दिल्ली। देश में एक बार फिर कोरोना वायरस रफ्तार पकड़ लिया है। रोज संक्रमण और मौतों के आंकड़े बढ़ते ही जा रहे है। सर्दी में इजाफा और त्योहारी मौसम के बीच ज्यादा कोरोना के केस मिले हैं।

 

दिल्ली, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र सहित देश के कई हिस्सों में संक्रमितों की संख्या में फिर उछाल आ रहा है। ऐसे में सरकारें दोबारा सख्ती, नाइट कर्फ्यू से लेकर लॉकडाउन तक पर विचार करने लगी हैं।

 

 

कई जगह तो इस तरह के कदम उठा भी लिए गए हैं। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या हम दोबारा मार्च वाली स्थिति में पहुंच रहे हैं, जब कोरोना ने सभी को घरों के भीतर कैद कर दिया था।

 

डब्ल्यूएचओ की चेतावनी और कई यूरोपीय देशों के अनुभव तो इसी ओर इशारा कर रहे हैं। हालांकि, कुछ जानकार यह भी बता रहे हैं कि पूरे देश या राज्य में लॉकडाउन तो नहीं होने जा रहा है, लेकिन अधिक केसों वाले जिलों और शहरों में फिर लॉकडाउन लग सकता है।

यूपी के गढ़मुक्तेश्वर में 25 से 30 नवंबर तक लॉकडाउन

यूपी के हापुड़ जिले के गढ़मुक्तेश्वर में 25 से 30 नवंबर के बीच लॉकडाउन लगा दिया गया है। हालांकि, यहां लॉकडाउन अधिक कोरोना केसों की वजह से नहीं लिया गया है, बल्कि गंगा किनारे लोगों के जुटान को रोकने के लिए ऐसा किया गया है।

 

गढ़मुक्तेश्वर में कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान के लिए हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु जुटते हैं। इस बार कोरोना की वजह से यहां भारी भीड़ ना जुटे इसलिए स्थानीय प्रशासन ने यह फैसला लिया है।

अहमदाबाद में 57 घंटे का कर्फ्यू

गुजरात के अहमदाबाद शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए शुक्रवार से निगम सीमा अंतर्गत 57 घंटे का कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया गया है। मौजूदा हालात के मद्देनजर गुजरात सरकार ने राज्य में 23 नवंबर से माध्यमिक स्कूल और कॉलेज खोलने के अपने फैसले पर रोक लगा दी है।

 

अधिकारियों ने कहा कि अहमदाबाद शहर में शुक्रवार (20 नवंबर) रात 9 बजे से कर्फ्यू शुरू होगा, जो सोमवार (23) सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा।

 

राजधानी दिल्ली में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार

 

राजधानी दिल्ली में तो कोरोना का ग्राफ तेजी से ऊपर की ओर भाग रहा है। रिकॉर्ड संख्या में लोगों के संक्रमित होने और जान गंवाने की वजह से दिल्ली को लेकर टेंशन बढ़ गई है। अरविंद केजरीवाल सरकार ने एक तरफ जुमार्ना राशि में वृद्धि कर दी है तो सादियों में मेहमान की संख्या में कमी कर दी गई है। छठ पूजा पर लोगों को नदियों और तालाबों के किनारे जाने की इजाजत नहीं दी गई है तो राज्य सरकार एक बार फिर बड़े बाजारों में लॉकडाउन पर विचार करने को मजबूर हो गई है।

मध्य प्रदेश में आज मंथन

मध्यप्रदेश में कोरोना के मामले एक बार फिर बढ़ने के बीच सरकार शुक्रवार को उच्च स्तरीय बैठक में कोरोना संबंधी मामलों की समीक्षा करेगी। राज्य के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने यहां मीडिया से कहा कि दिन में 3 बजे एक उच्च स्तरीय बैठक में कोरोना संबंधी मामलों की समीक्षा होगी। इसमें कोरोना पर अंकुश लगाने के लिए नए निर्णय लिए जा सकते हैं।

डब्ल्यूएचओ ने चेताया

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के क्षेत्रीय निदेशक ने कहा है कि सर्दियों के करीब आते ही पूरे पश्चिम एशिया में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। बड़ी संख्या में मौतों को रोकने के लिए देशों को पाबंदियों को और कड़ा करने और बचाव के कदम उठाने की जरूरत है।

दुनिया के कई देशों में फिर लॉकडाउन की नौबत

कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों ने पूरी दुनिया को एक बार फिर चिंता में डाल दिया है। पूरे विश्व में अब तक 5.48 करोड़ से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं। एहतियात बरतते हुए सरकारों ने जिन नियमों में कुछ हफ्तों पहले ढील दी थी उन्हें एकबार फिर लागू कर दिया है।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories