ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : छत्तीसगढ़ में आज 1555 नए कोरोना संक्रमितों की पुष्टि, 17 लोगों ने तोड़ा दम, देखें मेडिकल बु​लेटिनBIG BREAKING : कलेक्टर की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव, प्रशासनिक अमले में मचा हड़कंपराज्य सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को दिया बड़ा तोहफा, DA में तीन फीसदी बढ़ोतरी का ऐलानEXCLUSIVE: बैंक ऑफ बड़ौदा बैंक का बड़ा कारनामा, चेक जारी करने में की ये गलती, अब खाताधारक हो रहे परेशानBIG BREAKING : मातम में बदली शादी ​की खुशियां, बरातियों से भरा वाहन खाई में गिरा, दूल्हा समेत 8 की मौतBREAKING : जनसम्पर्क विभाग के चार अधिकारी बने सहायक संचालक, राज्य सरकार ने जारी किया आदेशलॉकडाउन के बाद पहली बार खुला रायपुर का ये टॉकीज, दोबारा रिलीज हुई छत्तीसगढ़ फिल्मBREAKING : जारी होने वाली है निगम मंडलों की तीसरी सूची! CM भूपेश दिल्ली रवानाभारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद की जयंती आज, CM भूपेश ने किया नमनRAIPUR : राजधानी में एक बार फिर ट्रक चोर गैंग सक्रििय, लोहे से भरी ट्रक को किया पार, FIR दर्ज

एक्टिवा सवार दम्पति को रौंदने वाले कार का मिला सुराग, कारोबारी निकला गाड़ी मालिक, पुलिस की जांच पर उठ रहे सवाल

Mahendra Kumar SahuNovember 19, 20201min


 

रायपुर : एक्टिवा सवार दम्पति को रौंदने वाले कार के मालिक का पता आख़िरकार पुलिस ने लगा लिया है। नीले रंग की फोर्ड इको स्पोर्ट एसयूवी का मालिक आनंद मोहन अग्रवाल है। दंपति को रौंदने वाली कार का नंबर सीजी 04 एचजे 0324 है। जो फाफाडीह टिम्बर मार्केट निवासी आनंद मोहन अग्रवाल का है।

बता दें कि 15 नवम्बर को घडी चौक के करीब गुरु तेग बहादुर उद्यान के सामने एक्टीवा सवार दंपति को रौंद दिया था। जिसमे एक की मौत हो गई थी। वही पति गंभीर रूप से घायल हो गया था। पीड़ित परिवार ने आला अधिकारियों से गुहार लगाई। अधिकारियों के फटकार के बाद हरकत में थाना प्रभारी आये। जिसके बाद कार मालिक के बारे में जानकारी जुटाई। वहीं कार मालिक से जब पुलिस ने पूछताछ की तो कहा ड्राइवर गाड़ी चला रहा था।

वहीं दूसरी ओर पड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस भी आरोपियों की बात मानकर मामले की जांच करने की बजाए कारोबारी की बात पर भरोस कर बैठ गई है, जिससे कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

 

कार चालक ने नहीं रोकी गाड़ी

स्थानीय लोगों का कहना है की कार की रफ्तार इतनी तेज थी की एक्टीव लगभग 10 मीटर दूर गिरी। जबकि गाड़ी में सवार युवक सुनील खटवानी दूर जा गिरा, पीछे बैठी रेणु खटवानी हवा में कई मीटर उछल कर गिरी और कार के सामने आ गई, लेकिन कार चालक ने गाड़ी नहीं रोकी। डाक्टरी जांच में रेणु के शरीर के जख्म और टूटी हुई पसलियों से आशंका जताई जा रही है की उसे ठोकर लगने के बाद कार से रौंदा गया जिसके बाद कार चालक भाग निकला।

रेणु के सिर में गंभीर चोट आई और मौके पर ही अत्याधिक खून बह गया। कंट्रोल रूम, राज भवन, मुख्यमंत्री निवास करीब होने के बाद भी 15 मिनट तक पीसीआर नहीं पहुंची, स्थानीय लोगों ने दंपति को दूसरी कार से मेकाहारा भेजा। जहां से पति-पत्नी को निजी अस्पताल रिफर कर दिया। गंभीर चोट,मल्टीपल फैक्च्रर और अत्याधिक खून बहने के कारण दो बच्चों की मां रेणु की अगले दिन ही अस्पताल में मौत हो गई। जबकि पति सुनील खटवानी अस्पताल में मौत से लड़ रहा है।

 

अग्रवाल परिवार ने अपराधी का साथ देकर अपराध को छिपाया

पीड़ित परिवार का आरोप है कि दुर्घटना के बाद कार चलाने वाले ने कार घर के परिसर में बने यार्ड में खड़ी कर दी। पुलिस को घटना की जानकारी देने के बजाय आनंद मोहन अग्रवाल और उसके परिवार ने जानकारी छिपा कर रखी। पीड़ित के परिजनों ने कहा की अपराध को छिपाना भी एक अपराध है। गाड़ी नंबर का खुलासा तब हुआ जब पीड़ित परिवार खुद गुहार लगाने पहुंचा आला अधिकारियों के पास पहुंचा, जिसके बाद गंभीरता से मामले की जांच हुई, संबंधित कार का पता चला और सिविल लाइन थाना पुलिस को वाहन के मालिक और नंबर की जानकारी दी गई।

 

पुलिस जाँच पर उठ रहे है सवाल

इस पुरे मामले में पुलिस की कार्रवाई पर भी सवाल उठ रहे है। सिविल लाइन थाना पुलिस 5 दिनों तक आरोपी और कार मालिक का पता नहीं कर पायी। पीड़ित परिवार जब आला अधिकारियों के साथ साथ एसएसपी से गुहार लगाता है तब सीसीटीवी फूटेज खंगाले जाते हैं और 5 दिन बाद थाना प्रभारी हरकत में आते हैं।

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories