ताज़ा ख़बर
राशिफल : मीन राशि वालों को मिलेगा जीवनसाथी का सहयोग, आत्मविश्वास में रहेगी कमीसावधान: रायपुर में अब ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों की खैर नहीं, इस तारीख से शुरू हो रही है चलानी कार्यवाई, जारी किया आदेशCORONA BREAKING : छत्तीसगढ़ में आज 1555 नए कोरोना संक्रमितों की पुष्टि, 17 लोगों ने तोड़ा दम, देखें मेडिकल बु​लेटिनBIG BREAKING : कलेक्टर की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव, प्रशासनिक अमले में मचा हड़कंपराज्य सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को दिया बड़ा तोहफा, DA में तीन फीसदी बढ़ोतरी का ऐलानEXCLUSIVE: बैंक ऑफ बड़ौदा बैंक का बड़ा कारनामा, चेक जारी करने में की ये गलती, अब खाताधारक हो रहे परेशानBIG BREAKING : मातम में बदली शादी ​की खुशियां, बरातियों से भरा वाहन खाई में गिरा, दूल्हा समेत 8 की मौतBREAKING : जनसम्पर्क विभाग के चार अधिकारी बने सहायक संचालक, राज्य सरकार ने जारी किया आदेशलॉकडाउन के बाद पहली बार खुला रायपुर का ये टॉकीज, दोबारा रिलीज हुई छत्तीसगढ़ फिल्मBREAKING : जारी होने वाली है निगम मंडलों की तीसरी सूची! CM भूपेश दिल्ली रवाना

बराक ओबामा का बड़ा खुलासा, कहा- पाक में लादेन को मारने का पूरा प्लान, ऑपरेशन पूरा होते ही जरदारी को किया था फोन

Smita DubeyNovember 18, 20201min


 

नई दिल्ली :  अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान में लादेन को मारने का पूरा प्लान तैयार किया गया था। और ऑपरेशन होते ही जरदारी को फोन भी किया गया था। दरअसल ओबामा की आत्मकथा- ‘अ प्रॉमस्ड लैंड’ में उन्होंने कई रहस्यमय घटना का जिक्र किया है, जिसकी वजह से इन दिनों वो काफी सुर्खियों में हैं।

 

इस किताब में बराक ओबामा ने वैश्विक राजनिति से लेकर सामरिक राजतनीति तक के रहस्यों से पर्दा उठाया हैं। उन्होंने बताया कि कैसे दुनिया के खूंखार आंतकी और अलकायदा के सरगना ओसामा बिन लादेन के बारे में सूचना मिलने के बाद किस तरह पाकिस्तान के एबोटाबाद में उसके खात्मा का पूरा प्लान था, और कैसे उनके सहयोगी इसको लेकर तैयार नहीं थे।

 

 

बराक ओबामा को अमेरिका के राष्ट्रपति होने के नाते उस वक्त ऑपरेशन से जुड़ी सारी जानकारी होती थी।  जो उन्होंने अपनी किताब में बताई है। उन्होंने कहा कि जब ओसामा बिन लादेन के पाकिस्तान में छिपे होने की जानकारी मिली, तब उसे मारने के लिए जो ऑपरेशन बनाया गया था, उसमें जान-बूझकर पाकिस्तानी एजेंसियों को शामिल नहीं किया गया।

 

क्योंकि कई पाकिस्तानी सैन्य अधिकारी और आईएसआई के ऑफिसर तालिबान और अलकायदा के लोगों से मिले हुए थे। इस किताब में आगे लिखा है कि उस वक्त जब ओसामा बिन लादेन को एबटाबाद में मारने का प्लान बनाया गया था, तो उनके रक्षामंत्री रॉबर्ट गेट्स और तत्कालीन राष्ट्रपति जो बाइडेन इस पूरे ऑपरेशन के खिलाफ थे।

 

ओबामा ने लिखा है कि आखिर में प्रशासन दो विकल्प पर विचार कर रहा था, पहला यह कि जहां ओसामा छिपा है, उस जगह को एयर स्ट्राइक कर उड़ा दिया जाए, या फिर दूसरा यह कि एक खास ऑपरेशन की इजाजत दी जाए। जिससे चुनिंदा टीम हेलीकॉप्टरसे चुपके से पाकिस्तान में जाकर इस ऑपरेशन को अंजाम दे सकें।

 

पाकिस्तानी सरकार और उसके सुरक्षाबलों को पता चलने से पहले ही वहां से निकल ले।ओबामा प्रशासन ने काफी मंथन के बाद दूसरे विकल्प की इजाजत दी थी. वे आगे लिखते हैं कि ओसामा बिन लादेन को मारे जाने के बाद उन्होंने कई देशों के प्रमुखों को कॉल किया था, जिनमें सबसे मुश्किल था पाकिस्तान के तत्कालानी राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को फोन कर उन्हें इस बारे में बताना.


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories