ताज़ा ख़बर
EXCLUSIVE: कहीं विवाह योग्य युवक-युवतियां फिर न रह जाएं कुंवारे, दिसंबर में महज 5 ही शुभ मुहूर्तBIG BREAKING : एक साथ 4 स्टार्स कोरोना पॉजिटिव.. वरुण, कियारा, नीतू और अनील कपूर हुए संक्रमित, शूटिंग पर ब्रेकप्रदेश के इस जिले में बनेंगे 568 करोड़ के 64 रोड, CM बघेल आज 792 करोड़ के विकासकार्यों की देंगे सौगातकोरोना योद्धाओं पर लाठियां बरसाती CM शिवराज की पुलिस, जरूरत पूरी तो भूली सरकार! जानें पूरा मामलाकिसान आंदोलन का आज 9वां दिन, केंद्र बोला- MSP रहेगी, किसान बोले- मुद्दा कानूनों का हैराशिफल : मीन राशि वालों को मिलेगा जीवनसाथी का सहयोग, आत्मविश्वास में रहेगी कमीसावधान: रायपुर में अब ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों की खैर नहीं, इस तारीख से शुरू हो रही है चलानी कार्यवाई, जारी किया आदेशCORONA BREAKING : छत्तीसगढ़ में आज 1555 नए कोरोना संक्रमितों की पुष्टि, 17 लोगों ने तोड़ा दम, देखें मेडिकल बु​लेटिनBIG BREAKING : कलेक्टर की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव, प्रशासनिक अमले में मचा हड़कंपराज्य सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को दिया बड़ा तोहफा, DA में तीन फीसदी बढ़ोतरी का ऐलान

बड़ी खबर : फेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी हेड आंखी दास ने कंपनी छोड़ी, पक्षपात के लगे थे आरोप

Som dewanganOctober 27, 20201min


 

नई दिल्ली : सोशल मीडिया फेसबुक कंपनी की नीतिगत प्रमुख अंखी दास ने पद से इ​स्तीफा दे दी है। वह सोशल मीडिया मंच पर नफरत फैलाने वाली टिप्पणियों को लेकर पाबंदी लगाने के मामले में कथित पक्षपात करने को लेकर चर्चा में थीं। फेसबुक ने इसकी जानकारी दी है। हाल ही में अंखी दास डाटा सुरक्षा विधेयक 2019 पर संसद की संयुक्त समिति के सामने पेश हुई थीं। इस समिति की अध्यक्षता बीजेपी सांसद मिनाक्षी लेखी कर रही हैं।

 

बीते दिनों में फेसबुक पर हेट स्पीच को बढ़ावा देने और राजनीतिक झुकाव के आरोप लगे। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक अमेरिकी अखबार के रिपोर्ट का हवाला देते हुए ट्वीट किया था कि किस तरह से भारत में फेसबुक हेट स्पीच के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहा है। राहुल गांधी के आरोपों के बाद इस मुद्दे बीजेपी और कांग्रेस आमने सामने हो गए थे।

 

इन आरोपों पर फेसबुक ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी थी और कहा था कि वे हेट स्पीच के मामले में कार्रवाई को लेकर सजग है। फेसबुक ने कहा था कि अपनी पॉलिसी के हिसाब से किसी भी पार्टी या धर्म को नहीं देखता है और निष्पक्षता के साथ काम करता है।

 

23 अक्टूबर को अंखी दास से हुए थे सवाल-जवाब


 

23 अक्टूबर को फेसबुक की पॉलिसी प्रमुख अंखी दास बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी की अध्यक्षता वाली डाटा सुरक्षा विधेयक 2019 पर संसद की संयुक्त समिति के सामने पेश हुई थीं। सूत्रों ने बताया कि समिति के सदस्यों ने उनसे दो घंटे तक कई तरह सवाल किए। बैठक के दौरान एक सदस्य ने कहा कि सोशल मीडिया कंपनी को अपने विज्ञापनदाताओं के वाणिज्यिक फायदे के लिए या चुनावी मकसद से अपने उपभोक्ताओं के डाटा में सेंध नहीं लगाने देनी चाहिए।

 

सूत्रों ने बताया था कि सांसदों ने भारत से फेसबुक को होने वाली आमदनी और डाटा सुरक्षा के लिए राजस्व का कितना हिस्सा खर्च किया जाता है, इस बारे में जााना चाहा। उपयोक्ताओं के हिसाब से भारत फेसबुक का सबसे बड़े बाजार में शामिल है। उन्होंने बताया कि समिति ने यह भी जानना चाहा कि सोशल मीडिया कंपनी भारत में कितना कर अदा करती है। बैठक के दौरान उन आरोपों पर भी चिंता व्यक्त की गयी कि अमेरिका में सोशल मीडिया कंपनी के अधिकतर कर्मचारी देश के किसी खास राजनीतिक दल के प्रति झुकाव रखते है।

 

सोशल मीडिया साइट के कथित दुरुपयोग पर पिछले महीने फेसबुक इंडिया के प्रमुख अजित मोहन कांग्रेस नेता शशि थरूर की अध्यक्षता वाली सूचना और प्रौद्योगिकी पर संसद की स्थायी समिति के सामने पेश हुए थे।


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

CALL US ANYTIME



Latest posts


Categories